अभिव्यक्ति
 
 

संपादकीय

कब धकेला जाएगा शिक्षक बने इन आतंकियों को सीखचों के पीछे?

ये शिक्षक बच्चों को नहीं मार रहे हैं। बर्बरता से देश को मार रहे हैं।
 

असंभव के विरुद्ध: पैसे अच्छे होते हैं या बुरे?

‘आर्थिक छुआछूत’ एक अछूता जुमला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाए हैं।

अधिक पारदर्शिता की जरूरत

यह सचमुच दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश के गृह मंत्री को लेकर कई दिनों तक अफवाहों का बाजार गर्म...

जन-धन योजना एक नई शुरुआत

सत्ता में आने के बाद अपनी सबसे महत्वाकांक्षी और दूरगामी लक्ष्य वाली योजना नरेंद्र मोदी...

शैक्षिक स्वायत्तता से न खेले यूजीसी

उसने काकोडकर समिति की इस सिफारिश की अनदेखी कर दी है कि उत्कृष्ट शैक्षिक संस्थानों को...

भाजपा के लिए चुनावी निराशा

चार राज्यों की 18 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे निर्विवाद रूप से भारतीय जनता पार्टी...
 
 
 
 
विज्ञापन
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 

जीवन मंत्र

 

स्पोर्ट्स

 

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें