Home » Himachal » Shimla » Audition For The Sake Of Shivaratri Festival Will Be From One March

शिवरात्रि महोत्सव की खातिर एक मार्च से होंगे ऑडिशन

भास्कर न्यूज | Feb 24, 2013, 04:48AM IST
मंडी। अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के दौरान संध्याकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में कार्यक्रम में प्रस्तुत किए जाने वाले कार्यक्रमों की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए पहली बार सांस्कृतिक उपसमिति ने जिला के कलाकारों और सांस्कृतिक दलों के ऑडिशन का निर्णय लिया है।
 
इसके अतिरिक्त शिवरात्रि महोत्सव में हर दिन प्रदेश के अलग-अलग जिलों के कलाकार लोकनृत्य और लोक संस्कृति के रंग बिखेरेंगे। पहले द्वारा यह निर्णय लिया गया था कि बिना अधिकारी के सत्यापन के किसी भी कलाकार को मौका नहीं दिया जाएगा लेकिन शिवरात्रि के लिए 90 फीसदी से अधिक आवेदन बिना जिला लोक संपर्क अधिकारी या डीएलओ की संस्तुति के आ गए हैं।
 
निष्पक्ष होगा चुनाव
 
कलाकारों को निष्पक्षता से मौका देने के लिए जिला मंडी के सभी सांस्कृतिक दलों और आवेदनों को मौका देने का निर्णय लिया गया है। कलाकारों और सांस्कृतिक दलों के ऑडिशन के लिए किसी भी तरह की फीस या टीए डीए आयोजन समिति की ओर से नहीं दिया जाएगा।
 
चयन समिति को करें रिपोर्ट
 
ऑडिशन के लिए आने वाले तीनों उपमंडलों से संबंधित कलाकार और कला मंचों को उनके ऑडिशन के लिए निर्धारित तिथियों को विपाशा सदन मंडी में 11 बजे चयन समिति को रिपोर्ट करनी होगी।
 
400 से अधिक आवेदन पहुंचे
 
गुणवत्ता का ख्याल : शिवरात्रि महोत्सव के लिए पूरे प्रदेश से 400 से अधिक आवेदन आए हैं। इनमें सबसे अधिक जिला मंडी से ही संबंधित है। आवेदनों की अधिक संख्या और पहले आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों में गुणवत्ता पर उठे सवालों को देखते हुए ऑडिशन किया जाएगा।
 
स्क्रीनिंग होगी : कलाकारों की स्क्रीनिंग की जाएगी। प्रस्तुत किए जाने वाले कार्यक्रम पर भी अंतिम निर्णय चयन समिति का होगा। ऑडिशन के लिए गठित चयन समिति में सहायक लोक संपर्क अधिकारी कुलदीप गुलेरिया, पार्षद योगराज, रूपेश्वरी शर्मा और केआर पुंछी सदस्य बनाए गए हैं। 
 
विपाशा सदन में ऑडिशन : जिला मंडी से संबंधित जिन कलाकारों, कला मंचों तथा सांस्कृतिक दलों ने उपायुक्त एवं अध्यक्ष अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी को आवेदन किए हैं। इन कलाकारों और दलों के लिए ऑडिशन की तिथियां पहली से तीन मार्च निर्धारित की गई हैं।
 
तीन तक चयन : पहली मार्च को मंडी सदर उपमंडल से संबंधित कलाकार, और कला मंच जबकि सुंदरनगर, गोहर तथा द्रंग उपमंडल के लिए 2 मार्च और तरह करसोग, सरकाघाट तथा जोगेंद्रनगर से संबंधित कलाकारों और दलों के लिए 3 मार्च की तिथि ऑडिशन के लिए निर्धारित है।
 
सेरी मंच पर सांस्कृतिक संध्याएं करवाने की मांग
 
स्वयंसेवी देशराज शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने डीसी मंडी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंप कर शिवरात्रि मंच की सांस्कृतिक संध्याएं सेरी मंच पर आयोजित करने और मेले में आमंत्रित देवताओं के देवलां को विशेष अतिथि का दर्जा देने की मांग की गई। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मांडव की लोक कला एवं संस्कृति का ऐतिहासिक बॉठड़ा सेरी मंच से रागात्मक संबंध है और शिवरात्रि महोत्सव मेला की सांस्कृतिक संध्याएं दशकों से सेरी मंच की प्रमुख सांस्कृतिक गतिविधि है। ऐसे में कार्यक्रमों न करने का निर्णय संस्कृति व नियमों के विरुद्ध है। मंडी मेला में आमंत्रित देवताओं को सम्मान दिया जाए। देवताओं के साथ आए देवलुओं को विशेष अतिथि का दर्जा दिया जाए। इन मांगों को लेकर 28 फरवरी को सांकेतिक सत्याग्रह किया जाएगा।
 
टीए, डीए नहीं मिलेगा
 
ऑडिशन से शिवरात्रि महोत्सव की रात्रि संध्याओं में अच्छे और प्रतिभावान कलाकारों को अपनी कला का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा जबकि दर्शकों का भी भरपूर मनोरंजन होगा। इस प्रकार एक कला मंच अलग-अलग नामों से अपना कार्यक्रम नहीं दे पाएंगे जबकि नए कलाकारों को भी कार्यक्रम प्रस्तुत करने के अवसर मिलेगा। ऑडिशन के लिए टीए और डीए नहीं दिया जाएगा।
-गोपाल चंद, एडीसी एवं संयोजक सांस्कृतिक उपसमिति शिवरात्रि महोत्सव मंडी
  
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
8 + 2

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment