Home » Rajasthan » Jaipur » 1987 देवराला सती कांड: राजस्थान के आखिरी सती की कहानी

1987 देवराला सती कांड: राजस्थान के आखिरी सती की कहानी

Nand Lal Sharma | Feb 19, 2013, 19:25PM IST

जयपुर. आजादी के बाद रियासतों का विलय, आपातकाल (संदर्भ: राजस्थान), रूप कंवर सती कांड, भंवरी देवी सामूहिक बलात्कार मामला.. ना जाने कितनी अनगिनत छोटी बड़ी घटनाएं..राजस्थान के अतीत से जुड़ी हुई है।


इन घटनाओं ने समाज पर व्यापक प्रभाव डाला, साथ ही विश्व स्तर पर नई बहस को जन्म दिया.. लेकिन इन्हें रोकने के लिए सरकारों और सामाजिक संस्थाओं ने तरकश के सारे तीर आजमाएं, नए कानूनों का निर्माण हुआ, नए प्रावधान बनाए गए।


www.dainikbhaskar.com ऐसी ही घटनाओं से अपने पाठकों को रूबरू कराने जा रहा है। कहते है एक दशक में एक नई पीढ़ी का आगमन हो जाता हैं। ऐसे में बीती घटना को जानने का कौतूहल सबके मन में होना लाजिमी है।



www.dainikbhaskar.com इस सीरीज की पहली पेशकश में 1987 में राजस्थान के दिलवाड़ा में हुए रूप कंवर सती कांड को पाठकों के सामने रख रहा है। एक ऐसी घटना जिसने स्वत्रंत भारत के इतिहास में स्त्री मुक्ति आंदोलन की चुनौतियों का ग्राफ अचानक ही बढ़ा दिया...


''मजबूरी में करती हूं सेक्स, परिवार चलाने के लिए बेचना पड़ता है जिस्म''


राजा ने मांगी निशानी...और रानी ने अपना सिर काटकर पेश किया


पोर्न फिल्म देखी, फिर शुरू हुआ हैवानियत का गंदा खेल


PICS: मौसम हुआ बेईमान, मस्ती में आकर ये क्या कर डाला!


VALENTINE पर तोड़ी गुंडागर्दी की सारी हदें, बीच बाजार युवतियों से करते रहे बदसलूकी


IN PICS: मंडावा में शूटिंग पूरी, जयपुर आए राजा हिंदुस्तानी


'V' Day Special: युवा पायलट ने 'लव' के रनवे पर भरी कश्मीरी उड़ान


'फेरे के समय तू गोदी में थी इसलिए अब तू भी मेरी पत्नी है'!


वैलेंटाइन डे पर बीयर, डांस और मस्ती का कॉकटेल


राजा ने मांगी निशानी...और रानी ने अपना सिर काटकर पेश किया

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment