Home » Madhya Pradesh » Indore » News » Anubha Sharma Writer Poetry Indore Ashish Sharma

रोमांस को दिए नए आयाम और इसी रच दिया लिम्का बुक में इतिहास

bhaskar news | Sep 13, 2013, 00:05AM IST
रोमांस को दिए नए आयाम और इसी रच दिया लिम्का बुक में इतिहास

इंदौर। 'कौन देता है नैपथ्य से शब्द भावनाओं को/ मुझे नहीं मालूम कौन?/ कौन, शब्दों को जामा पहनाता है- कौन? / हां मैं केवल इतना जानती  हूं कि, दिन हो या रात, कुछ लम्हे मेरी लेखनी के नाम हैं/ और कुछ... मेरी आंखों के।'


ये पंक्तियां शहर की रचनाकार अनुभा शर्मा की हैं जो 25 साल से रोज एक कविता रच रही हैं। उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्र्स में तीन बार दर्ज हो चुका है। हाल ही में रिलीज़ हुई लिम्का-2013 में तीसरी बार नाम दर्ज करा चुकीं अनुभा टैरो कार्ड रीडर और योगविद् भी हैं। 1989 से उन्होंने हर दिन एक कविता लिखने की शुरुआत की थी। अब तक वे हिंदी और अंग्रेज़ी में नौ हजार से भी ज्यादा कविताएं लिख चुकी हैं।


 


आगे की स्लाइड पर क्लिक कर पढ़ें कैसे दर्ज किया तीन बार लिम्का बुक में नाम- 


 

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
8 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment