संपादकीय

Home >> Abhivyakti >> Editorial
  • रिलायंस जियो पर ग्राहकों के डेटा अमेरिकी और सिंगापुर की कंपनियों को विज्ञापन के लिए बेचने के एक अनजान हैकर के आरोप पर तुरंत यकीन भले न किया जाए, लेकिन इससे लोगों के कान जरूर खड़े हो गए हैं। वे जियो की वेबसाइट पर सक्रिय भी हो गए हैं और जिनमें हैकिंग की क्षमता है वे आगे की तहकीकात भी कर रहे हैं। हालांकि, जांच कर पाना न तो सामान्य व्यक्ति के लिए संभव है और न ही सामान्य व्यक्ति अपने डेटा को लेकर बहुत चिंतित है। संभव है कि ऐसे आरोप रिलायंस जियो के 4जी नेटवर्क के ऑफर और उसकी लोकप्रियता से चिढ़कर लगाए जा...
    04:49 AM
  • उड़ी में आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समर्थक सलाहकारों के बीच द्वंद्वात्मक रिश्ता बन गया है। यही वजह है एक तरफ प्रधानमंत्री अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से पाकिस्तान से सकारात्मक प्रतिस्पर्द्धा की बात करते हैं तो वे लोग पाक पर चढ़ाई की रट लगाते हैं। इसी द्वंद्व का नतीजा है पाक के साथ हुआ सिंधु जल समझौता रद्द करने का आंतरिक दबाव। चूंकि युद्ध संभव नहीं है, इसलिए पाकिस्तान को किसी न किसी रूप में नुकसान पहुंचाने की तरकीब ढूंढ़ी जा रही है और उसमें सिंधु जल प्रणाली की पश्चिमी...
    September 27, 04:02 AM
  • हम किसी के शब्दों से आहत क्यों होते हैं?
    हम खुद को केंद्र में रखकर दुनिया की घटनाओं और उस पर लोगों की प्रतिक्रिया का आकलन करते हैं। इससे हम खुद के अलावा दूसरों से उलझ जाते हैं। अर्जुन भी तब तक विषाद में था, जब तक उसने खुद को श्रीकृष्ण को अर्पण नहीं कर दिया। तब केंद्र में कृष्ण ही कृष्ण ही थे और इस प्रकार उसका सारा विषाद तत्काल दूर हो गया। हम हमेशा खुद को हर चीज के केंद्र में मानने लग जाते हैं और उलझन में पड़ जाते हैं। स्वयं को किसी घटना के केंद्र में देखना स्वाभाविक है। किंतु दुनियाभर की आंखें आपको ही देख रही हैं, ऐसा सोचना बहुत सिरदर्द...
    September 26, 04:54 AM
  • कल्पेश याग्निक का कॉलम : हे मेरे सैनिक- आओ, लहू का भीगा हुआ हाथ मुझसे मिलाओ
    मानव जाति का सर्वाधिक संहारक हथियार है - एक सैनिक का हृदय। - अज्ञात हे मेरे सैनिक, तुम्हें छल से छलनी-छलनी कर दिया गया - और मैं कुछ न कर सका। तुम्हारी मृत्यु का मुझे कोई दु:ख नहीं है। वह तो वीरगति है। उस पर तो तुम्हारे परिवार के समान ही मुझे गर्व है। किन्तु मेरा क्रोध इस पर है कि तुम्हें षड्यंत्र से मृत्यु का ग्रास बनाने वाले, चंद भाड़े पर यह पाप करने आए थे। मेरा सिर इसलिए झुक गया है कि पड़ोस का देश तुम्हें वीरता में मात न कर सका - तो कायरता का कलंक उछाल गया। मेरी पीड़ा यह है कि तुम शौर्य की अग्नि में...
    September 24, 04:16 AM
  • भारत सरकार के वित्त मंत्रालय ने अर्थव्यवस्था की अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडी के आकलन को चुनौती देकर विरोध तो दर्ज करा दिया है, लेकिन मूडी के मूल्यांकन की दुनिया में जो साख है उससे एजेंसी की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। यही वजह है कि जहां सरकार कह रही है कि उसे रेटिंग एजेंसी की कार्यपद्धति पर विश्वास नहीं है, वहीं एजेंसी ने कहा है कि उसने भारत को स्थिर से सकारात्मक श्रेणी में डाला है और अगर उसके सुधार स्थायी रहे तो वह साल-दो साल बाद रेटिंग में सुधार करेगी। एजेंसी सरकार की इस बात पर ध्यान...
    September 24, 03:58 AM
  • पहले गुजरात फिर हरियाणा और अब महाराष्ट्र में उभरे शासक वर्ग के आंदोलन ने जहां राज्य सरकार की नींद हराम कर दी है वहीं भारतीय लोकतंत्र की तमाम अवधारणाओं पर प्रश्न-चिह्न खड़ा कर दिया है। अगर गुजरात में पटेलों ने आरक्षण के लिए राज्य सरकार की चूलें हिला दीं तो हरियाणा में जाटों ने पूरे राज्य को युद्ध क्षेत्र में बदल दिया था। अब वही स्थिति महाराष्ट्र में है। यह जानते हुए कि मराठों ने जो मांगें की हैं उसमें सिर्फ कोपर्डी दुष्कर्म कांड पर कार्रवाई करने के अलावा कोई और मांग मानना असंभव है, कांग्रेस,...
    September 23, 03:13 AM
  • निश्चित तौर पर अंग्रेजों के जमाने की अकवर्थ कमेटी के सुझाव और जापान की नकल पर 1924 में शुरू हुई अलग रेल बजट की परंपरा को 92 साल बीत चुके हैं और अगर उसे बदला जाता है तो हायतौबा की जरूरत नहीं है। चिंता वे ही ज्यादा कर रहे हैं, जिनका भावनात्मक लगाव रेलवे की अस्मिता से है। वह अस्मिता रेलवे बोर्ड से जुड़ी हो सकती है, रेलवे की ट्रेड यूनियन या उसकी राजनीति से जुड़ी हो सकती है। अलग रेल बजट पेश करने की परंपरा खत्म करने की बात करने वाली विवेक देबराय समिति की दलील यही थी कि इससे रेल से जुड़ी लोक-लुभावन राजनीति खत्म...
    September 22, 03:26 AM
  • पाकिस्तान ने जितनी तेजी से संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर के मुद्दे को उठाने की तैयारी की है और सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों से इसके समाधान की कोशिश करने की अपील की है, उससे लगता है कि या तो घाटी में ताज़ा विरोध प्रदर्शन और उड़ी में आतंकी हमला किसी व्यापक योजना का हिस्सा हैं या ये एक-दूसरे से जुड़कर योजना का निर्माण करते जा रहे हैं। पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ बुधवार को निश्चित तौर पर घाटी के मौजूदा आंदोलन और भारत की चेतावनी को संयुक्त राष्ट्र में ऐसे उठाने जा रहे हैं कि कश्मीर समस्या हल...
    September 21, 02:49 AM
  • कश्मीर के उड़ी क्षेत्र में सैनिक शिविर पर आतंकी हमले ने भारत और पाकिस्तान के लगातार बिगड़ते संबंधों को ज्यादा खतरनाक दिशा में मोड़ दिया है। जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमला करने वालों को न छोड़ने का एलान किया है वहीं पाकिस्तान की तरफ से अस्तित्व का संकट आने पर परमाणु युद्ध की धमकी भी दी गई है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की भावना का प्रतिनिधित्व करते हुए राम माधव ने तो एक दांत के लिए पूरा जबड़ा उखाड़ लेने की सलाह दे डाली है। स्पष्ट है इस हमले के बाद दोनों देशों में वार्ता के समर्थक हाशिये पर...
    September 20, 02:13 AM
  • परंपरागत या आधुनिक से ज्यादा अहम कल्याणकारी
    परम्परा और आधुनिकता के बीच चुनाव का द्वंद्व हमारे वक्त की पहचान है। छद्म आधुनिकता और छद्म धार्मिकता के चलते अनियंत्रित भोग के लिए पैसे कमाने को ही हमने जीवन का सर्वोच्च मूल्य मान लिया है। हमें ऐसी संतुलित दृष्टि चाहिए जो अतिशय वैराग्य और अनियंत्रित भोग के बीच मार्ग बताए। हमारा समाज संक्रमण के जिस दौर से गुजर रहा है, उसमें हम परम्परा और आधुनिकता के बीच चुनाव के द्वंद्व में फंसे हैं। एक ओर पश्चिमी जीवनशैली का सम्मोहन है तो दूसरी ओर सांस्कृतिक अस्मिता का आग्रह है। अनिश्चय और अनिर्णय कई बार...
    September 19, 02:01 AM
  • इस बात पर किसे शक हो सकता है कि जिस देश में अधिक आर्थिक स्वतंत्रता होती है वह अपने प्राकृतिक संसाधनों के भीतर अधिक बड़ी आबादी को आजीविका मुहैया करा पाता है, जो मानव जीवन की मूलभूत आवश्यकता है। फिर चाहे जीवन-स्तर क्या और कैसा होना चाहिए, इसे लेकर भिन्न धारणाएं हो सकती हैं। भारत के प्रमुख विचार समूह सेंटर फॉर सिविल सोसायटी ने कनाडा के फ्रेज़र इंस्टीट्यूट के साथ दुनिया की आर्थिक स्वतंत्रता पर सालाना रिपोर्ट प्रकाशित की तो 159 देशों में भारत दस स्थान खिसककर 112वें स्थान पर पाया गया। भूटान और नेपाल हमसे...
    September 17, 03:11 AM
  • न्यायाधीशों की कमी से जूझ रहे सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को इस साल के अंत तक राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति की घोषणा करने का आदेश देकर यह जता दिया है कि अपने खराब स्वास्थ्य के बावजूद न्यायपालिका को देश की सेहत की चिंता है। नसबंदी के ऑपरेशनों में गड़बड़ियों के सिलसिले में दायर जनहित याचिका का निपटारा करते हुए अदालत ने नसबंदी ऑपरेशनों के बारे में विशेष सावधानी बरतने का आदेश देकर यह कहा है कि सिर्फ नसबंदी कराने वालों के आंकड़े नहीं बढ़ने चाहिए बल्कि स्त्री और पुरुषों का सम्मानपूर्वक इलाज होना चाहिए।...
    September 16, 04:08 AM
  • दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में डेंगू और चिकनगुनिया जैसे रोगों के फैलने की भौतिक और जलवायुगत वजह चाहे जो हो, लेकिन राजनीतिक वजह तो साफतौर पर आप और भाजपा की एक-दूसरे पर कीचड़ उछालने की राजनीति ही है। मोजांबिक में मच्छरों से शुरू हुई तेज बुखार और जोड़ों में तकलीफ पैदा करने की यह बीमारी दिल्ली में पांच लोगों की जान ले चुकी है और हजारों लोगों को बिस्तर पर पायमाल कर रखा है। ऐसे में लोगों की देखभाल और उपचार के उपाय करने की बजाय देश पर शासन करने वाली भाजपा और दिल्ली पर शासन करते हुए पूरे देश में...
    September 15, 03:31 AM
  • कई आपराधिक मामलों में दोषी साबित हो चुके बिहार के राजनेता शहाबुद्दीन ने जमानत मिलते ही जिस तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर व्यंग्य बाणों की वर्षा शुरू कर दी है वह राजद-जनता दल (यू) और कांग्रेस के महागठबंधन ही नहीं बिहार और देश की राजनीति के लिए भी चिंताजनक है। ऐसा बड़बोलापन लोकतांत्रिक संस्थाओं और राजनीतिक प्रणाली दोनों के लिए खतरा है। संभवतः नीतीश कुमार के शराबबंदी कार्यक्रम और उसके अखिल भारतीय प्रचार से राजद और उसके नेता लालू प्रसाद बहुत खुश नहीं हैं, लेकिन वे स्वयं कुछ बोलने की बजाय...
    September 14, 03:08 AM
  • कावेरी के जल पर कर्नाटक व तमिलनाडु के बीच सुप्रीम कोर्ट के संशोधित फैसले के बाद भी अगर विवाद कायम है तो यह हमारी क्षेत्रीय भावना का प्रभाव है जो या तो पड़ोसी राज्य को देश का हिस्सा नहीं मानती या फिर अपने हितों को देशहित से ऊपर रखती है। वरना जब सुप्रीम कोर्ट ने नया आदेश दे दिया कि कर्नाटक तमिलनाडु के लिए 15000 क्यूसेक पानी की बजाय 12000 क्यूजेक पानी छोड़ेगा तो कर्नाटक के लोगों का गुस्सा शांत हो जाना चाहिए था और तमिलनाडु के लोगों को भी कर्नाटक के व्यावसायियों के कार्यस्थलों पर हमले नहीं करने थे। इसके...
    September 13, 03:18 AM
  • यदि ईश्वर है तो फिर संसार में दु:ख क्यों?
    मानव जगत में सब कुछ वैसा नहीं है जैसा वांछनीय है। प्रतिदिन अखबार चीख-चीखकर मानव पीड़ाओं की दुहाई देता प्रतीत होता है। संसार की आबादी का शायद दस प्रतिशत हिस्सा भी यह नहीं कह सकता कि वह खुद को पूर्णतः संतुष्ट पाता है। सवाल उठता है कि संसार में इतना दुख क्यों है? संसार का स्वरूप आखिर वैसा क्यों है जैसा वह है? संसार में शायद ही कोई धर्म हो जो इस प्रश्न से जूझता न दिखाई पड़ता हो तथा दर्शन की शायद ही कोई विधा हो जो इस प्रश्न को किसी न किसी रूप में आत्मसात न करती हो। यदि भगवद गीता को देखें तो हम पाते हैं...
    September 12, 05:54 AM
  • कल्पेश याग्निक का कॉलम: राहुल को लोगों से जुड़ना हो तो मुखौटे हटाएं, पं. नेहरू को देखें- जो 4 माह में 1 करोड़ लोगों के बीच गए
    मरना कोई नहीं चाहता। जो स्वर्ग जाना चाहता है - वो भी नहीं। - स्टीव जॉब्स खाट की चर्चा चारों तरफ चल रही है। किन्तु वैसी नहीं, जैसी सोची गई थी। अर्थात् यह एक चौंका देने वाले आइडिया की तरह प्रस्तुत की गई थी। किन्तु विवादित हो गई। अन्य कारणों से। अब बताया जा रहा है कि यह एक विशेष रणनीति है। इसे एक अतिविशिष्ठ रणनीतिकार ने अपने चातुर्य से रचा है। बड़ा दुर्भाग्य है। और आश्चर्य भी। करोड़ों लोगों के बीच पीढ़ी-दर-पीढ़ी सत्ता, चुनाव, विपक्ष सभी की राजनीति में अतिसक्रिय कांग्रेस को अब बाहरी रणनीतिकारों की...
    September 10, 07:30 AM
  • कल्पेश याग्निक का कॉलम : मुफ़्त नहीं, मुक्त मोबाइल कॉल, डेटा चाहिए
    करोड़ों साइबर पाप इसलिए होने से रुक पाते हैं क्योंकि डेटा स्पीड नहीं मिलती। - ऑफ लाइन इंटरनेट से। यह सही है कि मुफ़्त आखिर मुफ़्त ही होता है। किन्तु, कुछ भी मुफ़्त नहीं होता। संभवत: हम पहले भी चर्चा कर चुके होंगे। फिर भी दोहराना प्रासंगिक होगा। नथिंग इज़ फ्री। सिर्फ़ हमें पता नहीं चलता। देश के सर्वाधिक धनी मुकेश अंबानी ने टेलीकॉम की दुनिया में बड़ा धमाका किया है। उन्होंने डेटागिरी का नया नारा देते हुए वाॅइस काॅलिंग पूरी तरह मुफ़्त करने की घोषणा से जबर्दस्त चौंकाया है। यूज़र्स के लिए यह बहुत अच्छी...
    September 10, 06:11 AM
  • बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) में रिश्वतखोरी की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचा कर कॉमेडी शो के कमाऊ कलाकार कपिल शर्मा ने जहां यह साबित किया है कि सोशल मीडिया के माध्यम से गड़बड़ियों को उजागर किया जा सकता है, वहीं इस बात का प्रमाण भी पेश किया है कि यूपीए की जगह पर एनडीए के आ जाने के बाद भी स्थितियों में ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है। कपिल शर्मा का पूरा मसला क्या है यह तो बीएमसी का पक्ष आने के बाद ही पता चलेगा, लेकिन इतना जरूर है कि मोदी सरकार और उसके मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस...
    September 10, 03:58 AM
  • अगर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम कर रही एनडीए सरकार ने यूपीए की लुक ईस्ट पॉलिसी को बदलकर एक्ट ईस्ट पॉलिसी किया है तो वह उनके भाषणों में दिखाई भी पड़ रहा है। प्रधानमंत्री ने लाओस में आसियान की बैठक में पाकिस्तान को आतंक का निर्यातक देश बताकर उस नीति की दृढ़ता को स्पष्ट किया है। यह पाकिस्तान और उसके जैसे आतंक को प्रश्रय देने वाले देश ही हैं, जो विश्व अर्थव्यवस्था के एकीकरण और किसी क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियां तेज करने में बाधा बने हुए हैं। भारत अगर पूर्वोत्तर को आसियान देशों से जोड़ना...
    September 9, 03:06 AM