Home » Union Territory » New Delhi » News »

Arun Binjola | Sep 13, 2013, 12:08PM IST

नई दिल्ली। ‘जिस पाशविकता और भयावह तरीके से 23 वर्षीय लड़की के साथ अपराध किया गया, वह दुर्लभतम अपराध की श्रेणी में आता है। दोषियों के अमानवीय और नृशंस कृत्य ने राष्ट्र के सामूहिक अंतकरण को झकझोर दिया और वे दृष्टांत के योग्य सजा के हकदार हैं, इसलिए दोषियों को फांसी की सजा दी जाती है।‘ साकेत की फास्‍ट ट्रैक कोर्ट के न्‍यायाधीश योगेश खन्‍ना ने नौ महीने के लंबे इंतजार के बाद इस निष्‍कर्ष के साथ राष्‍ट्र को झकझोर देने वाली इस घटना में अपना अहम फैसला सुना दिया।


मौत की सजा को पुष्टि के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय के पास भेज दिया गया है। दोषियों को हत्‍या के अपराध के लिए मौत की सजा सुनाई गई, जबकि लड़की से गैंगरेप करने के लिए उम्रकैद की सजा सुनाई गई। अदालत ने प्रत्येक  अभियुक्त पर 55-55 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया। ('दामिनी' से गैंगरेप के गुनहगारों को सजा-ए-मौत देते जज ने क्‍या कहा, पढ़ें)


पूर्व घोषणा के मुताबिक, शुक्रवार की दोपहर ठीक ढ़ाई बजे जज अपने चैंबर से अदालत कक्ष आए और सजा का ऐलान किया। खचाखच भरे अदालत कक्ष में अपने 20 पन्नों के आदेश में न्यायाधीश ने कहा कि  मुकेश (26) , अक्षय ठाकुर (28), पवन गुप्ता (19) और विनय शर्मा के जघन्य कृत्य की वजह से उनसे समुदाय के संरक्षणात्मक हाथों को खींचने की जरूरत है। न्यायाधीश ने कहा,  एक असहाय महिला के खिलाफ इस तरह का अपराध अनुकरणीय सजा की मांग करता है। मैं यहां यह कहकर छोड़ सकता हूं कि घटना की गंभीरता भयावह पाशविक और अद्वितीय बर्ताव को दर्शाती है। (सजा-ए-मौत सुनते ही बदहवास रोने लगे दामिनी के गुनहगार, झल्‍लाए वकील ने किया हंगामा)



'डेथ टू ऑल' का फैसला सुनते ही चारों दोषी रो पड़े, वहीं विनय फूट-फूटकर रोया और ‘सर, सर कहते हुए जज से माफी की मिन्‍नत करने लगा। यह एक ऐसा फैसला था, जिसका इंतजार केवल पीड़िता के परिजनों को ही नहीं, बल्कि पूरे देश और दुनिया को था। बरबस, इसका एक उदाहरण यह भी है कि कोर्ट रूम के बाहर खड़ी बेसब्र जनता को फैसला आने के चंद पलों बाद एक वकील ने बाहर आकर बताया कि ‘फांसी हुई है’ तो पूरा अदालत परिसर तालियों से गूंज उठा और लोग खुशी से चिल्‍लाते रहे। पीड़िता के परिवार ने चारों वयस्क दोषियों को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद राहत की सांस ली। पीड़िता के परिवार ने मामले के किशोर दोषी को अधिकतम तीन साल के कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद नाखुशी भी जताई।


आगे पढ़ें- इस अहम फैसले में जज ने क्‍या खास बातें कहीं और अन्‍य महत्‍वपूर्ण बातें।


ये भी पढ़ें- 


पढ़िए, ‘दामिनी’ क्‍या सजा चाहती थी छह दरिंदों के लिए


जज बोले- दोषियों को फांसी देने से ही मिलेगा 'दामिनी' को इंसाफ


TOTAL RECALL: 'दिल्‍ली गैंगरेप के बाद ये हुआ था राजधानी का हाल


'गैंगरेप के दोषियों ने मेरी भी हत्या कर दी होती'


दिल्‍ली गैंगरेप के बाद हुआ था हिंसक प्रदर्शन, इंडिया गेट पर लगा डाली आग


दामिनी के गुनहगारों ने मीडियावालों को दी गंदी गालियां, वकील पर चले चप्‍पल


'दामिनी' के दोस्‍त की जुबानी, 16 दिसंबर की रात की कहानी


नाबालिग दरिंदे को तीन साल की सजा


 


अन्‍य अहम खबरें  

बीजेपी ने नरेंद्र मोदी को बनाया अपना पीएम उम्‍मीदवार
सजा-ए-मौत पाकर रोने लगे चारों, वकील का कोर्ट में हंगामा
मुजफ्फरनगर: 'आग' भड़काने का आरोपी विधायक बदल चुका है कई पार्टियां, गार्ड रखने का है शौक
IN DEPTH: दस साल में 1455 को हुई मौत की सजा, पर तामील हुई 17 साल में केवल तीन ANALYSIS: मोदी को लेकर आखिर क्यों अड़े हैं आडवाणी?
मुजफ्फरनगर में शांति, सपा में सियासी भूचाल
सीरिया: तस्‍वीरों में देखिए, कैसे एक युवक को सरेआम दी गई मौत
भारत को हराने की खुशी में बेकाबू हुए अफगान, गोलियों की बौछार कर मनाया जश्न
आसाराम के भीलवाड़ा आश्रम पर चला बुलडोजर, नासिक में लाठीचार्ज
योगेंद्र यादव पर विवाद नया, अध्‍यापन-राजनीति का रिश्‍ता पुराना
धोनी ने शेयर कीं अपनी पहली बाइक की तस्‍वीरें
मिलिए, नए 'महाभारत' की द्रौपदी, कर्ण, अर्जुन और कृष्ण से
अरबपतियों की जमात में भारतीय महिलाएं टॉप पर, जानिए, देश के रईसों से जुड़े 10 FACTS
दारुल उलूम का नया फतवा, फोटोग्राफी को बताया 'गैरकानूनी' और 'पाप'


 

Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 6

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment