Home » Rajasthan » Chittorgarh Zila » Nimbaheda » मुरली क्लास में की साधना

मुरली क्लास में की साधना

Matrix News | Jul 02, 2012, 02:31AM IST
निम्बाहेड़ा -!- मानव का मन निर्मल हो जाए तो मानव श्रेष्ठ भावनाओं व विचारों से भर जाएगा। विवेक के प्रकाश से प्रकाशित मानव को मुक्ति का आनंद मिल सकता है। यह विचार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय सेवा केंद्र पर बीके शिवली बहन ने मुरली क्लास के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि मानव का मन मलीन, स्वार्थयुक्त संकुचित भाव से भर गया तो वह मानव को बंधन की दिशा में धकेल देगा। मन किसी समय एक ही वस्तु को अ'छा बताता है तो किसी समय खराब भी मानता है। मन राग-द्वेष का अनुभव कर सुखी व दुखी होता रहता है। मन के स्वरूप को बदलना, शुद्ध, सात्विक, मधुमय, प्रेममय और मंगलमय बनाने का नाम ही साधना है। अंत में सभी लोगों ने मन की उन्नति के लिए मेडिटेशन किया।
  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print
0
Comment