Home » Chhatisgarh » Bilaspur » Take 24 Hours Water, Meter By Meter Pay Tap Connec

24 घंटे पानी लो, मीटर देखकर बिल भरो

सूर्यकांत चतुर्वे | Aug 25, 2012, 04:18AM IST
24 घंटे पानी लो, मीटर देखकर बिल भरो
बिलासपुर. नगर निगम शहर के लोगों को 24 घंटे पानी की सुविधा देगा। इसके लिए जल्द ही नल कनेक्शनों में मीटर लगा दिए जाएंगे। इसके बाद लोगों को पानी की खपत के अनुसार बिल का पेमेंट करना होगा। निगम प्रशासन ने मीटर लगाने के लिए सर्वे शुरू करा दिया है। चौबीसों घंटे पानी देने की यह योजना प्रदेश में सबसे पहले बिलासपुर में शुरू होगी।

नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल ने हाल ही में नगरीय निकायों की समीक्षा बैठक ली थी। इसमें नल कनेक्शनों में मीटर लगाने का प्रस्ताव आया था। इसके बाद बैठक में मीटर की खरीदी आदि के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग (पीएचई) के परियोजना खंड बिलासपुर द्वारा टेंडर बुलाने का निर्णय लिया गया। मीटर लगाने का काम नगर निगम द्वारा गठित कमेटी के माध्यम से किया जाएगा। इससे पहले नल कनेक्शनों में मीटर अविभाजित मध्यप्रदेश के समय कुछ नगरीय निकायों में लगाए गए थे, परंतु बाद में इसका प्रचलन बंद हो गया। जल कर की दरें एक समान करने के कारण मीटर लगाने की बाध्यता खत्म कर दी गई।

अभी ये है किराया

वर्तमान में प्रदेश में सामान्य वर्ग के नल कनेक्शनधारियों से 200 रुपए तथा व्यवसायिक कांप्लेक्स, होटल आदि से 800 रुपए मासिक शुल्क लिया जाता है। सालभर पहले सामान्य वर्ग के लोगों को 50 रुपए शुल्क देना पड़ता था।


प्रदेश में सबसे पहले बिलासपुर में

ये फायदे

मुफ्त में मीटर लगाए जाएंगे।
घरों में पानी स्टोर करने के लिए टंकी बनाने की जरूरत नहीं होगी।
पानी की खपत के अनुसार बिल मिलेगा।
मीटर की रीडिंग एसएमएस के जरिए सीधे नगर निगम के जल विभाग को मिलेगी।
मीटर में तोड़फोड़ करने पर भी इसकी सूचना एसएमएस के जरिए विभाग को मिल जाएगी।

दिक्कत ये

मीटर की रीडिंग में गड़बड़ी करने के लिए छेड़छाड़ की जा सकती है।
विरोध भी हो सकता है, क्योंकि वर्तमान में उन्हें सिर्फ 200 रुपए मासिक शुल्क पर पानी मिल रहा है।
पानी टंकी को हर समय फुल रखना होगा।
बिजली बंद होने पर मोटर नहीं चलेगा।
मोटर फेल होने या नहीं चलने पर निगम को पहले से करनी होगी वैकल्पिक व्यवस्था।

इन वार्डो में सर्वे शुरू

नगर निगम के नल जल विभाग ने मीटर लगाने के लिए सर्वे शुरू कर दिया है। वार्ड क्रमांक 1 विकास नगर, 2 विष्णु नगर, 3 नेहरू नगर, 4 कस्तूरबा नगर, 5 भक्त कंवरराम नगर, वार्ड क्रमांक 7 गुरु घासीदास नगर का कुछ हिस्से, वार्ड क्रमांक 36 स्वामी विवेकानंद नगर, वार्ड क्रमांक 37 शंकर नगर व 38 शहीद हेमूकालानी नगर में सर्वे किया जा रहा है। इसके लिए मीटर रीडर व बिलिंग सेक्शन के कर्मचारियों की पांच टीमें लगाई गई हैं। इन वार्डो में न्यूनतम 4.50 लाख लीटर से 11.50 लाख लीटर क्षमता की पानी टंकी है, जिसके कारण यहां चौबीसों घंटे पानी सप्लाई की जा सकती है।

8 हजार मीटर लगेंगे


शहर में 81 करोड़ की जल आवर्धन योजना का काम मार्च 2013 तक पूरा करा लिया जाएगा। इससे 2037 तक शहर की बसाहट व आबादी के हिसाब से पानी की जरूरतें पूरी हो जाएंगी। योजना के डीपीआर में 2000 वाटर कनेक्शन तथा 6000 नए कनेक्शन मीटर के साथ देने का प्रावधान है।

जाहिर है, सर्वे के बाद पहले चरण में चौबीसों घंटे पानी देने की योजना 8000 कनेक्शनों के साथ प्रायोगिक तौर पर लागू की जाएगी। नल कनेक्शनों में मीटर लगाने के लिए सर्वे इसलिए कराया जा रहा है, ताकि पीएचई को पता लग सके कि किस व्यास के पाइप व कितने कनेक्शन दिए जाने हैं। सर्वे 21 अगस्त से शुरू किया गया है और इसे 40 दिनों में पूरा करना है।

पानी की होगी बचत

योजना की शुरुआत प्रदेश में सबसे पहले नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के शहर से हो रही है, इसलिए इसे प्रायोगिक तौर पर कुछ वार्डो से शुरू किया जाएगा। प्रयोग सफल रहा, तो इसे पूरे शहर में तथा अन्य नगरीय निकायों में पानी की उपलब्धता के हिसाब से लागू किया जाएगा। मीटर लगने से लोग पानी मुफ्त में नहीं बहाएंगे। खपत के अनुसार बिल मिलने पर लोग जरूरत के हिसाब से ही पानी का उपयोग करेंगे। मीटर की रीडिंग एसएमएस के जरिए सीधे नगर निगम के जल विभाग को मिलेगी। यही नहीं मीटर में तोड़फोड़ करने पर भी इसकी सूचना एसएमएस के जरिए विभाग को मिल जाएगी।
BalGopal Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
1 + 3

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

BalGopal Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment