Home » Rajasthan » Jaipur » ह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्य

ह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्यह्य

Ashish Maharishi | Sep 12, 2013, 14:52PM IST
जयपुर। सुपर स्टार सुनना अच्छा लगता है, लेकिन यह एक बुरा शब्द है। इसी तरह लकी चार्म भी बुरा शब्द है। सुपर स्टार शब्द को बुरे तरीके से यूज किया जाता है। आपने एक-दो मूवी हिट दे दी, तो लोग सुपर स्टार की तरह देखने लगते हैं और कहते हैं आने वाले समय का सुपर स्टार यही है। अभी मैंने सिर्फ 10 मूवी ही दी हैं, देखते हैं आगे क्या होता है? कुछ ऐसी ही बेबाक बातों के साथ बॉलीवुड स्टार रणबीर कपूर ने अपने मन की बात शेयर क। वे खुद की अपकमिंग मूवी ‘बेशर्म’ के प्रमोशन के सिलसिले में गुरुवार को जयपुर में थे। इस दौरान उन्होंने मूवी के बारे में जानकारी दी और सलमान, शाहरुख के साथ ही दीपिका की तारीफ भी करने से नहीं चूके। मूवी 2 अक्टूबर को रिलीज होगी। 
 
ऑडियंस है किंग 
 
रणबीर ने 100 करोड़ के क्लब के बारे में कहा, ऑडियंस ही सबसे बड़ी किंग होती है। मैं 100 या 200 करोड़ के क्लब के बारे में कुछ नहीं बोलूंगा। मुझे बस काम करना है। यदि वह किसी बड़े क्लब में शामिल होती है, तो अच्छी बात है। वहीं उन्होंने ‘बेशर्म’ में माता-पिता के साथ काम करने के बारे में कहा, मैं तो अपने पिता के पैरों की धूल भी नहीं हूं। उनका काम को लेकर पैशन आज भी मुझे प्रभावित करता है। जब उन्हें पता चला कि मैं भी इस मूवी में हूं तो उन्होंने फिल्म साइन नहीं की, लेकिन फिर स्वयं के कैरेक्टर के बारे में जाना तो फिल्म साइन की। वे शूट के दौरान भी सिर्फ अपने कैरेक्टर में थे, लेकिन उनके सामने मेरी हवा टाइट हो गई। मूवी के बारे में उन्होंने बताया, मैं बबली के किरदार में हूं, जो बहुत बेशर्म है। सिर्फ दिल की सुनता है और उसका डायलॉग है ‘मेरे सीने में दिल नहीं जिगर है, जो टूटता नहीं है।’ 
 
सबको वाइफ से मिलवाऊंगा 
 
माता-पिता के साथ काम करने का सबसे बड़ा नुकसान मुझे यह हुआ कि मैं सिगरेट नहीं पी सका और मेरी यह आदत कम हो गई। उन्होंने स्वयं की पर्सनल लाइफ के बारे में कहा, कैटरीना मेरी दोस्त हैं और उसका गलत मतलब निकाला जाता है। मैं वैसे भी निजी लाइफ के बारे में बात नहीं करना चाहता हूं। जब मेरी शादी होगी, तो खुलेआम करुंगा और सबको बताऊंगा कि यह मेरी वाइफ है। 
 
पेरेंट्स के साथ टफ है काम करना 
 
पेरेंट्स के साथ काम करना सुरक्षित नहीं है। पापा के साथ काम करना वाकई टफ था। वे हर टेक को सीरियस लेकर कम्पलीट करते हैं। उनके साथ काम करने से एक अनुभव मिला, जो अगली मूवीज में काम आएगा। पापा-मम्मी में से किसके ज्यादा करीब हैं, के सवाल पर वे कहते हैं, मम्मी के ज्यादा करीब हूं। 
 
नए लोग, नई सोच 
 
फिल्म इंडस्ट्री के चैलेंज क्या हैं? के सवाल पर रणबीर ने कहा, हर साल इंडस्ट्री के चैलेंज टूट रहे हैं। नए लोग आ रहे हैं, तो नई सोच आ रही है। शानदार मूवी बन रही हैं। शाहरुख, सलमान, अमितजी आदि सभी की मूवीज पूरी दुनिया में रिलीज होती हैं। ऐसे में हमारी इंडस्ट्री रोजाना नए आयाम छू रही है। 
 
टूट रहे हैं इंडस्ट्री के चैलेंज 
 
मिस्टर सलमान और शाहरुख का मजाक नहीं उड़ाया, बस नाम कुछ ऐसे हैं कि उनकी पिछली मूवी के नामों से मिलते हैं। 
 
 

फोटो : मनोज श्रेष्‍ठ 


आगे की स्‍लाइड में पढ़ें फिल्‍म से जुड़ी कुछ खास बातें


 


जब सुनील दत्त और नर्गिस दत्त को छूने पड़ गए एक मंत्री के पांव!


खर्च कीजिए बीस लाख और मजा लीजिए शाहरुख जैसी कारवान का


राजेश खन्ना कार से उतरे, दो चाय पी और थमा दिए पांच सौ का नोट


सोनाक्षी के ठुमके से बेकाबू हुए लोग, जानिए फिर क्या हुआ दीवानों का हाल


साइना नेहवाल के इस रूप को देख कर चौंकिएगा मत, देखिए पूरी असलियत


जैसे-जैसे रात जवां हुई, हुस्न और निखरता गया, देखें तस्वीरें


अँधेरी रातों में एक किले में झूम कर नाचीं यह मोहतरमा, जानिए कौन हैं ?

Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
9 + 10

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment