Home » New Delhi » News » Decaying School: Children Are Forced To Sit On The Ground In School

खस्ताहाल स्कूल : जमीन पर बैठ कर पढऩे को मजबूर हैं बच्चे

भास्कर न्यूज | Jan 26, 2013, 02:28AM IST

 नई दिल्ली। दिल्ली सरकार की ओर से लगातार स्कूलों में बेहतर शिक्षा व सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के दावों की पोल एक बार फिर खुल गई है। भजनपुरा स्थित एक सरकारी स्कूल इसका जीता-जागता उदाहरण है जहां सुबह व शाम की पाली में करीब 25 सौ छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं। स्कूल की खस्ता हालत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बच्चों को कड़ाके की ठंड में भी खुले आसमान के नीचे जमीन पर बैठक पढ़ाया जाता है।



स्कूल एजुकेशन के मोर्चे पर काम कर रहे संगठन सोशल ज्यूरिस्ट के सलाहकार एडवोकेट अशोक अग्रवाल ने बताया कि एक अभिभावक की मांग वह खुद गुरुवार को इस स्कूल में पहुंचे। सुबह आठ बजे जब वह स्कूल परिसर में दाखिल हुए तो पता चला कि छोटी-छोटी बच्चियां ऐसी सर्दी में कक्षाओं के बजाय ग्राउंड में जमीन पर बैठक र पढ़ रही हैं। इस दौरान कुछ बच्चियां कक्षाओं में परीक्षा देती हुई भी नजर आईं लेकिन वहां बिजली आपूर्ति न होने के चलते पूरी तरह से अंधेरा था। एक शिक्षक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि स्कूल दो पालियों में चलता है। सुबह छात्राएं तो दोपहर की पाली में छात्र पढ़ते हैं। शिक्षक ने बताया कि स्कूल की यह हालत पिछले तीन सालों से बनी हुई है और शिक्षा निदेशालय को सूचित करने के बावजूद स्थिति जस की तस बनी हुई है।



एडवोकेट अशोक अग्रवाल ने स्कूली की स्थिति को देखते हुए अब इसकी तस्वीर शिक्षा मंत्री डॉ. किरण वालिया के समक्ष पेश की है। उन्होंने शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर न सिर्फ मौजूदा हालातों से अवगत कराया है बल्कि जल्द राहत की मांग भी की।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
5 + 8

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment