Home » Madhya Pradesh » Gwalior » Crime In Gwalior

'मेरा लाल बच गया, बस यही बहुत है'

Dainik Bhaskar News | Dec 12, 2012, 06:28AM IST
'मेरा लाल बच गया, बस यही बहुत है'

ग्वालियर। 'बच्चे के ऊपर कट्टा तना देख मैं सब कुछ भूल गई थी। बदमाशों ने गहने, चाबी जो भी मांगी, मैंने दे दिया। मैं लगातार बच्चे को देख रही थी, ईश्वर से उसकी सुरक्षा के लिए मन ही मन प्रार्थना भी कर रही थी। बदमाशों ने जब गहने व रुपए ले लिए तब बच्चे पर से कट्टा हटाया। मैंने तुरंत अपने लाल को आंचल में छिपा लिया। मेरा लाल बच गया, बस यही बहुत है। गहने गए, कोई बात नहीं।' यह कहते हुए सुनयना तोमर अपने छह माह के बच्चे को गोद में लेकर रोने लगती है। सोमवार-मंगलवार की रात गोले का मंदिर स्थित रणधीर कॉलोनी में बदमाश इनके घर से लगभग चार लाख रुपए के जेवर लूट ले गए थे।


बदमाशों ने घर में घुसने के बाद सुनयना के ससुर एएसआई महेश सिंह तोमर के कमरे को बाहर से बंद कर दिया था। इसके बाद भी तोमर ने हिम्मत नहीं हारी। वे उन्हें गोली मार देने की चेतावनी दे रहे थे लेकिन बदमाशों पर इसका असर नहीं पड़ रहा था। वे जानते थे कि कमरा बंद है और तोमर कुछ नहीं कर सकते।


पिता-पुत्र ने जमकर किया मुकाबला: महेश सिंह तोमर के घर बदमाश जब लूटपाट कर रहे थे तभी तीन अन्य बदमाश  कुछ दूर ही रह रहे सेना के सेवानिवृत्त जवान तथा एसबीआई रतनवा में गार्ड पद पर पदस्थ शिवप्रकाश सिंह कुशवाह के घर पहुंचे। उन्होंने गेट का ताला तोड़ दिया। आवाज सुनकर जब श्री कुशवाह की पत्नी शीला ने दरवाजा खोला, तो  तीनों बदमाश उन्हें धकेलते हुए अंदर घुस गए। अंदर जाते ही बदमाशों ने शीला को पीटना शुरू कर दिया। शोर सुनकर पति तथा उनका बेटा विजय सिंह (17) भी कमरे में आ गए और बदमाशों से भिड़ गए। इससे घबरा कर बदमाश उन्हें कट्टा दिखाते हुए भाग गए। उधर बदमाशों की तलाश में मंगलवार को पुलिस ने महाराजपुरा क्षेत्र के गांवों में देर रात दबिश दी।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 6

 
विज्ञापन

क्राइम

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment