Home » Haryana » Karnal » Pride Of Haryana Player Rinku

जिस बेटी के जन्म पर रोया था पूरा परिवार, आज वह बनी गोल्ड मेडलिस्ट

अमरजीत सिंह मधोक | Feb 21, 2014, 18:13PM IST
1 of 4

जींद. जैसे ही घर में किलकारियां गूंजी, लोग मायूस हो गए और कहने लगे, ‘लो एक और बेटी आ गई, अब क्या होगा।’ आज उसी लड़की ने अपनी मेहनत और कठिन परिश्रम से राज्य ही नहीं देश का नाम रौशन किया है। जी हां, हम बात कर रहे हैं महाराजा अग्रसेन स्कूल की 12वीं कॉमर्स की छात्रा रिंकू खटकड़ की जिसने 36वीं जूनियर राष्ट्रीय हैंडबॉल प्रतियोगिता में हरियाणा प्रदेश का नाम रौशन किया है।

 

रिंकू जब इस प्रतियोगिता में हरियाणा प्रदेश की टीम की सदस्य के रूप में स्वर्ण पदक विजेता बनीं तो सबकी खुशियों का ठिकाना नहीं रहा। प्रतियोगिता 1 से 6 फरवरी को मध्यप्रदेश के इंदौर में हुई। भास्कर ने हरियाणा की बेटी से बातचीत की है और उसकी गौरव गाथा को अपने पाठकों से साझा किया है।

बकौल रिंकू

हम तीन बहनें और एक भाई हैं। तीसरे नंबर पर जब मैं पैदा हुई तो मेरा परिवार मेरे जन्म पर खुशियां मनाने की जगह रोने लगा था। परिवार के सदस्य कहने लगे कि फिर लड़की पैदा हो गई, लेकिन आज मैं गर्व से कह सकती हूं कि लड़कियों को लड़कों से कमतर न आंका जाए। मुझे इस बात का गौरव हासिल हुआ है कि राष्ट्रीय स्तर पर मैं खेल में स्वर्णपदक विजेता बन गई हूं। मैं अपने स्कूल महाराजा अग्रसेन स्कूल और गांव खटकड़ बरसोला के लिए इस प्रकार का सम्मान बटोरने वाली पहली बेटी हूं।

रिंकू ने कहा कि मेरा बस हर पेरेंट्स से यही कहना है कि बेटियों को सपोर्ट करें। उन्हें बोझ न समझें। बेटों की तरह उन्हें भी पूरा मान-सम्मान दें। आज मेरा गांव मुझे सम्मानित करने का प्रोग्राम बना रहा है। मेरे लिए इससे ज्यादा खुशी की बात क्या होगी। अभी तक नरवाना शहर की छात्राएं ही हैंडबॉल में पदक लाती थीं, अब स्कूल लेवल पर जींद में मुझे यह गौरव मिला है।

 

 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
1 + 8

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment
(1)
Latest | Popular