Home » National » Latest News » National » Shinde Fumbles, Twitter Is Buzzing With Afzal's Hanging

शिंदे ने फिर की गलतियां, ट्विटर पर उड़ रहा है मजाक

dainikbhaskar.com | Feb 09, 2013, 10:59AM IST
नई दिल्ली. केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे की एक बार फिर अपने बयान को लेकर किरकिरी हो रही है। इस बार मामला अफजल गुरु की फांसी से जुड़ा हुआ है। शिंदे ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'अफजल गुरु को आज आठ बजे फांसी दी गई। 2011 में ही गृह मंत्रालय ने इसकी सिफारिश की थी। राष्‍ट्रपति को 21 जनवरी को फाइल भेजी गई। राष्‍ट्रपति ने तीन फरवरी को दया याचिका खारिज की थी। इस फाइल पर चार फरवरी को मैंने दस्‍तखत किए और आगे की कार्रवाई के लिए भेज दिया गया।'
 
शनिवार की सुबह अपना बयान देते समय शिंदे ने कई तथ्यात्मक गलतियां कीं। इसमें शिंदे ने तारीख और वक्त गलत बताया। गृह मंत्री ने कहा, 'कोर्ट ने आठ फरवरी की तारीख तय की थी। आठ बजे का वक्‍त भी तय हो गया था। तो आज आठ बजे अफजल को फांसी दे दी गई है।' लेकिन इसके बाद अंग्रेजी में बोलते समय शिंदे ने तो और भी गड़बड़ी की। उन्‍होंने अफजल की फांसी के वक्‍त के बारे में आठ बजे सुबह (8 ए.एम.) के बजाय आठ बजे रात (8 पी.एम.) कह दिया।
 
 

आगे की स्लाइड में पढ़िए, कैसे हड़बड़ी में दिखे शिंदे: 
 

 


पढें- अफजल के अंतिम पलों का ब्‍यौरा


अफजल गुरु को फांसी: लाइव अपडेट


अफजल को तिहाड़ से लेकर सड़क तक मिली फांसी


प्रतिक्रियाएं: पाकिस्‍तान में विरोध, सरबजीत को फांसी की मांग


टाइमलाइन: संसद पर हमले से अफजल की फांसी तक का घटनाक्रम


संसद पर हमले की तस्‍वीरें देखें 


अफजल की फांसी: हड़बड़ में गड़बड़ कर गए गृह मंत्री 


अफजल की फांसी के क्‍या हैं मायने, पढें विशेषज्ञों की टिप्‍पणी


ये भी पढें- 


 


कसाब को फांसी के खिलाफ थे सोनिया की टीम के दो सदस्‍य!


कसाब को फांसी से बौखलाया पाकिस्तान


PHOTOS: कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने में डरा नहीं यह हिंदुस्तानी


कसाब से हेडली तक 26/11 का सफर..

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment