Home » Haryana » Gurgaon » Fire Bans In Many Vehicles

पुलिसवालों पर टूटा लोगों के गुस्से का कहर, कई वाहनों में लगाई आग

भास्कर न्यूज | Dec 21, 2012, 01:02AM IST
पुलिसवालों पर टूटा लोगों के गुस्से का कहर, कई वाहनों में लगाई आग
नूंह/ गुड़गांव.  ओवरलोड व तेज रफ्तार डंपर आए दिन अनियंत्रित होकर लोगों की जान के दुश्मन बने हैं। गुरुवार को नूंह के होडल चौक पर  एक तेज रफ्तार डंपर ने अनियंत्रित होकर करीब आधा दर्जन वाहनों को टक्कर मार दी।
 
दुर्घटना में डंपर ने करीब आठ लोगों को कुचल दिया। डंपर से कुचले जाने पर एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सात लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दुर्घटना से नाराज लोगों ने मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों पर पथराव किया और जमकर पीटा। भीड़ ने पुलिस की जीप, रोडवेज बस व एक अन्य गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया। 
 
दुर्घटना स्थल पर मौजूद असलम, शफीक, सुहैब ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब 11 बजे रोड़ी से भरा हाइवा डंपर संख्या एचआर 74-6262 अलवर की ओर से तेज रफ्तार से आ रहा था। नूंह के होडल चौक पर अनियंत्रित डंपर ने ऑटो को टक्कर मारने के साथ ही ऑल्टो कार व एक बाइक सवार को भी कुचल दिया।
 
बाइक सवार को टायरों के नीचे दबाते हुए डंपर करीब 15 फीट तक ले गया और मैक्सी कैब व हाइवा को टक्कर मारने के बाद बिजली के खंभे में टक्कर मार दी। मृतक बाइक सवार की पहचान गांव सूडाका निवासी आस मोहम्मद के रूप में हुई है।
 
इसके अलावा गांव रायपुरी निवासी इकबाइल, नूंह निवासी लियाकत, फिरोजपुरनमक निवासी मोहम्मद आजीम, घासेडा निवासी आस मोहम्मद, टांई निवासी ईसब, नौसेरा निवासी वाहिद और सुनारी-तावडू निवासी किशन भी दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए। स्थानीय लोगों ने सब को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया, जहां से उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया गया।
 
 
दुर्घटना के करीब 20 मिनट बाद पुलिस बल मौके पर पहुंचा। तब तक वहां लोगों की भीड़ जमा हो चुकी थी। पुलिस को देखते ही लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और नारेबाजी करते हुए लोगों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी। हमले में कांस्टेबल कृष्ण, संजय, पीसीआर चालक वाजिद खान सहित डीएसपी सुखबीर सिंह को भी चोटें आई हैं। 
 
पुलिसकर्मी किसी प्रकार जान बचाकर मौके से भागे, लेकिन लोगों का गुस्सा तब भी शांत नहीं हुआ। लोगों ने वहां खड़ी पुलिस की गाड़ी व अन्य वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस की जिप्सी, हरियाणा रोडवेज की पलवल डिपो की बस व मैक्स पिकअप गाड़ी पर पथराव के बाद लोगों ने तीनों वाहनों को फूंक दिया। आगजनी की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा और उग्र भीड़ को वहां से खदेड़ दिया।
 
  सूचना मिलते ही उपायुक्त वजीर सिंह गोयत व पुलिस कप्तान सुखबीर सिंह मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। मौके पर मौजूद स्थानीय लोगों को समझाने के साथ ही सड़क पर जल रहे वाहनों को क्रेन की सहायता से हटाया गया। पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी है। 
 
पुलिस टीम कर रही थी डंपर का पीछा
 
स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि मेवात पुलिस रिश्वत लेकर ओवरलोड डंपरों को सड़कों पर दौड़ने देती है। गुरुवार सुबह भी दुर्घटना करने वाले डंपर का पुलिस की एक गाड़ी पीछा कर रही थी, लेकिन दुर्घटना के बाद पुलिसकर्मी वहां से फरार हो गए। घायलों को अस्पताल ले जाना भी उन्होंने जरूरी नहीं समझा। सूचना देने के करीब 25 मिनट बाद पुलिस मौके पर पहुंची। लोगों का आरोप है कि यदि पुलिस समय रहते कार्रवाई करती तो आरोपी डंपर चालक को गिरफ्तार किया जा सकता था।
 
 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
8 + 10

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment