Home » Union Territory » New Delhi » News » 1984 Sikh Roits, Harvinder Singh Phoolka, Accused Jagdish Tytler, Court, New Delhi

1984 सिख-दंगे के गुनाहगारों से एक वकील की जंग, पढ़िए पूरी कहानी उनकी जुबानी

Bhaskar news | Sep 15, 2013, 02:07AM IST
1984 सिख-दंगे के गुनाहगारों से एक वकील की जंग, पढ़िए पूरी कहानी उनकी जुबानी

ये हरिवंदर सिंह फूलका का ही संघर्ष और दबाव है जो सरकार को मजबूर करता है कि सिख दंगों के आरोपी जगदीश टाइटलर को मंत्रिमंडल से हटा दे। प्रधानमंत्री को संसद में दंगों के लिए माफी मांगनी पड़े। और सोनिया गांधी को अमेरिका के अस्पताल में समन तामील करा दे। जानिए फूलका क्यों लड़ रहे हैं ये लड़ाई...


नई दिल्ली। 1984 के सिख-दंगों के लिए न्याय की लड़ाई जारी रखने का श्रेय यदि किसी एक व्यक्ति को जाता है, तो वे हैं हरविंदरसिंह फूलका। 'सिख फॉर जस्टिस' संस्था को वे पिछले 30 साल से कानूनी मदद दे रहे हैं। विनाशकारी दंगों के दोषियों को कठघरे में खड़ा करने के लिए। पिछले दिनों इस संस्था की कोशिशों का ही नतीजा था, कि इलाज कराने अमेरिका गई सोनिया गांधी को अस्पताल के भीतर कोर्ट का समन दिया गया। फूलका उन पर दोषियों को बचाने का आरोप लगाते हैं।


फूलका के पूर्वज पंजाब के शासक रहे हैं। वे दंगाइयों से इसलिए भी ज्यादा नफरत करते हैं, क्योंकि उन्होंने न सिर्फ इसे नजदीक से देखा है, बल्कि भोगा भी है। थोड़ा-सा कुरेदने पर उनके दिल का गुबार फट पड़ता है। मानो कल की ही बात हो। कोई 29 की उम्र रही होगी उनकी। दिल्ली हाईकोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे थे। वहीं उन्हें इंदिरा गांधी की हत्या की खबर लगी। अगले दिन गर्भवती पत्नी के साथ मोटरसाइकिल पर बाजार से दक्षिण दिल्ली स्थित घर लौट रहे थे कि रास्ते दोस्त मिले। बताया कि सिक्खों को मारा जा रहा है।


आगे की स्लाइड में पढ़िए सिख दंगों का पूरा हाल, एडवोकेट हरविंदर सिंह की जुबानी..

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 1

 
विज्ञापन

क्राइम

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment