Home » Haryana » Gurgaon » Be Careful On Ralway Track In Fog

धुंध में दबे पांव आ सकती है रेलवे लाइन पर मौत

Dainik Bhaskar News | Dec 29, 2012, 06:01AM IST
धुंध में दबे पांव आ सकती है रेलवे लाइन पर मौत

गुडग़ांव। लापरवाही के चलते रेलवे लाइन पर बैठकर ट्रेन का इंतजार कर रहे यात्रियों के लिए कोहरा कभी भी कहर बन सकता है। ऐसी स्थिति में जब कोहरे के कारण15 मीटर दूर आती रेल दिखाई नहीं देती, तब भी गुडग़ांव के रेलवे स्टेशन पर सैकड़ों यात्री रोजाना  रेलवे लाइन पर ही बैठक गाड़ी का इंतजार करते हैं। ऐसे में रेल के रूप में मौत दबे पांव आकर उन्हें कभी भी दबोच सकती है। इस डर से जीआरपी और आरपीएफ लोगों को जागरूक भी कर रही है, लेकिन यात्रियों न कानून का डर है और न ही मौत का।


गुरुवार रेलवे स्टेशन पर घने कोहरे के बीच भी लोग रेलवे लाइन पर बैठकर ट्रेन का इंतजार करते रहे थे। हालत यह थी कि जिस पटरी पर यात्री बैठे थे, उससे अगली पटरी पर ही ट्रेन सरपट दौड़ी चली आ रही थी। यहां तक कि वह ज्यादा दूर से दिखाई भी नहीं दे रही थी। बावजूद इसके दो दर्जन यात्री पटरी पर ही बैठे रहे। न केवल पुरुष बल्कि महिलाएं भी अपने साथ बच्चों को लेकर कई बार रेलवे लाइन पर बैठे देखी जा सकती हैं।


नहीं मानते लोग : जीआरपी के एसएचओ जयवीर के मुताबिक बार-बार सख्ती बरती जाती रही है और यात्रियों को समझाया भी जाता रहा है। घने कोहरे में भी लोग रेलवे लाइन पर बैठकर रेल का इंतजार करते हैं। इससे दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है।


हो चुकी हैं 120 मौतें


रेलवे पुलिस के मुताबिक वर्ष 2012 में अब तक रेलवे लाइन पर 120 मौतें हो चुकी हैं। इसमें से 90 पुरुष, 30 महिलाएं व बच्चे शामिल हैं। रेलवे सूत्रों ने बताया कि सर्दी के तीन माह दिसंबर, जनवरी व फरवरी में धुंध के दौरान ही रेलवे लाइन पर मौतों का आंकड़ा 50 से अधिक पहुंच जाता है। जीआरपी के मुताबिक बार-बार यात्रियों को रेलवे लाइन पर बैठने और रेलवे लाइन क्रास करने से मना किया जाता है, लेकिन इसके बाद भी रेलवे लाइन पर मरने वालों का आंकड़ा हर साल बढ़ रहा है। वर्ष 2010 में 99 मौतें हुई थी, जो वर्ष 2011 में 110 हो गई। वर्ष 2012 अभी समाप्त भी नहीं हुआ है, लेकिन अब तक रेलवे लाइन पर मरने वालों की संख्या 120 पहुंच गई है।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 1

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment