Home » Punjab » Jalandhar » Nri Meeting Held In Jalandhar

बादल ने खोला पिटारा, एनआरआईज को ‘संभावनाओं से भरपूर पंजाब’ से लुभाया

भास्कर न्यूज | Jan 06, 2013, 03:56AM IST
बादल ने खोला पिटारा, एनआरआईज को ‘संभावनाओं से भरपूर पंजाब’ से लुभाया
जालंधर. विदेशों में बसे पंजाबियों से मुख्यमंत्री परकाश सिंह ने बादल ने राज्य के विकास के लिए सलाह और सुझाव की मांग की है। हालांकि उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने राज्य का माहौल सकारात्मक होने का दावा कर निवेश का आह्वान किया। 
शनिवार को क्लब कबाना में आयोजित एनआरआई सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा, सेहत और मूलभूत ढांचे के विकास के लिए एनआरआई टेक्नोलॉजी और तजुर्बा लेकर आएं। पंजाब के मंत्री और एनआरआई को शामिल करके एक रिव्यू कमेटी बनाई जाएगी, जो राज्य के विकास के लिए काम करेगी।
 
कोई एनआरआई पंजाब में स्किल सेंटर खोलने में आर्थिक मदद देगा तो उतनी ही रकम राज्य सरकार भी देगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जालंधर और मोहाली में एनआरआई भवन बनेंगे, जहां हर विभाग का अधिकारी बैठेगा। सिंगल विंडो के जरिए एनआरआई की समस्या हल होगी। पंजाब का माहौल निवेश के लायक है। इस बार का नारा था- ‘संभावनाओं से भरपूर राज्य पंजाब’।
 
एनआरआई के लिए सुखबीर का ऐलान

 
तीन नई एनआरआई फास्ट ट्रैक अदालतें खुलेंगी, पंजाब में छह नए एक्सप्रेस हाईवे बनेंगे, बिजली के मामले में राज्य सरप्लस हो जाएगा, आदमपुर में जल्द ही सिविल एयरपोर्ट शुरू होगा, पुडा के रिहायशी प्लाट में दस फीसदी एनआरआई को,  इंडस्ट्रियल प्लाट में भी एनआरआई का कोटा होगा, राज्य में नए एनआरआई थाने बनेंगे,  कोई भी इंक्वायरी डीएसपी रैंक का अफसर करेगा.।

 
हमें सुनना ही नहीं था तो न्योता क्यों : एनआरआई
साडा पैसा, साडा फंक्शन ते साडी ही कोई सुनवाई नई। इसतो तां चंगा सी की फंक्शन ही ना हुंदा। यह कहा फ्रांस के एनआरआई गुरदयाल सिंह ने। फ्रांस में पगड़ी पर लगे प्रतिबंध का केस यूएनओ में जीत चुके गुरदयाल सिंह एनआरआई के साथ हुए इस भेदभाव की बात सीएम परकाश सिंह बादल और डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल तक पहुंचाना चाहते थे। लेकिन सिक्योरिटी गार्ड ने उन्हें सीएम और डिप्टी सीएम से मिलने से रोक दिया। इस पर वह बिफर पड़े। 
 
गुरदयाल सिंह अकेले नहीं थे। कनाडा से आई परमजीत कौर के भी यही बोल थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कौन सा अपने खाते से सम्मेलन करवाया है। टैक्स से एकत्रित फंड से ही सम्मेलन करवाया है। कुछ ज्यादा पैसे खर्च लेते तो इंतजाम बढ़िया हो जाता। एनआरआई समस्याएं बताने आए थे। लेकिन सीएम और डिप्टी सीएम से मिलने को तरसते रहे। 
 
 
Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
1 + 7

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment