Home » National » Latest News » National » Why Rape Incidents Repeated?

...तो क्‍या सरकार ही करवाती है रेप?

dainikbhaskar.com | Dec 18, 2012, 08:02AM IST
...तो क्‍या सरकार ही करवाती है रेप?
नई दिल्‍ली.  दिल्‍ली में रविवार को हुई चलती बस में गैंगरेप की वारदात इस तरह की आखिरी वारदात होगी, इसकी गारंटी देने वाला कोई नहीं है। मंगलवार को संसद में नेताओं ने इस वारदात पर हर तरह के इमोशंस दिखाए। सुषमा स्‍वराज ने गुस्‍सा कर बलात्‍कारियों के लिए फांसी की मांग की, तो सपा सांसद जया बच्‍चन रो पड़ीं। तृणमूल सांसद ने तो कहा कि उन्‍हें अपनी बेटी की सुरक्षा को लेकर डर सताता है। लेकिन कांग्रेस की गिरिजा व्‍यास ने एक तरह से दिल्‍ली की मुख्‍यमंत्री शीला दीक्षित की तारीफ कर डाली। उधर, पीडि़त लड़की अभी भी अस्‍पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है (उसके हाल के बारे में जानने और घटना के विरोध में दिल्‍ली की सड़कों पर उतरी जनता की तस्‍वीरें देखने के लिए क्लिक करें)
 
रविवार की घटना से पहले भी दिल्‍ली में चलती गाड़ी में गैंगरेप की कई वारदात हो चुकी हैं। वर्ष 2010 में धौलाकुंआ इलाके से एक युवती को जीप में अगवा कर अपराधी मंगोलपुरी ले गए थे और गैंगरेप किया था। कुछ साल पहले भी कार सवार अपराधी इसी इलाके में एक युवती को अगवा कर ले गए और उनके साथ चलती कार में रेप किया। इन सभी मामलों में रात को गश्त और चेकिंग के पुलिस के दावे की पोल खुल गई थी। 
 
सरकार ने हर घटना के बाद बड़े वादे किए, लेकिन गश्‍ती और सड़कों पर पर्याप्‍त रोशनी जैसी बुनियादी इंतजाम पुख्‍ता कराने तक में वह नाकाम रही। रेप करने वालों को जल्‍द से जल्‍द दोषी ठहरा कर सख्‍त से सख्‍त सजा दिलाने की बातें भी कागजी और हवा हवाई भी बन कर रह गई हैं। ऐसे में यह बड़ा सवाल बनता है कि क्‍या असल में बलात्‍कार की असली गुनहगार सरकार ही है?

 
(क्‍यों होते हैं रेप, क्‍या होने चाहिए उपाय और क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट? आगे पढ़ें)
 

 
सिर्फ अपराध मानकर रेप जैसी घटनाओं का हल न खोजें : आमोद कंठ
अवचेतन में घृणा का भाव : अरुणा ब्रूटा

दिल्ली गैंगरेप केस: लड़की के दोस्त ने जो बताया वह रोंगटे खड़े करने वाला है
बलात्‍कारियों को फांसी दो- सदन में उठी मांग, रो पड़ीं जया बच्‍चन

पांच बार कौमा में जा चुकी है गैंगरेप की शिकार लड़की
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
7 + 6

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment