Home » Madhya Pradesh » Gwalior » केपी के गढ़ में जनता का आशीर्वाद मांगेंगे सीएम

केपी के गढ़ में जनता का आशीर्वाद मांगेंगे सीएम

Matrix News | Jul 21, 2013, 04:24AM IST
भास्कर संवाददाता. शिवपुरी
प्रदेश में तीसरी बार सत्ता में आने की तैयारियों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी जन आशीर्वाद यात्रा १९ अगस्त को शिवपुरी जिले के खनियांधाना से शुरू करेंगे। इस क्षेत्र में सभा का महत्व और भी बढ़ जाता है क्योंकि यह पिछोर के कांग्रेस विधायक केपी सिंह का गढ़ माना जाता है।
19 अगस्त को खनियांधाना में यात्रा की शुरुआत होने के बाद दूसरे चरण में यह यात्रा 31 अगस्त को श्योपुर से पोहरी आएगी। पोहरी में 31 अगस्त को सीएम की आमसभा होगी, इसके बाद पोहरी से सिरसौद गांव होकर ग्वालियर बायपास होती हुई, सीधे कोलारस विधानसभा पहुंचेगी। कोलारस विधानसभा में आमसभा के बाद वहां से सीएम पुन: इस जनआशीर्वाद यात्रा को लेकर शिवपुरी शहर आएंगे और यहां एक आमसभा होगी। रात्रि विश्राम शिवपुरी में करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक सितंबर को भितरवार जाएंगे।
पिछोर में खिलाना है कमल
पिछोर में पिछले चार बार से भाजपा हारती आ रही है और कांग्रेस
विधायक केपी सिंह का कोई तोड़ इस सीट को जीतने के लिए भाजपा के पास नहीं है। इसलिए सीएम की आमसभा खनियांधाना में करवाकर एक नई रणनीति के तहत पिछोर में
कमल खिलाने की योजना पार्टी नेताओं की है।
पार्टी स्तर पर तैयारियां शुरू
19 अगस्त को जनआशीर्वाद यात्रा की शुरूआत को लेकर भाजपा ने वरिष्ठ भाजपा नेता वेद प्रकाश शर्मा को संभागीय प्रभारी बनाया है। यात्रा में भीड़ जुटाने के लिए प्रभारी वेदप्रकाश शर्मा विधानसभावार पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठकें लेंगे। तैयारियों की समीक्षा के लिए यात्रा के प्रदेश प्रभारी प्रभात झा भी इसी महीने शिवपुरी आ सकते हैं।
केवल विधायक होंगे साथ
जिले में जब सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा आएगी तो यात्रा के लिए जो रथ बनाया गया है, उसमें रैली के दौरान शिवराज सिंह चौहान के साथ उस क्षेत्र के विधायक मौजूद रहेंगे। रथ पर सीएम और विधायक की मौजूदगी रहेगी।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 7

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment