अन्य

  • वे कन्नगी नहीं, सत्ता के शीर्ष पर पहुंची लौह महिला थीं
    जब अयीरथिल अोरूवान फिल्म में एमजी रामचंद्र के सामने उन्हें पेश किया गया तो वे सिर्फ 16 साल की थीं। वरिष्ठ अभिनेता जब भी सेट पर आते सारे लोग खड़े हो जाते, लेकिन उस कम उम्र में भी जयललिता अपनी जगह किताब पढ़ते हुए बैठी रहतीं। यही दुस्साहस उनके बाद के राजनीतिक कॅरिअर को परिभाषित करता है। सिर्फ एमजीआर से नज़दीकी ही उन्हें राजनीति में नहीं लाई, बल्कि किसी अर्थशास्त्री की बुद्धिमत्ता के साथ हिंदी व अंग्रेजी बोलने की महारत ने उन्हें इस योग्य बनाया। वे गौर वर्ण ब्राह्मण होने के साथ ऐसी पार्टी में थीं, जो...
    05:17 AM
  • अभिनेत्री से अम्मा, फिर महारानी में रूपांतरण
    यह बात साल 1994 की है। तब चेन्नई को मद्रास कहा जाता था। मुझे अपने एक रिश्तेदार की आंखों का इलाज कराने मद्रास के शंकर नेत्रालय जाना था। हम जहां ठहरे थे, वहां से हमारा सामान कहीं खो गया। उसमें पर्स भी था और पर्स में रुपए तथा पंद्रह दिन बाद वापसी की टिकटें भी। अजीब संकट था। एक अनजाना शहर, जहां न कोई हमारी बोली बोलता था न हम किसी को जानते थे। उस समय चेन्नई में किसी भी टैक्सी अथवा ऑटो को रोकते ही चालक कहता था, नो हिंदी नो इंग्लिश ओनली तमिल। ऐसे में हम कहां जाएं। बिना टिकट भी इतनी लंबी रेल यात्रा मुमकिन नहीं...
    05:11 AM
  • आवेग में फैसले लेने वाले प्रधानमंत्री साबित हुए मोदी
    नोटबंदी की मानक परिभाषा है, किसी नोट या सिक्के को पैसे के रूप में उसके दर्जे से वंचित कर दो। किंतु मोदी की नोटबंदी का असर यह हुआ कि सवा सौ करोड़ की आबादी अपने दो महत्वपूर्ण करेंसी नोटों से वंचित हो गई। वह भी रातोरात। गुरुवार को प्रधानमंत्री की उस घोषणा को चार हफ्ते हो जाएंगे, जिसने सबको चौंका दिया। भ्रष्टाचार, कर चोरी और फर्जी नोटों की समस्या से निपटना इसकी वजहें बताईं गईं। इस फैसले से कम आमदनी वाले और ग्रामीण परिवारों पर सबसे कड़ी मार पड़ी है। ऐसे में लगता यही है कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह कदम न...
    December 6, 07:01 AM
  • देशभक्ति और देशप्रेम में फर्क करने की जरूरत है
    द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद राष्ट्रवाद और बहुसंख्यावादी सिद्धांतों को लेकर पूरी दुनिया में एक हिचकिचाहट थी, क्योंकि जर्मनी ने दूसरा विश्वयुद्ध खोए हुए राष्ट्रगौरव की पुनःप्राप्ति के लिए छेड़ा था और उसकी कीमत पूरी दुनिया को चुकानी पड़ी थी। वर्ष 2008 की आर्थिक मंदी के बाद जब भूमंडलीकरण की आर्थिक नींव हिली तब आर्थिक निराशा के चलते राष्ट्रवाद ने उग्रता से विश्वस्तर पर राजनीतिक वापसी की है। इसकी झलक हमें अमेरिका के डोनाल्ड ट्रम्प से लेकर ग्रीस के गोल्डन डौन पार्टी के उदय में मिलती है। हमारा देश भी...
    December 3, 05:22 AM
  • हम कड़ा जवाब देंगे पर हमले भी हो सकते हैं
    कुछ हफ्तों पहले हमने यहां हाइब्रिड वॉर की चर्चा की थी। उसे याद करें तो यह लेख पढ़ना आसान और असरदार हो जाएगा। संक्षेप में बता दूं कि दुनिया के ज्यादातर आधुनिक युद्ध अब परम्परागत हथियारों व रणनीति तथा बलपूर्वक भौगोलिक क्षेत्र के कब्जे पर अाधारित नहीं होते। आज विभिन्न राष्ट्र कई किस्म के साधनों का इस्तेमाल करते हैं। आतंकवाद, राजनीतिक दांव-पेच, विचारधारा, मनोवैज्ञानिक कार्रवाई, मिथ्या प्रचार, साइबर टेक्नोलॉजी, वित्तीय नेटवर्क, मीडिया और न जाने कितने तरीकों का इस्तेमाल दीर्घकालीन युद्ध लड़ने...
    December 3, 05:15 AM
  • ‘जनरेशन मी’ को खुश करेंगे तो ही चमकेगा बिज़नेस
    अंडर 30-करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच ऑनलाइन गेम राइजिंग स्टॉर्म 2 : वियतनाम अमेरिका द्वारा वियतनाम में लड़े गए युद्ध पर आधारित है। इसमें प्लेयर साइड चुन सकता है कि वह अमेरिकी सेना में रहे या वियतनामी विद्रोही बन जाए। यही नहीं यूनीफॉर्म, हेडगीयर और चेहरे के हाव-भाव तक अपने हिसाब से तय हो सकते हैं। जैसे खेल में आगे बढ़ेंगे और फीचर आएंगे। इसे कहते हैं कस्टमाइजेशन। यह इस सहस्राब्दी में जन्मे लोगों का युग है यानी वे युवा जिनका जन्म मोटे तौर पर 1990 और 2000 के बीच हुआ, मिलेनिएल्स। जल्द ही देश...
    December 2, 07:39 AM
  • रिजर्व बैंक ही नहीं, ये संस्थाएं भी लेती हैं वित्तीय फैसले
    अंडर 30 - करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच मैं नोटबंदी की बात नहीं करूंगा, क्योंकि मुझे पता है कि पिछले दिनों में आप इस पर बहुत कुछ पढ़ चुके हैं। मैं भारत में मौजूद संस्थागत व्यवस्था और इतने व्यापक पैमाने के फैसलों के सुगम क्रियान्वयन को कैसे सुनिश्चित किया जा सकता है, इसकी बात करना चाहता हूं। हाल ही में मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) के आगमन के बाद बेंचमार्क पॉलिसी रेट यानी रेपो रेट तय करने का काम इसे सौंपा गया है। यानी उसे महंगाई पर निगाह रखने का दायित्व सौंपा गया है। यह दुनिया की अन्य...
    December 1, 05:21 AM
  • नोटबंदी को बचाकर ऐसे निकालें कालाधन
    नोटबंदी के तीन हफ्ते बाद आम आदमी की जिंदगी में तकलीफ, आर्थिक गतिविधियों में सुस्ती और कई क्षेत्रों में नौकरियां जाने की खबरें दिखने लगी हैं। अगली दो तिमाही में अर्थव्यवस्था दो प्रतिशत अंक से सिकुड़ जाएगी- राष्ट्रीय संपदा का यह बहुत बड़ा नुकसान है। लेकिन अब पीछे हटने की कोई गुंजाइश नहीं है। आइए, देखें कि नरेंद्र मोदी नोटबंदी को बचाकर कैसे कालेधन वाले भ्रष्टाचार के स्रोत खत्म कर सकते हैं। रफ्तार ही मूलभूत सार है। नई नकदी के लिए केवल अपने प्रिंटिंग प्रेस पर ही निर्भर मत रहिए। उन मित्र देशों की...
    December 1, 05:15 AM
  • ट्रेनों की रफ्तार की बजाय ग्रीन टेक्नोलॉजी पर जोर दें
    अंडर 30- करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच बर्लिन में पिछले दिनों हुए रेलवे इंडस्ट्री के सबसे बड़े ट्रेड फेयर में एल्सटॉम ने जीरो एमिशन वाली ट्रेन इनो ट्रान्स पेश की। यह हाइड्रोजन गैस से चलने वाली पहली ऐसी यात्री गाड़ी है, जिसमें से वातावरण में कोई ग्रीनहाउस गैस नहीं उत्सर्जित होगी। हाइड्रोजन फ्यूल सेल से चलने वाली इस ट्रेन से यदि कुछ निकलेगा तो वह होगी भांप और संघनित पानी, जबकि चलते समय यह बहुत कम शोर करेगी। एल्सटॉम ऐसी टेक्नोलॉजी से यात्री ट्रेन विकसित करने वाली दुनिया की पहली...
    November 30, 05:16 AM
  • क्या मोदी सबको साथ लेकर चल रहे हैं?
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार कार्यकाल का आधा सफर तय कर चुकी है तो यह सवाल अहम है कि वे ध्रुवीकरण करने वाले नेता हैं अथवा एकजुट करने वाले? क्या प्रधानमंत्री बांटने वाली शख्सियत हैं, जैसाकि 2014 के पूर्व का उनका अवतार बताता है? अथवा वे पिछले ढाई वर्षों में विभिन्न धर्मों व समुदायों के लोगों को एकसाथ भारतीयता के ऐसे साझे विज़न की ओर ले गए हैं, जो सभी को फायदा पहुंचाए? फैसला मिश्रित किस्म का है। सरकार को शायद अहसास हो कि वह समाज के बड़े तबके की आशंकाओं के बावजूद सत्ता में आई है। 69 फीसदी मतदाता सोचते...
    November 30, 05:10 AM
  • मौजूदा वक्त में कैशलेस इकोनॉमी दूर की कौड़ी
    अंडर 30- करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच कुशीनगर में नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली में हजारों की भीड़ अपने प्रधानमंत्री के दीदार के लिए सुबह से पैर जमाए खड़ी थी। यहां अपने पूरे भाषण में मोदी का फोकस कालेधन और नोटबंदी पर रहा। बुद्ध के क्षेत्र में मोदी के इस भाषण में बुद्धि और संयम, दोनों का प्रयोग किया गया। पीएम मोदी ने नोटबंदी के अपने फैसले को हर तरह से जायज बताया और उसके पक्ष में कई उदाहरण भी रखे। उन्होंने कहा कि रेलवे के टिकट लोग स्वयं ऑनलाइन ही बुक कर लेते हंै। ऐसे ही कैशलेस...
    November 29, 05:06 AM
  • टेक्नोलॉजी बदल देगी हमारे रोजगार का स्वरूप
    विश्व बैंक के मुताबिक आने वाले वर्षों में ऑटोमेशन से 69 फीसदी नौकरियां खतरे में होंगी। चीन में तो 77 फीसदी तक रोजगार घट सकता है। बैंक के अध्यक्ष जिम किम ने विकासशील देशों को आगाह किया है कि वे आधारभूत ढांचे में निवेश करते हुए भविष्य की आवश्यकताओं का ध्यान रखें। गौरतलब है कि अब तक हमारे सारे आविष्कार व इनोवेशन मुश्किल व समय-साध्य कामों को आसान बनाने और मानव को अपने विकास व आमोद-प्रमोद के लिए अधिक वक्त देने के लिए थे। किंतु पिछले कुछ दशकों में हुए आविष्कारों ने खुद मानव की आवश्यकता कम कर दी है।...
    November 28, 07:32 AM
  • मन के नियंत्रण से स्थापित होता है भावनात्मक संतुलन
    मन हमारे भीतरी विकास का सबसे बड़ा साधन है। इसके नियंत्रण से व्यक्ति के सभी भाव सम होने लगते हैं। स्व की अंतर्यात्रा चाहे मनुष्य के लिए रुचिकर न हो, लेकिन यह उसके लिए श्रेयस्कर मानी गई है। मन के अंतर्गत जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव मनुष्य के बौद्धिक और भावनात्मक पक्ष को प्रखर करते हैं। मनुष्य का सबसे प्रिय मित्र और अप्रिय शत्रु उसका मन है। मन में आश्रित आशाएं, आकांक्षाएं और उनकी प्राप्ति-अप्राप्ति संबंधी दृढ़ संकल्प व्यक्ति के क्रियात्मक जगत की रचना करता है। संकल्प पूरा होने से व्यक्ति...
    November 28, 07:27 AM
  • हमारे मुश्किल काम ही होते हैं ज्यादा प्रेरक
    मेरा मानना है कि जो चीज आपको मुश्किल लगती है, उसमें कठिनाई आती हैं, उससे आपको ज्यादा प्रेरणा मिलती है। जैसे अटैक! यदि कोई किसी को किसी काम से रोकने के लिए हमला करता है, तो कई बार उसका परिणाम उल्टा ही दिखाई पड़ता है। इसके विपरीत जिस पर अटैक होता है, उसे यह पता चलता है कि वह जो कर रहा है, उसकी देश को और लोगों को सख्त जरूरत है। मैं अकेले ही काम करती हूं। मुझे न तो कोई फंडिंग मिलती है, न ऑर्गनाजेशन है और न ही बड़ी संख्या में लोग। यदि कोई ध्वनि प्रदूषण या फिर पर्यावरण के क्षेत्र में कुछ करना चाहता है, तो मैं उसे...
    November 28, 07:23 AM
  • आईएनएस चेन्नई : रक्षा क्षेत्र में आत्म-निर्भरता का प्रतीक
    अंडर 30- करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच कवच प्रणाली से लैस देश का पहला युद्धपोत आईएनएस चेन्नई नौसेना में शामिल हो गया है और समुद्र की ओर से देश की सुरक्षा को मिलने वाली चुनौतियों से निपटने की नौसेना की ताकत और भी बढ़ गई है। मुंबई के मझगांव डाॅक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा बनाया गया यह सुपरसॉनिक पोत सतह से सतह पर लक्ष्य को भेदने वाली ब्रह्मोस मिसाइल से लैस है। यह कवच चैक डिकॉय प्रणाली से परिपूर्ण देश का पहला जंगी जहाज है। यह राडार को भी चकमा दे सकता है और दो हेलिकॉप्टर ले जाने में...
    November 26, 06:00 AM
  • राहील शरीफ की ऐसी विदाई का मकसद क्या?
    जब भारत करेंसी नोट बदलने में लगा है, पाकिस्तान शांति के साथ अपना सेनाध्यक्ष बदलने जा रहा है। वहां सेनाध्यक्ष को जैसी ताकत हासिल है, उसे देखते हुए यह बड़ी घटना है। निवृत्तमान सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ अपनी विदाई के पहले महत्वपूर्ण मुख्यालयों पर जाकर सैन्य अफसरों व सैनिकों को संबोधित कर रहे हैं। संभव है पाक फौज को नया प्रमुख 29 नवंबर को मिल जाए। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के पास सेनाध्यक्ष को सेवावृद्धि देने का अधिकार है। बेबाक और महत्वाकांक्षा से रहित जनरल जहांगीर करामत को छोड़ दें तो लगभग...
    November 26, 05:57 AM
  • चौंका सकते हैं पंजाब विधानसभा के चुनाव नतीजे
    अंडर 30- करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच पंजाब चुनाव के नतीजे इस बार चौंका सकते हैं। भाजपा के नाराज चल रहे नेताओं में शत्रुघ्न सिन्हा के साथ चुनाव को प्रभावित करने वाले नेताओं में नवजोत सिंह सिद्धू का नाम प्रमुख है। अकाली दल से गठबंधन से नाराज़गी और कैबिनेट में जगह न मिलने से सिद्धू ने अलग पार्टी बनाकर सभी पार्टियों को चिंता में डाल दिया था। आम आदमी पार्टी को लोकसभा में दो सीटें पंजाब से मिली थीं, लेकिन अब हालात बदल गए हैं। दिल्ली में आम आदमी पार्टी के नेताओं के प्रति लोगों का...
    November 25, 05:46 AM
  • नोटबंदी की आलोचना के चार आधारों की हकीकत
    अंडर -30 करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच नोटबंदी की चार प्रमुख आधारों पर आलोचना हो रही है। आइए उनका विश्लेषण करें : एक, हजार रुपए का नोट बंद करके दो हजार का नोट क्यों लाए : भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। 2001 में पांच सौ और हजार के नोटों की चलन में हिस्सेदारी 30 फीसदी थी, जो 2015 में 86 फीसदी हो गई। आर्थिक वृद्धि के कारण लेन-देन में आसानी के लिए बड़े नोट जरूरी हुए। बड़े नोटों को छापने में लागत भी कम आती है। 2. नोटबंदी के बाद लंबी कतारें लगीं, व्यापक उथल-पुथल मच गई: भारत में एक लाख...
    November 24, 04:18 AM
  • सार्वजनिक बहस का उद्‌देश्य टीआरपी नहीं, सहमति हो
    अंडर 30- करंट अफेयर्स पर 30 से कम उम्र के युवाओं की सोच हम आजकल मीडिया पर इतने निर्भर हो चुके हैं कि हम उसे ही न्यायालय मान बैठते हैं। इसीलिए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की बहसों को कई लोग मीडिया ट्रायल भी कहते हैं। इसमें दर्शकों की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही है। असल मुद्दों पर ध्यान न देते हुए टीआरपी का व्यापार हो रहा है। हम प्राइम टाइम खबरों या बहसों इतने एडिक्ट हो चुके हैं कि हम भी समूहों में बंट चुके हैं। हम अपने विचारों के हिसाब से अपनी पसंद चुन लेते हैं और बगैर सच जाने इसका आकलन मीडिया पर छोड़ देते...
    November 23, 04:54 AM
  • ईएमयू सिस्टम अपनाएं, टेल्गो ट्रेन का जुनून छोड़ें
    बीस नवंबर की दुर्भाग्यपूर्ण रात को इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन झांसी-उरई-कानपुर सेक्शन पर पटरी से उतर गई। इस दुर्घटना में 143 यात्रियों की मौत ने राष्ट्र को भीतर तक हिला दिया है। मेरे जैसे रेलवेमैन के लिए तो यह अत्यंत दुखद घटना है, क्योंकि किसी भी रेलवेमैन का मुख्य उद्देश्य तो हमेशा यही होता है कि रेल-व्यवस्था में कदम रखने वाला हर यात्री हमेशा ही अपने गंतव्य पर आरामदायक तरीके से सुरक्षित पहुंचे। जांच रिपोर्ट आने के बाद दुर्घटना का वास्तविक कारण पता चलेगा। यहां हम यह देखेंगे कि तत्काल क्या किया...
    November 23, 04:50 AM