Home » Haryana » Ambala » Kali Could Swim

कलयुग में भी तैर सकता है आपके नाम का पत्थर

Bhaskar News | Dec 05, 2012, 05:31AM IST
कलयुग में भी तैर सकता है आपके नाम का पत्थर
अम्बाला.  राम नाम का पत्थर सतयुग में समुद्र में तैरा। लेकिन कलयुग में विज्ञान की खोज से अब किसी के भी नाम का पत्थर पानी में तैर सकता है। असल में यह प्यूमिक पत्थर है। जो पानी में तैरता है और एक्सपो प्रदर्शनी में अमित साइंटिफिक ट्रेडर्स स्टॉल पर शहर के लोगों की इसी वजह से खूब भीड़ है।
 
इस प्रदर्शनी को अम्बाला साइंटिफिक इंस्ट्रूमेंट्स मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन की ओर से लगाया गया है। पीएचडी चैम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज एवं एमएसएमई करनाल इसकी सहयोगी संस्था है। सोमवार को इस एक्सपो प्रदर्शनी का अंतिम दिन रहा।
 
पत्थर से बनता है कॉस्मेटिक पाउडर व नमक
 
सुबह सवेरे नहा धोकर हम जिस पाउडर को शरीर पर छिड़क कर महकते हैं, वह पत्थर घिस कर बनता है।जी हां, टैलकम पत्थर से कॉस्मेटिक पाउडर बनता है। यह पत्थर बड़ा ही मुलायम होता है। इससे पाउडर निर्माता कंपनियां पाउडर को तैयार करती है।
 
इसके अलावा इस पत्थर से खाद, रबड़ व पेंट्स भी बनता है। अमित साइंटिफिक ट्रेडर्स से अमित जैन ने कहा कि स्टॉल पर अद्भुत व महत्वपूर्ण पत्थर शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों की जानकारी के लिए लगाए गए हैं। 
 
मैकेनिकल कारबुरेटर की बजाए इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस
 
प्रदर्शनी में मोहन ब्रदर्स के मैनेजिंग पार्टनर विवेक शर्मा ने कहा कि ऑटो मोबाइल सेक्टर में अब मैकेनिकल कारबुरेटर की बजाए इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल होगा। शर्मा ने कहा कि मैकेनिकल कारबुरेटर में कचरा फंस जाने या अन्य छोटी मोची दिक्कत आने से गाड़ी का इंजन स्टार्ट नहीं होता था लेकिन यह इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पूरी तरह कंप्यूटर सॉफ्टवेयर पर आधारित है।
 
इसलिए इंजन को यह अपने तरीके से कंट्रोल करेगी। शर्मा ने कहा कि मार्केट में आ रही नई मॉडल्स की गाड़ियों में इस डिवाइस को लगाया गया है। इस डिवाइस की लाइफ मैकेनिकल कारबुरेटर के मुकाबले अधिक है। अम्बाला में तीसरी बार लगे व्यापार मेले में 110 स्टॉल लगाए थे। इसमें अम्बाला से 69, विदेशी कंपनियों के 6 और अन्य जिलों से आए व्यापारियों के 35 स्टॉल थे। एसोसिएशन के प्रधान अमरजीत सिंह ने कहा कि अम्बाला व यमुनानगर में तकनीक शिक्षा का प्रचलन बढ़ा है। 
 
 
खोखले पत्थर से बनते हैं नग व मोती
 
 
पत्थर ठोस व मजबूत हैं। यह जानकारी हर किसी को है। लेकिन प्रदर्शनी में फ्लैक्सिबल सैंड स्टोन (लचीला रेतीला पत्थर) ऐसा पत्थर है। जो रबड़ की तरह लचकदार है। प्रदर्शनी में यह पत्थर विद्यार्थियों व लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। इसी तरह समुद्र तल से मिलने वाला फ्लीट स्टोन ऐसा पत्थर है जो नारियल या खोपे के गुट की तरह अंदर से खोखला होता है। इसमें पानी वाले जीव रहते हैं। इसका इस्तेमाल नग व मोती बनाने में किया जाता है। इसके अलावा पैगमाटाइट ऐसा अद्भुत पत्थर है जो सात तरह के पत्थरों से मिलकर बना है। इसमें काला माइका, टूर्मेलीन, क्वाटर्स, फैलस्पर, क्वाटोजाइट, हरा माइका, फोसिलवुड जैसे पत्थर शामिल है।
 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
7 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment