Home » Rajasthan » Jaipur » News » विटामिन-डी की कमी से १५ फीसदी ब'चों में बढ़ा मोटापा

विटामिन-डी की कमी से १५ फीसदी ब'चों में बढ़ा मोटापा

Matrix News | Jul 30, 2013, 13:56PM IST
विटामिन-डी की कमी से १५ फीसदी ब'चों में बढ़ा मोटापा
सुरेन्द्र स्वामी -!- जयपुर
विटामिन-डी की कमी के चलते न केवल मोटापा बल्कि स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याओं का खतरा बढ़ता जा रहा है। जयपुर समेत अजमेर, कोटा, उदयपुर, जोधपुर, बीकानेर शहर के 6 से 16 साल तक की उम्र के 15 प्रतिशत ब'चे मोटापे के शिकार हैं, जिसमें से 10 फीसदी ब'चों में विटामिन-डी की कमी देखी गई है। यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले 5 वर्षों में यह संख्या बढ़कर दोगुनी हो जाएगी।
मोटे ब'चों में विटामिन-डी कमी का अधिक खतरा होता है, क्योंकि वे अपनी जमा वसा में से विटामिन-डी लेते हैं, जिससे रक्त में इसका इस्तेमाल बाधित होता है। मानव शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य और क्रियाशीलता के लिए विटामिन-डी सबसे महत्वपूर्ण है। यह खुलासा इंडियन एकेडेमी ऑफ पीडियाट्रिक्स द्वारा जारी किए गए देशभर के आंकड़े, सर्वे एवं रिपोर्ट के आधार पर किया है। इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स ((आईएपी)) के डॉ. निश्चल भट्ट ने बताया कि विटामिन-डी का उपयुक्त स्तर बनाए रखना महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह मानव शरीर के 25,000 जीन्स में से लगभग 3,000 जीन्स को प्रभावित करता है। पर्याप्त मात्रा में विटामिन-डी रहने से न केवल खराब कोलेस्ट्रॉल को कम रखने में मदद मिलता है, बल्कि अ'छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में भी मदद मिलती है।
डॉ.भट्ट का कहना है कि अगर आपका ब'चा दिखने में तंदुरूस्त है, तो इस गफलत में नहीं रहे कि वह स्वस्थ भी होगा। शोध में मोटे ब'चों में खून की कमी देखी गई है।
ऐसे हो जाती है कमी : पर्याप्त मात्रा में सूर्य का प्रकाश नहीं मिलना, क्योंकि ब'चे घरों के भीतर ही टीवी-इंटरनेट पर वक्त बिताते हैं। खुले मैदान में नहीं खेलते। नतीजा, उनका शारीरिक श्रम नहीं होता। वे फिट नहीं रह पाते। विटामिन-डी वसा में घुलनशील है। शरीर की अतिरिक्त वसा विटामिन-डी को रक्त परिसंचरण से बाहर निकाल लेती हैं और इस प्रकार विटामिन-डी की कमी होती है। शरीर को मिलने वाला 75 प्रतिशत विटामिन-डी हमारी त्वचा के सूर्य के प्रकाश ((विशेषकर अल्ट्रावायलेट-बी किरणों)) के संपर्क में आने से प्राप्त होता है। विटामिन-डी की कमी के लक्षण त्वचा पर दिखने लगते हैं। सूर्य का प्रकाश पर्याप्त मात्रा में मिलने के बावजूद, खानपान की गलत आदतों और कुपोषण के चलते भी विटामिन डी की कमी हो सकती है।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 5

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment