Home » Himachal » Shimla » The Minister Said Ramkumar Must Surrender

मंत्री बोले रामकुमार को करना चाहिए समर्पण

भास्कर न्यूज | Dec 30, 2012, 06:40AM IST
शिमला। ज्योति मर्डर मामले में आरोपी विधायक राम कुमार को लेकर कांग्रेस के मंत्रियों ने अपना रुख साफ कर दिया है। सत्तारूढ़ कांग्रेस के मंत्रियों ने राम कुमार को आत्म समर्पण करने का सुझाव दिया है।
 
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस मामले में स्पष्ट कर दिया है कि अगर राम कुमार हिमाचल पुलिस के हाथ लगता है तो उसे हरियाणा पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। 
 
39 दिन से अंडरग्राउंड
 
आरोपी विधायक रामकुमार 39 दिनों से गायब हैं। 20 दिसंबर को विधान सभा चुनाव परिणाम आने पर जब रामकुमार विजयी घोषित हुई तो वह जनता के बीच आए।
 
हिमाचल की पुलिस मौके पर मौजूद थी, लेकिन उस वक्त न तो विधायक को गिरफ्तार किया गया और न ही इसकी सूचना हरियाणा पुलिस को दी गई।
 
रैली के बाद राम कुमार कुछ समय के लिए अपने घर आए थे, उस वक्त उनके घर के बाहर पुलिस तैनात थी। मौके पर तो विधायक को नहीं पकड़ा गया, अब हिमाचल और हरियाणा पुलिस विधायक की तलाश में जुटी है।
 
छवि हुई खराब: वीरभद्र
 
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि ज्योति मर्डर केस में राम कुमार चौधरी के भागने से कांग्रेस पार्टी की छवि खराब हुई है। हिमाचल पुलिस रामकुमार को कतई बचाने की कोशिश नहीं करेगी।
 
निर्दोष हैं तो सामने आएं
 
आबकारी एवं कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी ने बताया कि रामकुमार को पुलिस के सामने समर्पण करना चाहिए। रामकुमार अपने आप को निदरेश समझते हैं तो वे पुलिस के सामने बेझिझक होकर आए। 
 
कानून कर रहा काम
 
ऊर्जा एवं कृषि मंत्री सुजान सिंह पठानिया ने कहा कि ज्योति मर्डर केस में कानून काम कर रहा है। अगर आरोप सिद्ध होते हैं तो कार्रवाई होनी चाहिए। 
 
न्याय मिलना चाहिए
 
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने कहा कि रामकुमार हो या फिर कोई और। कानून के अनुसार उसे सजा मिलनी चाहिए।
 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 4

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment