Home » Rajasthan » Jaipur » महिलाओं पर अत्याचार, शर्मनाक ही नहीं समाज पर कलंक: सोनिया गांधी

महिलाओं पर अत्याचार, शर्मनाक ही नहीं समाज पर कलंक: सोनिया गांधी

Manish Kumar | Jan 18, 2013, 23:57PM IST

जयपुर. देश का विकास। आर्थिक रूप हो या सामाजिक रूप से। दोनों की स्थिति में देश आत्मनिर्भर और मजबूत होता है। पिछले 9 सालों में कांग्रेस सरकार ने देश को समृद्धि ही नहीं बल्कि सुदढ़ भी किया है। हालांकि कई अर्चने भी सामने आई। लेकिन बदलते हालात को पूरी से नियंत्रित करना सरकार के लिए उतना ही कठिन है। जितना की आम आदमी के लिए। ऐसा ही कुछ अलफाज थे सोनिया गांधी के बिड़ला सभागार में आयोजित कांग्रेस चिंतन शिविर में।


शिविर का संबोधन करते हुए सोनिया ने कहा, पार्टी में आपसी कलह और टीम भावना की कमी है। इसलिए कई राज्यों में पार्टी को विपक्ष में बैठना पड़ा। उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कहा, पार्टी के नेताओं आपसी लड़ाई भूल जाए और एकता से काम करें। महिलाओं के खिलाफ अत्याचार रोकने के लिए पूरी पार्टी एक एजेंडा बनाएगी। जनता से जुड़े मुद्दे को सक्रिय बनाने के लिए पार्टी हर संभव कोशिश करेगी।


टीम की तरह काम नहीं करने पर कई अवसर गंवाए:  सोनिया गांधी ने कांग्रेस नेताओं की आपसी कलह और अहंकार से पार्टी को हुए नुकसान पर खरी खरी सुनाई। उन्होंने कहा, क्या ऐसा नहीं है कि हमने केवल इस वजह से ऐसे कई अवसर गंवा दिए हैं जो देशवासी हमें देना चाहते हैं। क्योंकि हम एक अनुशासित और संगठित टीम की तरह काम करने में नाकाम रहे हैं? उन राज्यों में जहां हमारी सरकारें नहीं हैं, हमें अपनी निजी महत्वाकांक्षाओं और अहंकार को भुलाकर फौरन एकजुट होना चाहिए। जिससे पार्टी की जीत हो। हम यह क्यों भूल जाते हैं कि पार्टी की जीत हम सबकी जीत है। एकता बड़ी बड़ी बातों का ऐलान करने से नहीं आती। यह हमारे भीतर से आनी चाहिए। हमारे संगठन का हर एक कार्यकर्ता आज एकता के लिए परेशान है। हमारा यह फर्ज बनता है कि हम उसकी यह मांग पूरी करें।


चिंतन शिविर में सोनिया गांधी का पूरा भाषण सुनने के लिए देखिए वीडियो


चिंतन शिविर से जुडी खबर पढने के लिए अगली स्‍लाइड पर क्‍िलक करें


Photo: Yogendra Gupta, Rajesh Kumawat, Anil Sharma, Niranjan Chauhan, Mahendra Sharma


आज की प्रमुख खबरें


राजस्‍थान में 8 साल की बच्‍ची को रेप के बाद कुचला, मुंबई में मासूम से स्‍कूल बस में बलात्‍कार


कोहली पर खतरा? गंभीर-रहाणे को दिखाना होगा दम, भुवन-शमी पर होगा दारोमदार


अंडर 14 के लिए अहमदाबाद पहुंचे सचिन के बेटे को मिलेगी स्‍पेशल सिक्‍योरिटी


पाकिस्‍तान में भारत विरोधी प्रदर्शन, मौलवियों ने उगली आग


''6 साल की उम्र में पहली बार हुआ था मेरा बलात्‍कार, उतरवा दिए थे पूरे कपड़े''

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
9 + 9

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment