Home » Haryana » Rohtak » Now The Children Will Be Taught In CBSE Hospitality

अब सीबीएसई में बच्चों को सिखाया जाएगा अतिथि सत्कार

bhasker news | Jan 10, 2013, 04:54AM IST
अब सीबीएसई में बच्चों को सिखाया जाएगा अतिथि सत्कार

रोहतक. सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक विद्यालय शिक्षा बोर्ड) शिक्षा को व्यावहारिक और कौशल आधारित बनाने के उद्देश्य से विद्याॢथयों को अतिथि सत्कार भी सिखाने जा रहा है। इसके लिए नए शैक्षणिक सत्र (2013-2014) से आतिथ्य और पर्यटन से संबंधित पांच व्यावसायिक कोर्स शुरू किए जाएंगे।



इसमें 11वीं और 12वीं के विद्यार्थी वैकल्पिक विषयों के तौर पर लाभ लेंगे। अभी यह कोर्स चुनिंदा स्कूलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू होंगे। इसमें आगामी शैक्षणिक सत्र से 9वीं और 10वीं कक्षा में यह कोर्स शामिल होंगे।


ये पांच कोर्स किए शुरू
बोर्ड ने फूड प्रोडक्शन, खाद्य एवं पेय, फं्रट ऑफिस प्रबंधन, बेकरी एवं मिष्ठान और आतिथ्य एवं पर्यटन क्षेत्र कोर्स शुरू किए हैं। स्कूलों में यह कोर्स शुरू करने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की मांग की है।



शिक्षा को रोजगारपरक बनाएगा सीबीएसई
एमडीएन स्कूल के प्राचार्य डॉ. आरएस पंवार ने बताया कि वैश्वीकरण की शुरुआत के साथ भारत में आतिथ्य उद्योग एक खुले रोजगार के रूप में सामने आ रहा है। आतिथ्य एवं पर्यटन क्षेत्र में न केवल घरेलू, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी रोजगार की अपार संभावनाएं हैं।


हर साल करीब ढाई लाख नौकरियां निकलती हैं। ऐसे में सीबीएसई ने शिक्षा को रोजगारपरक करने के उद्देश्य से यह फैसला लिया है। यह निर्णय 11वीं और 12वीं कक्षा के विद्याॢथयों के भविष्य के लिए काफी लाभदायक साबित होगा।



प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश लेना होगा आसान
बाबा बंदा बहादुर पब्लिक स्कूल के प्राचार्य राजेश जैन ने बताया कि अगर विद्यार्थी इन कोर्स का लाभ लेता है तो देश के आतिथ्य एवं होटल प्रबंधन से संबंधित प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश लेना आसान होगा, क्योंकि इन कोर्सेज का पाठ्यक्रम स्नातक विषयों के आधार पर ही बनाया जाएगा।


उन्होंने बताया कि विद्यार्थी इंजीनियरिंग और मेडिकल के साथ पर्यटन और आतिथ्य के क्षेत्र में भी जाएं, इसलिए यह कोर्स शुरू करने का निर्णय लिया है।

  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print
0
Comment