Home » Himachal » Shimla » BJP's' Mission Repeat 'to' Mission Defeat "By Turning The Promise Of Good Governance By Virbhadra

भाजपा के ‘मिशन रिपीट’ को ‘मिशन डिफीट’ में बदल कर वीरभद्र ने किया सुशासन का वादा

bhaskar.com | Dec 21, 2012, 01:27AM IST
भाजपा के ‘मिशन रिपीट’ को ‘मिशन डिफीट’ में बदल कर वीरभद्र ने किया सुशासन का वादा

वीरभद्र सिंह ने चुनाव की कमान ठीक उसके बाद संभाली, जब उन पर केंद्र में करप्शन के आरोप लगे और उन्हें मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा।


हिमाचल में पार्टी के दिग्गज उनके खिलाफ थे। कई नेता अंदरखाते अपने ही कुछ कैंडिडेट्स को हराने के लिए काम कर रहे थे।


अपनों से निपटने और भाजपा को जवाब देने के लिए वीरभद्र लोगों के बीच गए। 'मिशन रिपीटÓ का नारा देकर फिर से सत्ता में आने का सपना देख रही भाजपा को पटखनी देने की रणनीति तैयार की।


नतीजा सबके सामने है। 2007 के चुनाव में 41 सीट जीतकर सत्ता में आने वाली प्रेमकुमार धूमल की भाजपा सरकार 26 पर सिमट गई। वहीं, कांग्रेस का आंकड़ा 22 से बढ़कर 36 पहुंच गया।


जीत के बाद वीरभद्र सिंह ने कहा-'मुझे मेंडेट (जनादेश) मिला, लोगों ने मुझ पर भरोसा जताया...लो मैंने कर दिखाया।Ó कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के नाते वीरभद्र लोगों को स्वच्छ सरकार देने का वादा कर रहे हैं।


बधाई हो वीरभद्र जी, अब वादे पूरे कीजिएगा: धूमल


मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल ने हार स्वीकारते हुए कहा,' कांगड़ा जिले में हार की वजह से पार्टी को नुकसान हुआ है।  


विकास के मुद्दे को जनता ने तवज्जो नहीं दी। 5-5 साल की बारी वाली नीति ही अपनाई।


वीरभद्र सिंह को जीत की बधाई।


उन्होंने जनता से जो वादे किए हैं, अब उन्हें पूरा करने का वक्त है।

  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print Comment