Home » Chhatisgarh » Raipur » News » Bilaspur University

बिलासपुर विश्वविद्यालय के लिए केंद्रीय विश्वविद्यालय लेगा परीक्षा

Bhaskar News | Feb 18, 2012, 07:41AM IST
रायपुर. गुरू घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्राइवेट छात्रों की परीक्षा इस बार भी केंद्रीय विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित कराई जाएगी। केंद्रीय विश्वविद्यालय बिलासपुर विश्वविद्यालय के लिए प्राइवेट छात्रों की परीक्षा लेगा।


मुख्य सचिव सुनील कुमार और उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव सीके खेतान ने शुक्रवार को मंत्रालय में केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति लक्ष्मण चतुर्वेदी और सरगुजा विश्वविद्यालय के कुलपति सुनील कुमार वर्मा के साथ बैठक कर इस मुद्दे का हल निकाला। इसके साथ ही तीन महीने से चल रही उहापोह समाप्त हो गई है।


केंद्रीय विश्वविद्यालय द्वारा प्राइवेट परीक्षा आयोजित करने में असमर्थता जताने के बाद बिलासपुर, रायगढ़, कोरबा तथा जशपुर जिलों के लगभग 40 हजार प्राइवेट छात्रों का भविष्य अधर में था। अब छात्रों को प्रमाणपत्र तो बिलासपुर में स्थापित हो रहे नए विश्वविद्यालय से मिलेगा लेकिन इस बार भी परीक्षा का आयोजन केंद्रीय विश्वविद्यालय ही करेगा। इसके बाद से उच्च शिक्षा विभाग इस मसले को सुलझाने में लगा था।


विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री हेमचंद यादव ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति को बुलाकर इस साल अंतिम बार प्राइवेट परीक्षा आयोजित करने को कहा। मंत्री के प्रयासों से केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति इस साल परीक्षा आयोजित कराने को तैयार भी थे।


मगर इसी बीच खबर आई केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के नियमों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा जिसमें परीक्षा कराने में असमर्थता जताई। इसके बाद मामला उलझ गया। सरकार ने सरगुजा विवि को परीक्षा कराने को कहा लेकिन सरगुजा विवि के कुलपति भी इससे इंकार करते रहे।


हालांकि केंद्रीय विश्वविद्यालय के नियमों में विश्वविद्यालय से संबद्ध रहे सभी महाविद्यालयों की परीक्षा की जिम्मेदारी केंद्रीय विश्वविद्यालय की ही बनती है। मुख्य सचिव सुनील कुमार और प्रमुख सचिव सीके खेतान की मौजूदगी में हुई मैराथन बैठक के बाद तीन महीने से चला आ रहा यह मामला सुलझ गया है।


सेंट्रल यूनिवर्सिटी में नियमों की दिक्कत


गुरू घासीदास विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने के बाद नियमों का हवाला देकर विश्वविद्यालय ने प्राइवेट छात्रों की परीक्षा आयोजित करने से इंकार कर दिया था। केंद्रीय विश्वविद्यालय ने दो साल तक प्राइवेट परीक्षा ली। पिछले साल भी विश्वविद्यालय ने परीक्षा लेने से इंकार किया था लेकिन सरकार के हस्तक्षेप के बाद परीक्षा ली थी। इस बार केंद्रीय विश्वविद्यालय ने साफ कर दिया था कि अब नियमानुसार प्राइवेट परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा सकेगा।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
9 + 7

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment