Home » Trending On Web » Gulzar Returns To India From Pak

अफजल की फांसी का असर? पाकिस्तान से लौटे गुलजार

dainikbhaskar.com | Feb 13, 2013, 19:59PM IST
अफजल की फांसी का असर? पाकिस्तान से लौटे गुलजार
भारत के मशहूर गीतकार और शायर गुलजार पाकिस्तान के कराची लिट्रेचर फेस्टिवल में शिरकत नहीं करेंगे। वह पाकिस्तान से वापस भारत लौट आए हैं। 
 
अफजल गुरु की फांसी के बाद बदले हालात के मद्देनजर सुरक्षा कारणों से गुलजार ने यह फैसला लिया है। हालांकि पाकिस्तान का कहना है कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। 
 
डॉन न्यूज की उर्दू वेबसाइट के मुताबिक कराची लिट्रेचर फेस्टिवल के आयोजनकर्ताओं ने भी गुलजार के न शामिल होने की पुष्टि की है। वहीं पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पाक में भारतीय उच्चायोग ने गुलजार को वापस भारत लौटने की सलाह दी थी। हालांकि भारतीय उच्चायोग ने इन रिपोर्टों को नकार दिया है। 
 
वहीं गुलजार के साथ पाक दौरे पर गए विशाल भारद्वाज का कहना है कि गुलजार शायरी के गुरु की मजार पर जाने के बाद जज्बाती हो गए थे और थकान के कारण वापस भारत लौटे हैं। 
 
वहीं एक पाकिस्तानी चैनल ने एक पाकिस्तानी फिल्म निर्देशक के हवाले से कहा है कि गुलजार सुरक्षा कारणों से वापस भारत लौटे हैं। 
 
कराची लिट्रेचर फेस्टिवल के आयोजक सय्यद अहमद शाह के मुताबिक गुलजार को यहां शायरी पढ़नी थी और चर्चा में हिस्सा लेना था। उनके न होने से पाकिस्तान में उनके लाखों चाहने वालों को दुख पहुंचा है। कराची लिट्रेचर फेस्टिवल 2 दिन बाद शुरु होगा। 
 
गुलजार को वापस भारत लौटने को लेकर ट्विटर पर भी खूब प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। 
 
पेश हैं चुनिंदा ट्वीट्स...
 
 
 
 
omar r quraishi 
पाकिस्तान के गृहमंत्री का कहना है कि उन्होंने गुलजार को समझाने के लिए व्यक्तिगत प्रयास किए थे लेकिन वह नहीं माने।
 
Ashoke Pandit 
तो गुलजार साहब को पाकिस्तान में गुस्सा झेलना ही पड़ा, उन्हें वापस हिंदुस्तान भेज दिया गया। क्या हम भी पाकिस्तानी कलाकारों के साथ ऐसा ही करेंगे या अमन की आशा जारी रहेगी।
 
 
Rehman Malik ‏
श्री गुलजार के मामले को मैंने व्यक्तिगत रूप से देखा। अमेरिका में उनके मित्रों ने उन्हें फोन किया था और गलत जानकारी दी थी कि कराची में उन पर हमला हो सकता है। पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारियों ने भी गुलजार से व्यक्तिगत तौर पर बात की और सुरक्षा देने का वादा किया लेकिन हमारे वादों के बाद भी वह लौट गए।
 
 
barkha dutt ‏
विशाल भारद्वाज ने स्पष्टीकरण दिया है कि गुलजार के भारत लौटने का कोई भी राजनीतिक कारण नहीं है। 
 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 2

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment