संपादकीय

Home >> Abhivyakti >> Editorial
  • इन चार पड़ावों से गुजरती है ध्येय प्राप्ति की हमारी यात्रा
    हमारे जीवन और आध्यात्मिक लक्ष्य तक हमारी यात्रा चार पड़ावों से गुजरती है। जो प्राप्त करना है उसके माहौल में रहना, उसमें प्रगति करते हुए आनंद लेना, फिर उसमें इतना डूब जाना कि चारों तरफ वही लक्ष्य नज़र आने लगे और आखिर में लक्ष्य के साथ एक हो जाना। इस तरह ध्येय के साथ एकाकार हो जाना जिंदगी का अंतिम उद्देश्य है। सालोक्यम, सामीप्यम, सारूप्यम, सायुज्यम। संस्कृत भाषा के ये चार शब्द जीवन की यात्रा के चार पड़ाव हैं। जीवन में आपका लक्ष्य चाहे व्यापारिक, सामाजिक, पारिवारिक अथवा आध्यात्मिक हो, इन...
    January 23, 03:45 AM
  • जबरदस्त समर्थन और विरोध के बीच शपथ लेने वाले डोनाल्ड ट्रम्प के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के साथ न तो भारत के भावुक राष्ट्रवादियों की तर्ज पर बहुत उत्साहित होने और न ही बराक ओबामा की चेतावनियों के मद्देनजर वामपंथियों की तरह निराश होने की जरूरत है। पिछले ढाई दशक में भारत ने धीरे-धीरे अमेरिका से संबंधों को सुधारा है और आज वह शीत युद्ध के दौर के मुकाबले मजबूत और भरोसेमंद धरातल पर खड़ा है। रक्षा क्षेत्र से लेकर अन्य व्यापारिक क्षेत्रों में दोनों देश एक-दूसरे के काफी निकट आ चुके हैं और...
    January 21, 06:39 AM
  • हैरानी की बात है कि जब सरकार नोटबंदी के माध्यम से कालेधन के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई कर रही हो, उस समय रिश्वत दिए जाने पर चुनाव रद्द करने के लिए कानून पास करने का चुनाव आयोग का प्रस्ताव कानून मंत्रालय रद्द कर देता है। इसलिए अगर आयोग ने सरकार से उस प्रस्ताव पर दोबारा विचार करने का अनुरोध किया है तो यह उचित ही है। नोटबंदी के ठीक 10 दिन बाद सरकार ने उस प्रस्ताव को रद्द करके यह जता दिया कि वह या तो और मोर्चे नहीं खोलना चाहती या फिर चुनाव सुधार के लिए अन्य पार्टियों की भी राय लेना चाहती है। आयोग की दलील है...
    January 20, 04:18 AM
  • सलमान को संदेह का लाभ पर कानून की संदेह-मुक्ति जरूरी
    फिल्म स्टार सलमान खान फिर संदेह का लाभ लेकर जोधपुर की अदालत से आर्म्स एक्ट के आरोप से मुक्त हो गए हैं और इस तरह कानून और अभियोजन पक्ष को संदेह के घेरे में खड़ा कर दिया है। इससे पहले सलमान को चिंकारा मारने के आरोप से राजस्थान हाईकोर्ट बरी कर चुका है और पिछले साल मार्च के महीने में हिट-एंड-रन के एक मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनकी पांच साल की सजा को खारिज कर उन्हें दोषमुक्त कर दिया था। जाहिर है सलमान के सितारे बुलंद हैं। यहां उनके वकील हस्तीमल सारस्वत का वह बयान भी उल्लेखनीय है, जिसमें उन्होंने...
    January 19, 04:02 AM
  • कट्टरता के कोहरे में पाकिस्तान ही नहीं भारत भी घिरता जा रहा है और इसका ताजा प्रमाण है दंगल फिल्म की अभिनेत्री जायरा वसीम द्वारा फेसबुक और इंस्ट्राग्राम पर अपनी कला की बढ़ती प्रशंसा के लिए माफी मांगना। यह अच्छी बात है कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से लेकर आमिर खान, जावेद अख्तर और अनुपम खेर जैसी फिल्मी हस्तियों ने जायरा के पक्ष में बयान दिया है और उसे हर तरह का समर्थन देने का भरोसा दिलाया है लेकिन, 16 साल की लड़की को अच्छे काम के लिए माफी मंगवाना न तो इस्लाम के बड़प्पन का...
    January 18, 07:08 AM
  • भाषा दमन का नहीं, अवसरों का माध्यम
    सरकारी पत्र-व्यवहार और सोशल मीडिया में सरकार द्वारा हिंदी का इस्तेमाल करने के मुद्दे से हमारे देश के दो आवश्यक सच उजागर हुए हैं। एक तो यह कि कट्टर हिंदी समर्थक चाहे जो कहें, भारत में हमारे पास एक राष्ट्रीय भाषा नहीं है बल्कि कई भाषाएं हैं। दूसरा यह कि इन अतिउत्साहियों में ऐसी लड़ाई भड़काने की दुर्भाग्यपूर्ण प्रवृत्ति है, जो वे हार जाएंगे- वह भी ऐसे वक्त जब वे चुपचाप युद्ध जीत रहे थे। हिंदी हमारी लगभग 50 फीसदी आबादी की मातृभाषा (हालांकि, इस आंकड़ें से उन लोगों को अलग नहीं किया गया है जो गढ़वाली या...
    January 17, 07:19 AM
  • पंजाब चुनाव के ऐन मौके पर अगर क्रिकेटर और मोटिवेटर नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए हैं तो जाहिर है कि कांग्रेस की बयार सही दिशा में बह रही है। सिद्धू भाजपा पहले ही छोड़ चुके थे और किसी दूसरी पार्टी की तलाश में थे, जिसमें आम आदमी पार्टी की चर्चा सर्वाधिक थी। अगर उन्होंने कांग्रेस पार्टी का दामन थामा है तो वजह यह तो है ही कि आप से उनकी बात नहीं बनी लेकिन, कांग्रेस में भी उनकी बात पूरी तरह बन गई है यह स्पष्ट नहीं है। सिद्धू की राजनीतिक महत्वाकांक्षा बड़ी है। वे राज्य के...
    January 17, 07:09 AM
  • पिता ने कहा बेटा काम का नहीं, फिर कुछ बना तो मिली खुशी
    हरियाणा हांसी के रहने वाले मेरे पिता रामसिंह सैनी सेल्स टैक्स में इंस्पेक्टर थे। वे मुझे हमेशा उलाहना देते थे, औलाद काम की नहीं निकली। उन्हें लगता था कि मैं कोई आईएएस या इंजीनियर नहीं बन सका, क्योंकि मुझे हॉस्पिटलिटी और फूड सेफ्टी में रुचि थी। मैंने हॉस्पिटलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन में बीएसएसी किया। फिर फूड सेफ्टी एंड क्वालिटी मैनेजमेंट में पीजी डिप्लोमा किया। टूरिज्म मैनेजमेंट में मास्टर्स किया, फाइनेंस मैनेजमेंट में एमबीए किया, लेकिन पिताजी कभी खुश नहीं हुए। मेरे दादा चौधरी...
    January 16, 07:16 AM
  • खादी ग्रामोद्योग आयोग के कैलेंडर और डायरी पर महात्मा गांधी की जगह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर चौंकाती है। मोदी कुछ समय से खादी के प्रचार पर जोर दे रहे थे और भले ही यह उनके निर्देश पर न हुआ हो लेकिन, उस प्रचार की कीमत वसूल ली गई है। गांधी ने इस देश के ग्रामीण प्रतीकों में स्वाधीनता की ऊर्जा भरी और उनसे सर्वशक्तिमान अंग्रेजी राज के विरुद्ध जनता को जाग्रत किया था। यहां गांधी के प्रतीकों में नया अर्थ भरा जा रहा है। गांधी अगर आधी धोती पहनकर चरखा चलाते थे और उनसे ब्रिटिश साम्राज्य हिलता...
    January 14, 04:31 AM
  • कल्पेश याग्निक का कॉलम: भाषण, भाग्य, भावुकता और  भर्राये गले से नहीं आएगी डिजिटल  इकोनॉमी- ये 5 उपाय होंगे कारगर
    साल भर में 100 करोड़ लोग 75% तक हो सकते हैं कैशलेस- बशर्ते अब पुराने नोट, बिच्छू जैसे डरावने लगते हैं - नए नोट, सपोलों जैसे संदिग्ध।- अज्ञात भाषणों से नहीं आएगी डिजिटल इकोनॉमी। न ही भाग्य से। कि अाजमाइये। नीति आयोग की लॉटरी। जैकपॉट खुल गया तो एक करोड़ रु. मिलेंगे। बिल्कुल नहीं। न ही भर्राए गले से। न ही भावुक होने से। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इतना कुछ करने की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी। नोटबंदी, अत्यधिक साहसपूर्ण निर्णय था। और उस पर बने रहने का निर्णय, हठपूर्ण साहस है। किन्तु विराट प्रभाव डालने...
    January 14, 04:12 AM
  • आईएनएस खंडेरी के लॉन्च के साथ ही देश की समुद्री ताकत में इजाफा होना तय है। पनडुब्बियों के क्रम में दो साल के भीतर और एनडीए सरकार के कार्यकाल में लॉन्च की जाने वाली यह दूसरी पनडुब्बी है। इससे पहले 2015 में आईएनएस कलवरी लॉन्च की गई थी, जिसका ट्रायल चल रहा है। स्कार्पीन श्रेणी की खंडेरी पनडुब्बी बहुउद्देश्यीय है और यह न सिर्फ दुनिया के किसी भी हिस्से में तैनात की जा सकती है बल्कि ट्यूब से युद्धपोत विरोधी मिसाइल व तारपीडो दाग सकती है। डीज़ल व बिजली से चलने वाली यह पनडुब्बी समुद्र के भीतर बारूदी...
    January 13, 04:34 AM
  • राजनीति में नारों का बड़ा महत्व होता है और हमारे लोकतंत्र में विपक्ष के लिए यह एक सकारात्मक संकेत है कि कांग्रेस ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों को लक्ष्य करते हुए मोदी सरकार के विरुद्ध कोई नारा गढ़ने की कोशिश की है। राहुल गांधी ने कांग्रेस के जनवेदना सम्मेलन के माध्यम से मोदी सरकार पर हमला भी बोला है और जनता से अपने भावुक तार जोड़ने की कोशिश भी की है। देखना यह है कि मोदी के लच्छेदार भाषणों के आगे राहुल गांधी का जादू कितना चल पाता है। रोचक यह है कि कांग्रेस ने इस सम्मेलन में ढाई साल में...
    January 12, 05:20 AM
  • सीमा सुरक्षा बल के अफसरों ने कश्मीर में तैनात 29वीं बटालियन के जवान तेज बहादुर यादव पर ही दारूबाजी और ड्यूटी में लापरवाही का आरोप लगाकर उसे कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है लेकिन, अब रसोई में भ्रष्टाचार संबंधी उसकी शिकायत गृहमंत्री तक पहुंच चुकी है इसलिए उम्मीद है कि इस मामले में उचित कार्रवाई होगी। तेज बहादुर ने रविवार को फेसबुक पर कुछ वीडियो पोस्ट किए, जिसमें उसने बीएसएफ की रसोई में बना जला पराठा, चाय और सिर्फ हल्दी और नमक मिली दाल दिखाकर यह कहा है कि जवानों को न ठीक से नाश्ता मिलता है और न...
    January 11, 04:45 AM
  • नोटबंदी पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की चेतावनी सही साबित हो रही है। भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट के अनुसार महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत रोजाना रोजगार की मांग में 60 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ऐसा शहरों में औद्योगिक इकाइयों के बंद होने या उनमें काम घटने के कारण मजदूरों के उल्टे पलायन के चलते हुआ है। इसकी पुष्टि करते हुए ऑल इंडिया मैनुफैक्चरर्स आर्गनाइजेशन का अध्ययन कहता है कि नोटबंदी के बाद 50 प्रतिशत राजस्व की हानि हुई है और 35 प्रतिशत...
    January 10, 04:34 AM
  • अपनी खामियां स्वीकारें तब ही ईश्वर हमारी जिम्मेदारी लेते हैं
    हर घर में आईना होता ही है,भले ही पोर्ट्रेट न हो, क्योंकि पोर्ट्रेट हमेशा पुराने दौर में ले जाता है। जब वह बना था, जिसका है उसकी बातें। किंतु आईना हमेशा वर्तमान बताता है। हम इसमें खुद को देखकर खुश होते हैं लेकिन, कोई कहे कि खुद को तो देख लीजिए, तो हमें गुस्सा आता है। कोई भी अपनी कमजोरियां नहीं देखना चाहता है। हमारे पास हमेशा दूसरों को देखने की दृष्टि रहती है। दूसरे की कमियां हमें बहुत जल्दी दिखती है। दूसरे की ओर लगातार देखते रहते हैं तो हम अपनी कमियां भूलने लगते हैं। हम कभी खुद को आईना दिखाने की...
    January 9, 05:36 AM
  • दिल्ली में शुक्रवार को शुरू हुई भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के हर फैसले पर मुहर लगाए जाने की ही उम्मीद है। भाजपा भले सर्वाधिक लोकतांत्रिक संगठन होने का दावा करे लेकिन, इस लोकतांत्रिक मोर्चे पर उसकी स्थिति कांग्रेस से भी कमजोर है। बल्कि कांग्रेस में लोग उपाध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध स्वर उठा भी देते हैं लेकिन, भाजपा में अब ऐसी स्थिति नहीं रही। शायद ही भाजपा का कोई पदाधिकारी खुलेआम यह कह सके कि नोटबंदी के फैसले से आम जनता को परेशानी हुई है,...
    January 7, 05:04 AM
  • कल्पेश याग्निक का कॉलम: तुम मेरे लिए रोना बंद करो, क्योंकि जब मैं लुट रही थी - तुम भी वहीं-कहीं थे... दूर!
    क्या कहती हो ठहरो नारी! संकल्प अश्रु-जल-से-अपने। तुम दान कर चुकी पहले ही, जीवन के सोने से सपने। - नारी तुम केवल श्रद्धा हो, जयशंकर प्रसाद मैं एक लड़की हूं। टूटना मेरी नियति है। नहीं मानूंगी, तो तोड़ दी जाऊंगी। नहीं, मुझ पर रोना मत। मेरे लिए आंसू व्यर्थ न करना। आज मैं बेंगलुरू की उस भीड़ में दरिंदों के पंजों से नोची गई। तो तुम रोए। कल मैं मुम्बई के उस उत्सव में सड़कों पर घसीटी गई थी। तब तुम चीखे थे। उसी मुम्बई में, जहां मेरे शरीर को छलनी-छलनी कर मेरी आत्मा को झंझोड़ दिया गया था। और मुझे न ज़िंदगी मिली, न...
    January 7, 04:59 AM
  • राज्यों के चुनाव में नोटबंदी सहित कई मुद्‌दों का फैसला
    पांच राज्यों के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा हो गई है। इन पांच राज्यों में पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर भी है, लेकिन नज़रें उत्तरप्रदेश पर रहेंगी, क्योंकि इससे 20 करोड़ की आबादी प्रभावित होगी। फिर यह सत्तारूढ़ यादव परिवार और समाजवादी पार्टी में विभाजन के कारण भी चर्चित रहा है। उत्तर प्रदेश इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि वहां चुनाव परिणाम उन सब वजहों से प्रभावित होते रहे हैं, जो हमारी लोकतांत्रिक प्रणाली की खामियां रही हैं। जाति, धर्म, संप्रदाय, क्षेत्रीयता आदि अनेक तत्व नतीजे को प्रभावित करते...
    January 6, 06:49 AM
  • भारतीय लोकतंत्र पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों और आम बजट के बीच फंस गया है। जहां सत्तारूढ़ भाजपा ने 28 फरवरी को पेश होने वाले आम बजट की परंपरा बदलते हुए उसे 1 फरवरी को पेश करने का संकल्प किया है, वहीं विपक्षी दलों की मांग है कि विधानसभा चुनावों की तारीख देखते हुए उसे मुल्तवी कर देना चाहिए। वजह साफ है कि नोटबंदी के बाद यह मोदी सरकार का बहुप्रतीक्षित बजट है, जिसमें सरकार जनता के लिए तमाम राहतों का एलान कर सकती है, जिनसे नोटबंदी से दुखी जनता की राय बदल सकती है। केंद्र सरकार यही चाहती भी है कि जनता...
    January 6, 06:03 AM
  • सुप्रीम कोर्ट ने 21 साल बाद एक बार फिर भारतीय राजनीति के चुनावी मुद्दों की आचार संहिता तय करते हुए ऐतिहासिक फैसला दिया है लेकिन, सवाल यह है कि क्या यह फैसला दिशा-निर्देश की तरह काम करेगा या फिर व्यवहार में इसे कानूनी तौर पर लागू किया जा सकेगा? अदालत ने कहा है कि चुनाव में कोई भी उम्मीदवार, उसका एजेंट या उम्मीदवार की तरफ से कोई और व्यक्ति मतदाता के धर्म, जाति, नस्ल और भाषा का हवाला देकर न वोट मांग सकता है न किसी को वोट देने से रोका जा सकता है। यह देश को चुनावी राजनीति की संकीर्ण गलियों से निकालकर...
    January 4, 03:05 AM