Home » New Delhi » News » Delhi Gang Rape : Rapist Can Get Hanged!

दिल्ली गैंगरेप : बलात्कारी को मिल सकती है फांसी की सजा!

Bhaskar News | Dec 20, 2012, 00:07AM IST
दिल्ली गैंगरेप : बलात्कारी को मिल सकती है फांसी की सजा!
नई दिल्ली। गुरुवार को गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के नतीजों के चलते रविवार की रात गैंगरेप की शिकार हुई लड़की सुर्खियों में नीचे चली गई है। पर उसके बारे में ताजा जानकारी यह है कि उसे अब भी वेंटीलेटर पर ही रखा गया है। अगर वह बच भी जाती है तो उसे ताउम्र खाना खाने में दिक्‍कत होगी।
 

उधर, तिहाड़ जेल में गुरुवार को आरोपी की पहचान परेड कराई गई। पीडि़त लड़की के दोस्‍त ने आरोपी मुकेश सिंह की पहचान की। मुकेश को 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है। हिरासत में लिए गए चार आरोपियों में से मुकेश इकलौता ऐसा आरोपी है, जिसकी पहचान करवाई गई।
 


इस बीच, आप पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल गैंगरेप की शिकार लड़की को न्‍याय दिलाने के लिए दिल्‍ली के जंतर मंतर पर शुक्रवार को रैली का आयोजन करेंगे।  21 दिसंबर को होने वाली इस रैली में बलात्‍कार के केस में देरी के खिलाफ हल्‍ला बोला जाएगा। केजरीवाल ने दावा किया है कि रैली में कुछ रेप पीडित और उनके परिवार के लोग भी आएंगे। रैली का समय दोपहर दो बजे रखा गया है। 22 दिसंबर को इंडिया गेट पर सुबह नौ बजे एक धरने का भी आयोजन किया गया है।
 

गुरुवार को सफदरजंग अस्पताल के डॉक्‍टरों ने मीडिया को बताया, 'बुधवार को पीड़िता की आंतें निकाल दी गईं थी। वह फिलहाल लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर है। सुबह से लड़की की हालत स्थिर बनी हुई है। पीड़ता का ब्लड प्रेशर, हार्टबीट रेट आदि सामान्य हैं। लड़की खुद सांस लेने की कोशिश कर रही है और होश में है। बल्ड प्लेटलेट काउंट में थोड़ी कमी आई है। घटना के बाद से ही लड़की परिस्थितियों का बहादुरी से मुकाबला कर रही है।'
 

अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'आप स्थिति और आपात स्थिति के बाद जो भी किया जाना जरूरी थी वो हमारी टीम ने किया है। हमने पीड़ित को निगरानी में रखा हुआ है। आशा करते हैं कि उसकी हालत और खराब न हो।'
 
वारदात के दौरान लड़की को बुरी तरह पीटा भी गया था। इसी वजह से उसकी आंतों में गंभीर चोट आई थी। बुधवार को लाइफ सेविंग सर्जरी में उसकी अधिकतर छोटी आंतों को निकाल दिया गया। उसके अंदर एक ट्यूब लगाई गई है ताकि शरीर से निकलने वाले अन्य द्रव्‍यों को बाहर निकाला जा सके। फिलहाल पीड़िता को नसों के सहारे पोषण दिया जा रहा है।
 
क्या होगा भविष्य में असर?
छोटी आंत निकाले गए मरीजों को लंबे वक्त तक इंट्रावीनस न्यूट्रीशन (नसों के जरिए पोषण देना) पर रखा जाता है। ऐसे लोगों को सामान्य जीवन जीने के लिए छोटी आंत ट्रांस्प्लांट करवाना पड़ता है। डॉक्टरों का मानना है कि यदि उसकी छोटी आंत 100 सेंटीमीटर भी रह गई तब भी वह घाव भरने के बाद अच्छे पोषण के सहारे बेहतर जीवन जी पाएगी।

 


पूरा देश उस लड़की की जिंदगी के लिए दुआ मांग रहा है, वहीं युवती के जीने की ललक को देख डॉक्टर भी दंग हैं। (हमारा कैम्‍पेन : बलात्‍कारियों को दो फांसी से भी बड़ी सजा) उसका इलाज कर रहे डॉक्टर सुनील जैन कहते हैं, जिस स्थिति से वह गुजर रही है और जो पीड़ा उसे है, ऐसा मामला रेयर देखने को मिलता है। लेकिन उसकी हिम्मत और मजबूत मानसिकता यह दर्शाती है जिंदगी के प्रति वह कितनी सजीव है। एक घंटे तक उन दरिंदों के बीच रहने के बाद वह लगभग एक घंटा स्पॉट पर भी पड़ी रही। फिर उसे अस्पताल लाया गया, जिसमें 40 मिनट लग गए। इसके बाद उसने पुलिस और डॉक्टर को अपने साथ हुई पूरी घटना की जानकारी दी। और अब जब उसका इलाज चल रहा है, तब जहां डॉक्टर उसके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं, वहीं वह जीना चाहती है और इसके लिए प्रार्थना भी कर रही है। मंगलवार को जहां उसने लिखकर अपनी मां से कहा कि मैं जीना चाहती हूं, वहीं बुधवार सुबह वह काफी अलर्ट दिखी और उसका यह व्यवहार एक पॉजिटिव साइन दे रहा है। सच में, ऐसा कोई मजबूत मानसिकता वाली युवती ही कर सकती है।


 



आंतों में गंभीर चोट की वजह से उसकी सर्जरी तो कर दी गई है लेकिन खून में संक्रमण का स्तर बढ़ा हुआ है। डॉक्‍टरों का कहना है कि लड़की के अभी कई और ऑपरेशन करने पड़ सकते हैं। डॉक्‍टरों का कहना है कि खून के प्लेटलेट्स काउंट न्यूनतम डेढ़ लाख की जगह गिरकर मात्र 48 हजार रह गए हैं। पहले से कहीं ज्यादा वेंटिलेटर की जरूरत महसूस हो रही है। ब्लड प्रेशर दवाओं से कंट्रोल किया जा रहा है। वहीं दर्द से राहत देने के लिए थोड़े-थोड़े समय पर मार्फिन दवा का डोज भी दिया जा रहा है। डॉक्‍टरों को आशंका है कि लड़की को सेप्टिसीमिया, गैंगरीन और लंग इन्‍फेक्‍शन हो सकता है।


 

 

 


हमारा अभियान:

दिल्ली गैंग रेप को लेकर जहां पूरे देश में बवाल मचा हुआ है, वहीं Dainikbhaskar.com भी अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत ऐसे अपराधों के खिलाफ अभियान चला आपकी आवाज बुलंद करने में लगा है। घटना के पहले दिन से ही हम अपने अभियान ''ब्लैक आउट इमेज'' (दिल्ली में रविवार रात चलती बस में हुए सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता के समर्थन में) से ऐसी घटनाओं का सख्त विरोध कर रहे हैं। 


 
हम आपके साथ मिलकर एक अभियान चला रहे हैं। ''ब्लैक आउट इमेज'' को अपने फेसबुक एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वाल पिक्स बना जुड़िए हमारे इस अभियान से और दिल्ली गैंगरेप मामले में खुलकर जताइये अपना विरोध। याद रखें, आप जितनी ज्यादा इमेज करेंगे ब्लैक आउट, उतनी ही ज्यादा बुलंद होगी देश की आवाज...
 
 

 

आगे पढ़ें, चलती गाड़ियों में गैंगरेप की हुई 11 वारदात के बारे में...

यह भी पढ़ें


गृह मंत्रालय से राष्‍ट्रपति भवन तक हाय-हाय के नारे


गैंगरेप तो आम बात है, जरूरत से ज्‍यादा दे रहे तूल: काटजू


गैंगरेप पर हाईकोर्ट की पुलिस को फटकार, काले शीशे वाले बसों पर पाबंदी


दिल्ली गैंगरेप : इलाज कर रही डॉक्टर ने बयां की दरिंदगी की असली कहानी!


हर 40 मिनट में एक बलात्‍कार, 25 मिनट में छेड़छाड़


गुस्से से बॉलीवुड, 'रेपिस्ट को मारो गोली, बना डालो नपुंसक'


गैंगरेप पर सियासत तेज: शीला को फटकार, भाजपाइयों का धरना


जानिए, चरम बर्बरता की इस घटना पर सभ्य समाज की प्रतिक्रिया


बिगड़ रही है पीड़िता की हालत, खून में फैल गया है इंफेक्‍शन


पहचान परेड से इंकार, बाप बोला-बलात्‍कारी को फांसी पर चढ़ाओ


दिल्ली में न्यूज चैनल की रिपोर्टर के साथ सरेराह छेड़खानी, पुलिस बेखबर


 

Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
7 + 4

 
विज्ञापन

क्राइम

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment