Home » International News » International » Latest News mh370 And Malaysia Airlines

MH377: फर्जी पासपोर्ट लेकर विमान में सवार व्यक्ति की हुई पहचान

AGENCY | Mar 11, 2014, 09:30AM IST
MH377: फर्जी पासपोर्ट लेकर विमान में सवार व्यक्ति की हुई पहचान
कुआलालंपुर. मलेशिया एयरलाइंस की फ्लाइट एमएच 370 का अब तक कोई सुराग नहीं लग सका है। दस देशों के दर्जनों युद्धपोत और एयरक्राफ्ट बीते चार दिन से विमान की खोजबीन में लगे हुए हैं। यूरोप, अमेरिका और मलेशिया प्रशासन ने विमान पर अपहरण और हमले की आशंका से इनकार नहीं किया है। मलेशियाई स्पेशल ब्रांच, अमेरिकी और यूरोपियन खुफिया एजेंसी ने विमान के अपहरण और धमाके से उड़ाए जाने की आशंका जताई है। अमेरिकी सरकार ने बताया कि मलेशिया प्रशासन ने हमले के संकेत तो दिए है, लेकिन पुष्टि नहीं की है।  यूरोपियन एजेंसी ने कहा है कि अभी तक आतंकी हमले के संकेत नहीं मिले हैं। वहीं, अमेरिका ने भी कहा है कि बीच आसमान में विमान में धमाका करने के भी कोई सबूत नहीं मिले।
 

इसी बीच, मलेशिया के पुलिस चीफ खालिद अबुबकर ने ताजा बयान में कहा है कि चोरी के पासपोर्ट पर सफर करने वाला एक यात्री ईरान से थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस व्यक्ति का नाम अली हो सकता है, जिसकी उम्र 19 साल बताई जा रही है। हालांकि पुलिस चीफ ने बताया कि ईरानी व्यक्ति का नाम आतंकवाद से जोड़ना फिलहाल ठीक नहीं होगा। क्योंकि यह यात्री किसी दूसरे मुल्क में शरण लेने के लिए चोरी के पासपोर्ट पर यात्रा करने का मजबूर था। 

 

 

सर्च ऑपरेशन: चीन ने तैनात किए दस सैटेलाइट 
मलेशिया ने थाईलैंड की खाड़ी और दक्षिण चीन सागर के बाद अपने ऑपरेशन का दायरा अंडमान सागर तक बढ़ा दिया है। मलेशिया का तर्क है कि हो सकता है रास्ता से भटकने के बाद विमान कुछ देर के लिए अंडमान सागर तक आ गया हो। 
 
चीन ने विमान के सर्च ऑपरेशन में तेजी लाने के लिए अपने 10 सैटेलाइट दक्षिण चीन सागर के आसपास तैनात कर दिए हैं। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के मुताबिक, चीन का शिआन सैटेलाइट मोनीटर और कंट्रोल सेंटर इन दस हाई रिजोल्यूशन सैटेलाइट को कंट्रोल कर रहा है। ताकि घटनास्थल की तस्वीरों से सुराग मिल सकें। 
 
शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक, आर्मी सैटेलाइट की मदद से मौसम, कम्युनिकेशन और खोजबीन के सभी पहलुओं की निगरानी कर रही है। गौरतलब है कि फ्लाइट एमएच370 कुआलालंपुर से बीजिंग के रास्ते में दक्षिण चीन सागर के रास्ते में ही भटक गया था। इस विमान में सबसे ज्यादा यात्री चीनी नागरिक हैं। चीन ने यात्रियों के परिजनों के दबाव में मलेशिया से कहा है कि वह सर्चिग के काम में और ज्यादा तेजी लाए। उसने कहा कि मलेशिया को समझना चाहिए कि चीनी सरकार पर यात्रियों के परिजनों का कितना दबाव है। दस देशों के 34 प्लेन, 40 जहाज इस सर्च ऑपरेशन में लगे हैं।
 

शनिवार को हुआ था लापता
विमान बीते शनिवार को मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए निकला था। इसके बाद वह दक्षिण-पूर्व एशिया के आसमान से अचानक गायब हो गया। इसमें 239 यात्री सवार थे। जांचकर्ताओं को समझ नहीं आ रहा है कि इतना बड़ा विमान कहां गायब हो सकता है। यह पता लगाने की कोशिशें जारी हैं कि आखिर विमान के साथ क्या हुआ। अगर विमान क्रैश हुआ तो उसका अभी मलबा क्यों नहीं मिला। वहीं, यात्रियों के परिजन एयरपोर्ट और उसके आसपास डेरा जमा कर बैठे हैं। 
 

आगे पढ़ें: अब तक क्या पता चला और कहां अटक जाते हैं जांचकर्ता
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment