Home » New Delhi » News » Mount Elizabeth Hospital For Treatment Of The Victim

पीड़िता के इलाज के लिए चुना गया था माउंट एलिजाबेथ अस्पताल क्योंकि !

dainikbhaskar.com | Dec 29, 2012, 06:27AM IST
पीड़िता के इलाज के लिए चुना गया था माउंट एलिजाबेथ अस्पताल क्योंकि !
दिल्ली में 16-17 दिसंबर की रात चलती बस में एक छात्रा के साथ छह लोगों ने बलात्कार किया। घटना के वक़्त बस में उसका एक दोस्त भी मौजूद था। बलात्कार के बाद दोनों को ही चलती बस से फेंक दिया गया। वारदात में लड़की को काफी गंभीर चोटें आईं। तब से लड़की का इलाज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में चल रहा था। पिछले दो दिनों से उसकी हालत में लगातार गिरावट हो रही थी। डॉक्टरों से सलाह के बाद सरकार ने लड़की को इलाज के लिए सिंगापुर के माउन्ट एलिजाबेथ अस्पताल भेजने का फैलसा किया। बुधवार की रात 11:30 बजे एक एयर एम्बुलेंस से लड़की को उसके मां-बाप सहित सिंगापुर के इस अस्पताल के लिए रवाना किया गया।  इसी अस्पताल में पीड़िता ने शनिवार रात 02:15 बजे आखिरी सांस ली। 
 
क्यों भेजा गया सिंगापुर के माउन्ट एलिजाबेथ अस्पताल:
 
गौरतलब है कि, सिंगापुर के इसी अस्पताल में अभिनेता रजनीकांत और नेता अमर सिंह का भी इलाज किया जा चुका है। इन दोनों का ऑर्गन ट्रांसप्लांट किया गया था। ऐसा माना जा रहा है कि सिंगापुर में ऑर्गन ट्रांसप्लांट के मामले में कानून काफी नरम हैं जबकि, भारत में इस सम्बन्ध में प्रक्रिया काफी जटिल है। माना जा रहा है की पीड़िता का भी ऑर्गन ट्रांसप्लांट किया जाना है और यही वजह है कि उसे भी सिंगापुर के इस हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया है। 
 
सिंगापुर में बना 373 बिस्तर वाला माउंट एलिजाबेथ अस्पताल एक निजी संस्था पार्कवे हेल्थ द्वारा संचालित है. यह 1976 में शुरू किया गया लेकिन, आधिकारिक तौर पर इस अस्पताल ने आठ दिसंबर 1979 से काम करना शुरू किया। यह हॉस्पिटल कार्डियोलॉजी, ऑन्कोलॉजी, न्यूरोसाइंस में विशेषज्ञता के लिए जाना जाता है। 1995 के बाद से, यह हॉस्पिटल पार्कवे होल्डिंग्स लिमिटेड के स्वामित्व में है।
 
अन्य विशेषताएं
 
इस अस्पताल में कुल 15 वार्ड हैं। 
यहां 20 बिस्तर वाला क्रिटिकल केयर यूनिट है।
इस हॉस्पिटल में 15 बिस्तर वाला हाई डिपेंड़ेंसी केयर यूनिट है। 
यहां मेजर ऑपरेटिंग थियेटर युक्त 12 ऑपरेशन रूम हैं जो IVF उपचार के लिए बनाए गए हैं। 
 
देखिए, इस अस्पताल की कुछ तस्वीरें 

यह भी पढ़ें


दिखावा था सिंगापुर ले जाना? पहले से तय था कि लड़की का बचना नामुमकिन


पढ़ें- क्‍या थी 'दामिनी' की आखिरी इच्‍छा


दिल्‍ली गैंगरेप: पीडि़त लड़की की मौत, दिल्‍ली में गुस्‍सा


दिल्ली गैंगरेप : इलाज कर रही डॉक्टर ने बयां की दरिंदगी की असली कहानी!


हर 40 मिनट में एक बलात्‍कार, 25 मिनट में छेड़छाड़


गुस्से से बॉलीवुड, 'रेपिस्ट को मारो गोली, बना डालो नपुंसक'


जानिए, चरम बर्बरता की इस घटना पर सभ्य समाज की प्रतिक्रिया


बिगड़ रही है पीड़िता की हालत, खून में फैल गया है इंफेक्‍शन


पहचान परेड से इंकार, बाप बोला-बलात्‍कारी को फांसी पर चढ़ाओ


महिला वैज्ञानिक बोलीं- लड़की छह लोगों से घिर गई थी तो समर्पण क्यों नहीं कर दिया?


आठ दोस्तों के साथ किया पत्नी का गैंगरेप, नेता ने दी नसीहत- तन ढंक कर रखें लड़कियां


सिपाही की मौत पर कौन बोल रहा झूठ- चश्‍मदीद या दिल्‍ली पुलिस?


पुलिस की राय में इन कारणों से होते हैं रेप


पढि़ए- युवा क्रांति के सबक


'तिहाड़ में आरोपी को पिलाया पेशाब


'सख्‍त' कानून बनने के बाद भी बीवी से बलात्‍कार की रहेगी 'छूट'!



 

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
5 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment