Home » New Delhi » News » Nursery Admissions Starts

45 प्वाइंट में मुश्किल तो 50 में दाखिला सुरक्षित

भास्कर न्यूज | Jan 19, 2013, 04:40AM IST
45 प्वाइंट में मुश्किल तो 50 में दाखिला सुरक्षित

नई दिल्ली



नर्सरी दाखिले की दौड़ में दर्जनभर स्कूलों में आवेदन के बावजूद चिंतित अभिभावक घबराएं नहीं। बीते दो दिनों में जारी कई नामचीन स्कूलों की दाखिला सूची को देखकर तो यही कहा जा रहा है कि इस बार 45 प्वाइंट में दाखिला मुश्किल है लेकिन 50 प्वाइंट को सुरक्षित माना जा रहा है। हालांकि अभी तक जारी दाखिला सूची में बीते सालों की ही तरह सिबलिंग, एल्युम्नॉय के साथ-साथ नेबरहुड का बोलबाला है।



एडमिशन नर्सरी डॉट कॉम के संयोजक सुमित वोहरा बताते हैं कि बीते सालों के मुकाबले इस बार अभिभावकों की ओर से बहुत सोच समझ कर आवेदन किए गए हैं नतीजतन कुछ एक ऐसे विकल्प जरूर हाथ लगेंगे जोकि दाखिले की मुश्किल आसान बनाएंगे। सुमित वोहरा कहते हैं पहले तो प्वाइंट सिस्टम और दूसरी आवेदन प्रक्रिया खत्म होने के बाद लगातार प्रशासन के दबाव के चलते एपीजे पीतमपुरा, मॉडर्न स्कूल व विवेकानंद ग्लोबल स्कूल की ओर से प्वाइंट सिस्टम को लेकर बदलाव व स्पष्टीकरण भी अभिभावकों के लिए दाखिले की राह आसान बना रहा है।



एक अभिभावक अनिकेत आनंद बताते हंै कि पूर्वी दिल्ली व सेंट्रल दिल्ली के करीब 15 स्कूलों में उन्होंने अपनी बिटिया के दाखिले के लिए आवेदन किया है। वह कहते हैं कि उन्हें नेबरहुड, फस्र्ट गर्ल चाइल्ड व गर्ल चाइल्ड के प्वाइंट मिलने वाले हैं और ऐसे में करीब दो से तीन स्कूलों में नंबर आ सकता है। अनिकेत बताते हैं कि अभी तक जारी डीपीएस इंटरनेशनल, आरके पुरम में अधिकतम प्वाइंट 80 और न्यूनतम प्वाइंट 45 आए हंै, इसी तरह बालभवन इंटरनेशनल स्कूल, द्वारका में अधिकतम 70 व न्यूनतम 50 प्वाइंट रहे हैं। शुक्रवार को जारी दाखिला सूची के तहत डीपीएस, द्वारका की ओर से जारी 117 उम्मीदवारों की सूची देखें तो यहां न्यूनतम प्वाइंट भले ही 45 रहे हों लेकिन यहां सिबलिंग, एल्युम्नॉय के आवेदकों की संख्या ज्यादा है।

  
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 6

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment