Home » Chhatisgarh » Raipur » News » Police Anticipates About Battled With Upendra Who Escaped From Train

पुलिस को ट्रेन से फरार हुए उपेंद्र से मुठभेड़ की आशंका

भास्कर न्यूज | Feb 10, 2013, 07:23AM IST
रायपुर। जनशताब्दी एक्सप्रेस को हाइजैक कर फरार हो गए कुख्यात गैगस्टर उपेंद्र सिंह को दबोचने के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है। आला पुलिस अफसरों ने उपेंद्र के साथ एनकाउंटर की परिस्थिति के बारे में भी विचार शुरू कर दिया है। उपेंद्र के पास हथियार होने की सूचना भी है। पुलिस के घेरे में फंसने की सूरत में बहुत संभव है कि वह पुलिस पर हमला कर दे। इसे देखते हुए पुलिस टीमों को तैयार रहने कहा गया है।  
 
उपेंद्र को अपने बेटे प्रीतम सिंह के साथ शनिवार सुबह पाटन ब्लॉक के धनसुली गांव में देखे जाने के बाद तत्काल फोर्स को गांव में भेजा गया। पूरे इलाके की घेराबंदी करने के बाद जांच की जा रही है। देर रात तक उनके पकड़े जाने की खबर नहीं थी। 
 
दोपहर में पुलिस के साथ प्रीतम की मुठभेड़ की अफवाह भी उड़ गई। प्रीतम ग्रामीणों को पैसे का लालच देकर मदद मांग रहा है। पुलिस इन ग्रामीणों की भी तलाश कर रही है। एसएसपी दिपांशु काबरा ने बताया कि शायद उपेंद्र घायल है और उसका बेटा लोगों से मदद मांग रहा है।
 
दुर्ग और रायपुर जिलों की टीम बराबर उनकी सर्चिग में लगी हैं। इधर, दुर्ग एसपी ओमप्रकाश पॉल के मुताबिक सुबह उपेंद्र व उसके बेटे को पाटन के धनसुली गांव के पास देखे जाने की सूचना मिली थी। खबर मिलते ही पुलिस टीम वहां भेज दी गई। उनकी सर्चिग जारी है। उन्होंने दोनों में से किसी के पकड़े जाने की पुष्टि नहीं की। 
 
सूत्रों के मुताबिक उपेंद्र जल्द ही पकड़ा जा सकता है। यह खबर मिली है कि प्रीतम के अलावा उनका तीसरा साथी उनसे अलग होकर भागता फिर रहा है। उपेंद्र और उसका बेटा दोनों एक साथ हैं।
 
इस इलाके में उपेंद्र के कुछ पुराने साथी हैं। उसका वहां शराब का काम चलता था। कुछ ठेकेदारों और कोचियों से वह मदद ले सकता है। लिहाजा पुलिस ने वहां के तमाम शराब ठेकेदार और उनके कर्मियों पर भी नजर रखनी शुरू कर दी है। आसपास के सारे जिलों को अलर्ट किया गया है। 
 
उपेंद्र के पकड़े जाने की उड़ी खबर
 
शनिवार दोपहर 12 बजे उपेंद्र और उसके बेटे को गिरफ्तार करने की खबर आई। शहर के टीवी चैनलों में भी इस अफवाह ने खबर की शक्ल ले ली। पर दोपहर 2 बजे डीजीपी रामनिवास ने सफाई दी कि उपेंद्र अभी नहीं पकड़ा गया है। उसकी तलाश जारी है। दोपहर में ही डीजीपी ने आईजी स्तर के अफसरों की बैठक बुलवा ली।
 
उपेंद्र की फरारी समेत अन्य मुद्दों पर इसमें विस्तार से चर्चा हुई। बैठक में रायपुर आईजी जीपी सिंह, दुर्ग आईजी अशोक जुनेजा और आईजी राजेश मिश्रा शामिल थे। डीजीपी ने बैठक को रूटीन बताया है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के नोटिस के संबंध में यह बैठक रखी गई थी। इसमें पुराने पेंडिंग मामले, चालान के निराकरण पर चर्चा की गई।
BalGopal Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
7 + 3

 
विज्ञापन

क्राइम

बड़ी खबरें

BalGopal Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment