Home » Madhya Pradesh » Gwalior » एफआईआर में बीएल कुशवाह, इनाम घोषित होते ही हुआ लोधी

एफआईआर में बीएल कुशवाह, इनाम घोषित होते ही हुआ लोधी

Bhaskar News Network | Dec 18, 2013, 05:43AM IST

ग्वालियर. थाटीपुर थाने में ढाई वर्ष पूर्व दर्ज एक मामले का आरोपी राजस्थान में विधायक बन गया। एफआईआर दर्ज होने के बाद इस आरोपी का नाम विवेचना में कुशवाह से लोधी हो गया था। राजस्थान में विधायक बने बीएल कुशवाह का छोटा भाई और पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह का दामाद इस प्रकरण में अब भी फरार है।

थाटीपुर थाने में 28 मई 2011 को गरिमा रियल एस्टेट चिटफंड कंपनी के निदेशक बीएल कुशवाह, बालकिशन कुशवाह व शिवराम कुशवाह के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था। बालकिशन पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह के दामाद हैं और बीएल कुशवाह इनके बड़े भाई हैं। बीएल कुशवाह हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में धौलपुर से बसपा के टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बन गए हैं। बताया गया है एफआईआर दर्ज होने के बाद मामले की पड़ताल के दौरान बीएल कुशवाह बीएल लोधी हो गए। इनाम की प्रक्रिया बीएल लोधी पर की गई।

इस संबंध में थाना प्रभारी विजय तोमर का कहना है कि विवेचना में बीएल कुशवाह का नाम एफआईआर में गलत दर्ज होने के दस्तावेज मिले थे। कंपनी का निदेशक बीएल लोधी था जिसके खिलाफ इनाम की प्रक्रिया पूरी की गई। फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

कोतवाली थाना क्षेत्र के लोहिया बाजार में महिलाओं से देह व्यापार कराने का आरोप लगाने के बाद फरार हुए भारत वाल्मीकि को कोतवाली थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। टीआई कोतवाली एसके चतुर्वेदी के अनुसार दोपहर में यह लोहिया बाजार में घूम रहा था, उसी समय पुलिस के हाथ लग गया। पुलिस ने इसे न्यायालय में पेश  करने के बाद जेल भेज दिया।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
2 + 5

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment