Home » Maharashtra » Mumbai » Navi Mumbai Builder Murder

नवी मुंबई बिल्डर हत्याकांड: पूर्व पुलिस अधिकारी सैमुअल गिरफ्तार

Bhaskar News | Feb 18, 2013, 02:17AM IST
मुंबई.  नवी मुंबई के वाशी इलाके में एनआरआई बिल्डर सुनील कुमार लोहारिया हत्याकांड में रविवार को पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अमोलिक सैमुअल सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में पूर्व पुलिस अधिकारी सैमुअल व  वाजिद कुरैशी शामिल हैं। जबकि एक हमलावार मनु शेट्टी उर्फ वैंकटेशन शेट्टार को घटनास्थल से दबोचा गया था। 
 
कोर्ट में पेशी के बाद अदालत ने अमोलिक को 22 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। नवी मुंबई पुलिस सूत्रों के अनुसार पार्किंग को लेकर हुए झगड़े की वजह से यह हत्या हुई। जबकि मारे गए बिल्डर लोहरिया के परिजन इस हत्याकांड के लिए प्रतिस्पर्धी बिल्डर पर आरोप लगा रहे हैं। इससे पहले नवी मुंबई पुलिस ने शेट्टी को गिरफ्तार किया था।
 
पुलिस ने अमोलिक की कॉल डिटेल खंगालने के बाद दावा किया है कि वह हमलावरों से लगातार बातचीत कर रहा था। इसके अलावा शेट्टी ने भी पूछताछ में अमोलिक का नाम लिया है। पुलिस के मुताबिक अमोलिक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। 
 
वाशी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रावसाहेब सरदेसाई ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि करीब 20 दिनों पहले अमोलिक किसी काम से नवी मुंबई आया था। यहां उसका कार पार्किग को लेकर बिल्डर लोहरिया से झगड़ा हो गया था। लोहरिया ने अमोलिक को जान से मारने की धमकी दी थी। उसके बाद अमोलिक ने हमलावरों को लोहरिया के हत्या की सुपारी दे दी। हालांकि पुलिस की यह दलील लोगों के गले नहीं उतर रही है। 
 
बताया जाता है कि इस मामले में स्थानीय बिल्डर सुरेश बिजलानी भी शक के घेरे में हैं। लोहरिया के परिवारवालों ने हत्या की साजिश में बिजलानी के हाथ होने का आरोप लगाया है। 
 
परिवालों का कहना है कि उन्हें नवी मुंबई पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। इसलिए मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए।
 
अमोलिक पिछले 12 साल से बतौर बॉडीगार्ड, बिजलानी के साथ थे। लोहरिया के परिवार में पत्नी, बेटा और एक बेटी है। लोहरिया परिवार अप्रवासी भारतीय हैं। लोहरिया का न्यूजीलैंड में भवन निर्माण का कारोबार है। 
 
पिछले डेढ़ साल से वे परिवार के साथ नवी मुंबई में रह रहे थे। उन्होंने वाशी से लेकर पनवेल तक कई निर्माणाधीन इमारतों में निवेश किया है। लोहरिया ने आरटीआई के जरिए नवी मुंबई की इमारतों को दी गई एफएसआई घोटाले का खुलासा किया था। उन्होंने घोटाले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी। इसको लेकर लोहरिया ने बांबे हाईकोर्ट में याचिका भी दायर की है। लोहरिया ने अपने लिए पुलिस सुरक्षा भी मांगी थी। लोहरिया की शनिवार की सुबह उस वक्त हत्या कर दी गई थी जब वे अपने दफ्तर के पास गाड़ी से उतरे थे। तभी दो हमलावरों ने उन पर ताबड़तोब गोलियां दागी।
 
उनके जमीन के गिरने के बाद भी हमलावरों ने उन पर चापर से कई वार किए। यह वारदात उनके कार्यालय के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। वहां मौजूद कार्यालय कर्मचारियों ने हमलावरों का पीछा किया। एक हमलावर शेट्टी को जनता की मदद से पकड़ने में कामयाबी मिली जबकि दूसरा कोपरखैराणो स्टेशन की तरफ भाग निकला। नवी मुंबई पुलिस ने रविवार को फरार आरोपी कुरैशी को मुंब्रा से गिरफ्तार किया। 
 
कौन है अमोलिक : 
 
मुंबई क्राइम ब्रांच से जुड़ा रहा अमोलिक, एनकाउंटर स्पेलिस्ट रहा है। हालांकि पुलिस सेवा में रहने के दौरान अमोलिक दाऊद इब्राहिम से रिश्तों को लेकर बदनाम रहा। राष्ट्रपति पदक हासिल करनेवाले अमोलिक की मुंब्रा में हुए एक फर्जी एनकाउंटर के मामले में गिरफ्तारी भी हो चुकी है।
  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print Comment