Home » National » Latest News » National » Congress Told Chidambaram, How Should Be Budget For Aam Aadmi

कांग्रेस ने चिदंबरम को बताया, कैसा हो आम आदमी का बजट

अमित मिश्रा | Feb 15, 2013, 12:06PM IST
 
नई दिल्ली. अगले बजट के लिए पार्टी की राय जानने कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से ‘आम आदमी’ हितैषी बजट तैयार करने की मांग की गई। पार्टी पदाधिकारियों ने साफ कहा कि पार्टी आम लोगों की है तो बजट भी वैसा ही होना चाहिए। चिदंबरम ने विश्व अर्थव्यवस्था का हवाला देकर मजबूरियां गिनाईं लेकिन कांग्रेस नेताओं ने कहा कि ऐसे फैसलों से जनता ऊब रही है। कई नेताओं ने सरकार के आर्थिक फैसलों पर तीखे सवाल किए। बजट के लिए सुझाव पेश करने के उद्देश्य से रखी गई बैठक में वित्त मंत्री को बहुत कुछ खरी-खोटी बातें सुनने को मिलीं। 
 
 
सूत्रों के मुताबिक पार्टी नेता रशीद मसूद ने रियायती रसोई गैस सिलेंडरों की सालाना संख्या कम से कम 12 करने की मांग की। उनकी दलील थी कि सिलेंडरों की संख्या में कटौती से सीधे मध्यम वर्ग की जेब पर असर पड़ता है, जो पार्टी का बड़ा वोटबैंक है। इस पर वित्त मंत्री सब्सिडी की राशि देने में दिक्कतें गिना रहे थे लेकिन कई नेताओं ने मसूद का समर्थन किया और जोरदार दबाव बनाया। पार्टी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा ने सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं के फंड के दुरुपयोग का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि पिछले बजट में भी फ्लैगशिप योजनाओं के लिए बड़ा बजट दिया गया था लेकिन इनमें दुरुपयोग के कई मामले सामने आए। उन्होंने इस बजट में ऐसी योजनाओं के लिए राशि आवंटन करते समय दुरुपयोग की रोकथाम की व्यवस्था करने की मांग की। 
 
 
 
आयकर छूट की सीमा तीन लाख हो 
सांसद और प्रवक्ता संदीप दीक्षित ने आयकर छूट की सीमा तीन लाख रुपए तक करने की मांग की तो बैठक में मौजूद सभी नेताओं ने फौरन उनका समर्थन किया। पार्टी के अल्पसंख्यक ईकाई के प्रमुख इमरान किदवई ने अल्पसंख्यकों के लिए बजट में ज्यादा से ज्यादा प्रावधान देने की मांग की। उन्होंने कहा कि बुनकरों के लिए हमें दूसरी स्कीमों पर भी ध्यान देना होगा ताकि उन्हें जो कुछ फिलहाल मिल रहा है, उसके अतिरिक्त भी उन्हें हासिल हो। ऑस्कर फर्नांडीस ने किसानों के लिए नई योजना लाने और उर्वरक पर सब्सिडी जारी रखने की मांग की। इसका भी कई नेताओं ने समर्थन किया। 
 
इसके अलावा कई पार्टी नेताओं ने पूछा कि सरकार बजट में सर्विस टैक्स पर क्या कर रही है। पार्टी के मीडिया विभाग के सचिव टॉम वड्डकन ने केरल के त्रिशूर में आईआईटी खोलने की मांग की। इसके अलावा प्रमुख मांगों में आदिवासी क्षेत्रों के लिए विशेष स्वास्थ्य योजना, छात्रों के लिए शिक्षा लोन को और आसान करने जैसी थी। कुल मिलाकर पार्टी ने चिदंबरम को समझाया कि आम आदमी हितैषी बजट कैसा होना चाहिए। 
 
पार्टी के एक नेता ने कहा कि नकदी हस्तांतरण योजना में महिलाओं को लाभान्वित करने के लिए पति-पत्नी के ज्वाइंट अकाउंट खेलने की योजना चलानी चाहिए। इससे महिलाओं को इस स्कीम से सीधे जोड़ा जा सकेगा। जगदीश टाइटलर ने कहा कि पार्टी संगठन के बूते ही चुनाव लड़ती है इसलिए वित्त मंत्री को संगठन के विचारों को गंभीरता से लेना चाहिए। अजीत जोगी ने कहा, ‘बजट में क्या खास रहेगा, यह तो तय हो चुका होगा इसलिए मैं समझता हूं कि वित्त मंत्री पार्टी के विचार जानने बहुत देर से आए हैं।’ 
 
 
डीलज के बढ़ते दाम पर चिंता
कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने बैठक के बाद बताया कि पार्टी के 46 में 32 पदाधिकारियों ने अपने विचार रखे। पार्टी नेताओं ने किसानों, बुनकरों, शिक्षा और स्वास्थ्य तथा आयकर के बारे में अपने सुझाव रखे। अजित जोगी ने कृषि क्षेत्र के लिए 65 बिंदुओं की सूची सौंपी। ऑस्कर फर्नांडीस ने डीजल के बढ़ते दाम पर चिंता व्यक्त की और कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों के आयात पर निर्भरता कम करने के प्रयास तेज होने चाहिए। ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों के विकास पर भी जोर दिया जाना चाहिए। टॉम वडक्कन ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य सेवाओं की सुविधा सभी पीआईबी मान्यता प्राप्त पत्रकारों को उपलब्ध कराई जानी चाहिए। महिलाओं के लिए अलग बजट की भी मांग बैठक में उठी। 
 
 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 4

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment