Home » Haryana » Panipat » The Rights Of Students To Be Aware Of The Message

छात्राओं को दिया गया अधिकारों के प्रति सजग रहने का संदेश

bhasker news | Dec 11, 2012, 04:50AM IST
छात्राओं को दिया गया अधिकारों के प्रति सजग रहने का संदेश

पानीपत. विधि विशेषज्ञ विकास रोहल ने कहा कि वर्तमान शिक्षित व विकसित युग में प्रत्येक व्यक्ति को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना जरूरी है। छात्राएं सजग होंगी तो कोई उनको नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। प्रदेश में हरियाणा मानवाधिकार आयोग भी इसी वर्ष 9 नवंबर से लागू हो चुका है।


कोई भी व्यक्ति इस आयोग में अपनी शिकायत कर सकता है। नागरिकों के अधिकारों के साथ कर्तव्य भी होते हैं। ये कर्तव्य हमारे संविधान में भी दर्ज किए गए हैं।


रोहल सोमवार को जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के उपलक्ष्य में मॉडल टाउन के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के सभागार में आयोजित समारोह में संबोधित कर रहे थे।



इस मौके पर अधिवक्ता प्रमोद खेड़ा ने बताया कि मानवाधिकारों की सुरक्षा के लिए सरकार ने मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम-1993 का निर्माण किया था। इस एक्ट के अंतर्गत राष्ट्रीय मानवाधिकार का गठन भी किया गया है।


मानवाधिकार का अर्थ है कि मनुष्य के जीवन, स्वतंत्रता, समानता तथा अधिकारों की रक्षा हो, जो हमें संविधान द्वारा प्रदान किए गए हैं। विशेषज्ञ पदमा रानी ने कहा कि वर्तमान युग में महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए कानून की जानकारी अति आवश्यक है।


आधुनिक युग में महिलाएं विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी रहकर समाज के सामने एक मिसाल कायम कर रही हैं। महिलाओं के लिए न्यायालयों में जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण का गठन किया गया है।


इस प्राधिकरण के तहत पात्र महिलाओं की निशुल्क रूप से कानूनी सहायता तथा पैरवी की जाती है। विद्यालय के प्रधानाचार्य नफे सिंह सांगवान ने छात्राओं का आह्वान किया कि इस कार्यक्रम से जो सीखा है, उसे जीवन में भी अपनाएं।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 2

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment