Home » Haryana » Ambala » Aachar Sanhita, Development Stopped

आचार संहिता लागू होने से तीन करोड़ रुपए के विकास कार्यों पर ब्रेक

bhaskar news | May 10, 2013, 06:22AM IST
आचार संहिता लागू होने से  तीन करोड़ रुपए के विकास कार्यों पर ब्रेक

अम्बाला. चुनाव आयोग द्वारा प्रदेश में दो जून को नगर निगम चुनावों की घोषणा के साथ ही आचार संहिता लागू हो गई है। इस वजह से अब ट्विनसिटी में शुरू होने वाले विकास कार्यो पर ब्रेक लग गया है। नगर निगम द्वारा सिटी व कैंट में इस महीने 3.28 करोड़ रुपए के टेंडर कुछ दिन पहले ही कॉल किए गए थे।


 


इनके वर्क ऑर्डर अभी पास नहीं हुए थे, इन कार्यो को अब चुनाव के बाद कराया जाएगा। कैंट नगर निगम क्षेत्र के ज्यादा कार्य प्रभावित हुए हैं। कुछ दिन पहले ही 2.78 करोड़ रुपए के करीब 50 टेंडर हुए थे। इसके अलावा सिटी नगर निगम के 50 लाख की लागत से 12 टेंडर फंस गए हैं। ज्यादा कार्य गली-मोहल्लों में सड़कों के निर्माण से जुड़े हैं, जबकि कुछ कार्य नाले व नालियों की मरम्मत के हैं। उधर, चुनावों की घोषणा होते ही राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है।


 


प्रदेश सरकार ने 17 मार्च 2010 को नप भंग कर दी थी। इसके बाद चुनावों की घोषणा नहीं की गई थी। निगम के गठन पर सवाल उठाते हुए इसके विरुद्ध हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इस वजह से चुनाव की घोषणा तक नहीं हो सकी थी। इन तीन वर्षो में निगम बिना पार्षदों के चलती रही।


 


2005 में हुए थे चुनाव: इससे पहले नगर परिषद के चुनाव 16 अप्रैल 2005 में हुए थे। कार्यकाल 2010 में खत्म हुआ था, लेकिन फिर से चुनाव कराने के बजाए सरकार ने निगम के गठन की घोषणा कर दी थी। अब आठ वर्षो बाद नगर निगम में चुनावी बिगुल बजेगा। चुनाव के लिए 22 जून तक नामांकन मांगे गए हैं।


 


मुश्किलों भरा होगा चुनाव


नगर निगम का चुनाव लड़ना प्रत्याशियों के लिए महंगा साबित होगा। पहले कैंट और सिटी नगर निगम में 62 वार्ड थे। कैंट में 31 व सिटी में भी 31 वार्ड थे। निगम बनने से वार्डबंदी के समीकरण बदल गए थे। सिटी में 20 और कैंट में नौ वार्ड किए गए। एक से 11 अम्बाला सिटी के वार्ड हैं, 12 से 20 तक वार्ड नं. कैंट के हैं।


 


यहां रुके विकास कार्य


ब्रrाकुमारी आश्रम रोड, अजीत नगर, दो रोड प्रोफेसर कॉलोनी व छबियाना में, चार रोड टांगरी पार अर्जुन नगर, मतिदास नगर, शिव प्रताप नगर में, दयाल बाग में पांच सड़कें, महेश नगर में नाले व पुलिया की मरम्मत, गोबिंद नगर में तीन सड़कें व अन्य स्थानों पर इसी महीने होने वाले विकास कार्य रुक गए हैं।


 


अनुसूचित जाति का होगा मेयर


निगम में इस बार अनुसूचित जाति से मेयर होगा। चाहे वह महिला हो या पुरुष। इसके अलावा 12 नंबर वार्ड बीसी वर्ग के लिए रिजर्व है जबकि 15 नंबर महिला और 20 नंबर एससी श्रेणी के लिए रिजर्व रखा गया है। शेष वार्ड सामान्य वर्ग के प्रत्याशी भाग्य आजमाएंगे।

  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print Comment