Home » Jharkhand » Dhanbad Zila » Dhanbad » Read This Information Prior To Use Condoms!

कंडोम का इस्तेमाल करने से पहले पढ़ लें यह खबर!

भास्कर न्यूज. | May 17, 2012, 00:05AM IST
कंडोम का इस्तेमाल करने से पहले पढ़ लें यह खबर!

जामताड़ा.यदि आप परिवार कल्याण के लिए सरकारी निरोध का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान रहें। स्वास्थ्य विभाग जामताड़ा इन दिनों लाभुकों के बीच एक्सपायरी निरोध बांट रहा है। इस एक्सपायरी निरोध के बारे में जानकारी मिलने के बाद से स्थानीय लोगों में काफी रोष है। इस बात का खुलासा भास्कर पड़ताल में हुआ है। लोगों का कहना है स्वास्थ्य विभाग लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के बदले एक्सपायर्ड निरोध का वितरण कर रहा है। लोगों ने कहा कि सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है। सरकार स्वास्थ्य सेवा के प्रति गंभीर नहीं है। परिवार नियोजन का लाभ लोगों को देने में सरकार पूर्णत: विफल साबित हो रही है। ऐसे स्थिति में सरकार द्वारा एक्सपायरी कंडोम का वितरण करना न केवल लाभुकों के स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही बरत रही है वहीं दूसरी ओर इसको व्यवहार करनेवाले लोगों को अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। हालांकि इस संबंध में जामताड़ा के सिविल सर्जन डॉ वीके साहा ने एक्सपायरी निरोध स्वास्थ्य विभाग द्वारा बांटे जाने के बारे में अनभिज्ञता दिखाते हुए कहा कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। यदि जिले में एक्सपायरी निरोध बांटा जा रहा है तो वैसे निरोध को वापस लिया जाएगा। और नया निरोध जो मंगाया गया है उसका वितरण किया जाएगा।

 

वर्तमान समय में अनिवार्य है कंडोम का इस्तेमाल

 

परिवार नियोजन व यौन संक्रमित रोगों से बचाव के लिए निरोध (कंडोम) का उपयोग वर्तमान समय में अनिवार्य है। जागरूकता लाने के ख्याल से इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी जामताड़ा इकाई की ओर से सभाकक्ष के सामने बरामदा में दो अलग जगहों पर कूट के डब्बा में सैकड़ों की संख्या में नित्य दिन कंडोम रखे जाते थे। जरूरतमंद लोग बिना किसी के इजाजत के नि:शुल्क कंडोम ले सकते हैं। एड्स जैसी लाइलाज बीमारी से मुक्ति पाने के लिए रेडक्रॉस के माध्यम से आजमाए जाने वाले यह विकल्प कारगर सिद्ध भी हो रहे थे। लेकिन मंगलवार को रेड क्रॉस सोसायटी के सचिव राजेंद्र शर्मा की ओर से पत्र भेज सीएचसी जामताड़ा के प्रथम चिकित्सा पदाधिकारी से 12 हजार निरोध आपूर्ति किए जाने की मांग की गई थी। लेकिन उनकी मांग को स्वीकृति नहीं मिल सकी। इस बाबत सीएचसी स्टोरकीपर छवि कुमारी ने बताया कि गत दिनों 16 हजार निरोध की आपूर्ति हुई थी। प्रभारी सिविल सर्जन जामताड़ा डॉ. विनोद साहा के आदेशानुसार सभी निरोध सहिया लोगों की आहूत मीटिंग में ही वितरित कर दी गई।

 

उन्होंने कहा कि सीएस कार्यालय के माध्यम से प्राप्त आदेश पत्र में यह भी जिक्र है कि निरोध वितरण, माला एन व अन्य गोलियां सभी पंचायत की सहिया करेंगी। निरोध का वितरण एएनएम भी नहीं कर सकती हैं। हालांकि सुश्री कुमारी ने कहा कि फिलहाल स्टॉक में निरोध की उपलब्धता नहीं है।

 

शरीर को भी पहुंच सकता है नुकसान

 

"स्वास्थ्य विभाग जामताड़ा द्वारा लोगों के सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है। इस प्रकार की दवाओं से निर्मित निरोध का वितरण स्वास्थ्य विभाग को नहीं करना चाहिए। इससे मानव शरीर को क्षति पहुंच सकता है। इस बात से स्पष्ट होता है कि सरकार लोगों के स्वास्थ्य के प्रति गंभीर नहीं है।" - बाबू मुखर्जी, कोर्ट रोड, निवासी.

 

दो माह पुराना निरोध बांट रहा विभाग

 

"लोग परिवार नियोजन के लिए इस प्रकार के सामान का व्यवहार करते हैं। परंतु विभाग और सरकार की उपेक्षा के कारण लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पाएगा। स्वास्थ्य विभाग जामताड़ा द्वारा बांटी जा रही है यह निरोध मार्च 2012 में ही एक्सपायर हो गया है। दो माह से स्वास्थ्य विभाग जिलेवासियों को इस प्रकार का कंडोम बांट रहा है, जो सरासर गलत है।" - फिरोज सिंह, कोर्ट रोड निवासी.

 

ग्रामीणों को नहीं होती जानकारी

 

"स्वास्थ्य विभाग द्वारा सहियाओं के माध्यम से सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में भी कंडोम का वितरण किया जाता है। शहर के लोगों को दो माह बाद तो इस बात का पता चल गया कि निरोध एक्सपायरी है परंतु ग्रामीण क्षेत्र में इस बात का पता चलना मुश्किल होगा और लोग इससे होनेवाले हानि का शिकार होंगे। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही को उजागर करती है।" - राघव चंद्र पाल, बेवा ग्राम निवासी.

 

पुराने के बदले नया कंडोम बंटेगा

 

"इस संबंध में जानकारी मिली है जल्द कार्रवाई की जाएगी। कंडोम का नया स्टॉक जिला में आ गया है पुराने को वापस लिया जाएगा और लोगों के बीच नए कंडोम का वितरण किया जाएगा। इस कार्य को अविलंब करवा लिया जाएगा। हालांकि पुराने कंडोम ने कोई खतरा नहीं है। इसके व्यवहार के समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि यह फटे नहीं। कंडोम का व्यवहार यौन रोग से बचने और परिवार नियोजन के लिए किया जाता है।' - डॉ वीके साहा, सिविल सर्जन, जामताड़ा.

Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 3

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment