Home » Chhatisgarh » Durg Bhilai » लता मंगेशकर से छत्तीसगढ़ी गीत गवाने वाले मदन शर्मा सम्मानित

लता मंगेशकर से छत्तीसगढ़ी गीत गवाने वाले मदन शर्मा सम्मानित

Matrix News | Mar 08, 2013, 06:22AM IST
सिटी रिपोर्टर-!-भिलाई
स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर से छत्तीसगढ़ी में पहला और अब तक का एकमात्र गीत गवाने वाले प्रसिद्ध गीतकार-संगीतकार मदन शर्मा का योगदान छत्तीसगढ़ स्तर पर सराहा गया है। श्री शर्मा को छत्तीसगढ़ शासन के संस्कृति विभाग के परिसर मुक्ताकाश में ‘स्वर सप्तक’ की ओर से सम्मानित किया गया।
इस सम्मान को अपने जीवन का अहम सम्मान बताते हुए श्री शर्मा ने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा अब तक उनकी इस उपलब्धि की उपेक्षा किए जाने के दुखद बताया है। दुर्ग जिले के जेवरा-सिरसा निवासी प्रसिद्ध संगीतकार मदन शर्मा ने सन 2005 में अपनी फिल्म ‘भकला’ के लिए लता मंगेशकर-ऊषा मंगेशकर से छत्तीसगढ़ी विदाई गीत ‘छूट जाही अंगना अटारी’ गवाया था। लता मंगेशकर का गाया यह अब तक का एकमात्र छत्तीसगढ़ी गीत है। मदन शर्मा राष्ट्रीय स्तर के ढोलक वादक भी रहे हैं। उनकी इन्ही उपलब्धियों को छत्तीसगढ़ स्तर पर सम्मानित किया गया। इस दौरान पहली छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘कहि देबे संदेस’ के निर्माता-निर्देशक मनु नायक, लक्ष्मण मस्तुरिया, मदन चौहान और ‘बेटी बचाओ अभियान’ के अध्यक्ष संजय बाजपेयी सहित अन्य विशिष्ट हस्तियां मौजूद थी।
मदन शर्मा ने इस दौरान अफसोस जताया कि छत्तीसगढ़ शासन आवेदन के आधार पर छत्तीसगढ़ी कलाकारों को सम्मान देता है, वहीं बालीवुड से करोड़ों रुपए देकर कलाकारों को बुला लिया जाता है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ी में लता मंगेशकर से पहला और एकमात्र गीत गवाने के बावजूद शासन की ओर से उन्हें सम्मान पत्र तो दूर, एक प्रशस्ति पत्र तक नहीं मिला है।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 2

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment