Home » National » Latest News » National » The Past Of Afzal Guru

क्या था गिटार पर गजल गाने वाले अफजल की जिंदगी का सच, जानिए

dainikbhaskar.com | Feb 10, 2013, 07:05AM IST
क्या था गिटार पर गजल गाने वाले अफजल की जिंदगी का सच, जानिए
नई दिल्ली. 'मिनी लंदन' कहे जाने वाले कश्मीर के सोपोर कस्बे से कुछ किलोमीटर पहले झेलम नदी के किनारे शीर जागीर गांव में अफजल गुरु का जन्म हुआ था और उसकी परवरिश भी इसी गांव में हुई थी। गांव तक पहुंचने के लिए सेना के एक शिविर से होकर गुजरना पड़ता है और यह रास्ता कच्चा है। (पढें- अफजल के अंतिम पलों का ब्‍यौरा)
 

जानिए, किस तरह अफजल ने तिहाड़ में गुजारे 11 साल



 
शीर जागीर और उसके आसपास के गांवों में सेब के सैकड़ों बागीचें हैं। इसी गांव में अफजल का दो मंजिला घर है, जिसके आगे लॉन भी है। घर पर ताला लगा हुआ है। कुछ महीने पहले तक यहां अफजल का छोटा भाई हिलाल रहता था। अफजल के मां-बाप के चार बेटे थे। एक गांव वाले के मुताबिक, 'पिछले साल नवंबर में कसाब को फांसी होने के बाद अफजल का भाई काफी डरा हुआ था और उसने अपनी पत्नी को बताया था कि अगला नंबर अफजल का हो सकता है।' गांव वालों के मुताबिक हिलाल और उसकी पत्नी ने बहुत जल्दबाजी में घर छोड़ा था। (अफजल गुरु को फांसी)
 
(तस्वीर: युवा अफजल की फाइल फोटो) 
 

पढें- अफजल के अंतिम पलों का ब्‍यौरा


अफजल गुरु को फांसी 


अफजल की फांसी: हड़बड़ में गड़बड़ कर गए गृह मंत्री 


कश्‍मीर में कर्फ्यू, गुजरात में मनी होली, देखें तस्‍वीरें


टाइमलाइन: संसद पर हमले से अफजल की फांसी तक का घटनाक्रम


प्रतिक्रियाएं: पाकिस्‍तान में विरोध, सरबजीत को फांसी की मांग


अफजल की फांसी के क्‍या हैं मायने, पढें विशेषज्ञों की टिप्‍पणी


संसद पर हमले की तस्‍वीरें देखें 


OPERATION X: कसाब को कैसे दी गई थी फांसी, जानें



 
 
  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print Comment