Home » National » Latest News » National » Controversies Related To Bala Saheb Thackerey

बाल ठाकरे से जुड़े 8 विवाद

Dainikbhaskar.com | Nov 15, 2012, 14:07PM IST
बाल ठाकरे से जुड़े 8 विवाद
बाल ठाकरे (लाइव अपडेट पढ़ें) अपने राजनीतिक करियर के दौरान विकास कार्यों से ज्यादा विवादों के कारण चर्चा में रहे। उन्होंने दूसरे विश्वयुद्ध का कारण बने जर्मनी के चांसलर अडॉल्फ हिटलर और श्रीलंका के तमिल संगठन लिट्टे का खुला समर्थन किया। यही नहीं भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैचों का वो  हमेशा से विरोध करते रहे। वेलेंटाइन डे को पश्चिमी सभ्यता का प्रतीक बताते हुए उन्होंने प्रेमी जोड़ों की खुले आम पिटाई भी करवाई। बाल ठाकरे ने साल 1966 में शिवसेना की नींव रखी थी और तब से ही वो डर और नफरत की राजनीति करते रहे। उनकी भाषणों में विकास और समाजहित के कार्यों की बात कम और दूसरे समुदायों के प्रति नफरत और हिंसा ज्यादा होती थी। लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने डर और नफरत के बजाए मराठी मानुष को अपना एजेंडा बना लिया। एक नजर बाल ठाकरे से जुड़े विवादों पर-
 
 
वोट डालने पर प्रतिबंध
नफरत और डर की राजनीति करने के कारण चुनाव आयोग ने बाल ठाकरे के वोट डालने और चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया था। चुनाव आयोग ने 28 जुलाई 1999 को ठाकरे को 6 साल तक चुनावों से दूर रहने के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। इसके बाद ठाकरे 2005 में ही प्रतिबंध हटने के बाद वोट डाल सके। 
 
आगे क्लिक करके जानिए ठाकरे से जुड़े विवादों के बारे में..
 
ये भी पढ़ें
दिग्विजय ने पहले ही दे दी श्रद्धांजलि

पढ़ें: ठाकरे के घर से लाइव अपडेट


ठाकरे और उनके पूरे कुनबे के बारे में जानिए
बुधवार शाम से गुरुवार सुबह तक का अपडेट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कार्टूनिस्ट से 'हिन्दू ह्रदय सम्राट' बनने की कहानी
गया में शुरू हुई ठाकरे परिवार के जड़ की 'खोज'



जानिए, बाल ठाकरे के बिना शिवसेना के मायने

 




 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
5 + 8

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment