Home » International News » International » Interesting Facts About Sex Toys

आखिर क्यों दुनिया 'सुख' की चाहत में करती है सेक्स ट्वॉयज का इस्तेमाल!

Manoj Kumar Jha | Oct 24, 2013, 00:00AM IST
आखिर क्यों दुनिया 'सुख' की चाहत में करती है सेक्स ट्वॉयज का इस्तेमाल!
आज पूरी दुनिया में सेक्स ट्वॉयज का प्रचलन काफी बढ़ता जा रहा है। इसने एक इंडस्ट्री का रूप ले लिया है। दूसरे देशों की तरह भारत में भी सेक्स ट्वॉयज का कारोबार बढ़ रहा है, जबकि यह प्रतिबंधित है। फिर भी चोरी-छुपे कई महानगरों और दूसरे शहरों में भी यह कारोबार चल रहा है। मीडिया में सेक्स ट्वॉयज के अवैध कारोबार से संबंधित कई खबरें सामने आ चुकी हैं।
 
वैसे, देखें तो सेक्स ट्वॉयज कोई नई चीज नहीं हैं। प्राचीन काल में भी सेक्स के आनंद को बढ़ाने के लिए कृत्रिम साधनों का प्रयोग किया जाता था। महर्षि वात्स्यायन ने अपने प्रसिद्ध ग्रंथ 'कामसूत्र' में कृत्रिम लिंग के बारे में विस्तार से उल्लेख किया है। ये धातु, शीशे और लकड़ी के बने होते थे। दुनिया की दूसरी सभ्यताओं में भी कृत्रिम लिंग पाए गए हैं। पर उन दिनों संभवत: इन्हें सेक्स के खिलौने के रूप में नहीं देखा जाता था और न ही इनका कोई बाजार था। 
 
आज तकनीक के विकास की वजह से तरह-तरह के सेक्स ट्वॉयज बनाए जा रहे हैं। विश्व स्तर पर सेक्स ट्वॉयज का कारोबार कुल 15 बिलियन डॉलर का है। यह 30 फीसदी प्रतिवर्ष के हिसाब से बढ़ रहा है। उल्लेखनीय है कि दुनिया में अकेला चीन ही 70 फीसदी सेक्स ट्वॉयज का उत्पादन कर रहा है। स्वाभाविक है कि भारत और अन्य देशों में बिकने वाले अधिकांश सेक्स ट्वॉयज चीन-निर्मित ही होते हैं।
 
आगे की स्लाइड्स पर क्लिक कर जानें सेक्स ट्वॉयज से संबंधित जानकारी...
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 4

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment