Home » Chhatisgarh » Raipur » स्कूल परिसर में छात्र के साथ अप्राकृतिक कृत्य

स्कूल परिसर में छात्र के साथ अप्राकृतिक कृत्य

rakesh malviya | Dec 06, 2012, 14:06PM IST

जशपुरनगर। स्कूल में पढऩे गए एक छात्र के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने का मामला सामने आया है। स्कूल परिसर के अंदर बने सुलभ शौचालय के ठेकेदार ने इस घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपी की तलाश शुुरू कर दी है। इस शर्मनाक घटना से शहरवासी सन्न है।

कभी-कभी समाज में ऐसी घटना हो जाती है, जो समाज को शर्मसार कर रख देती है। ऐसी ही एक घटना शहर के मध्य स्थित शासकीय नवीन आदर्श स्कूल (बुनियादी शाला) के परिसर में घटी। घटना ने लोगों को यह सोचने के लिए विवश कर दिया है कि आज के समय में बच्चे स्कूल में कितने सुरक्षित हंै। अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल में भेज कर निश्चिंत हो जाते हंै कि उनका बच्चा स्कूल गया है। वह स्कूल में सुरक्षित रहेगा। पर इस मामले के बाद बच्चों की सुरक्षा पर एक बड़ा सवाल उठ खड़ा हुआ है। इस घटना से स्कूल प्रबंधन पर भी सवालिया निशान लग गया है।

कोतवाली टीआई गोपाल वैश्य ने बताया कि बुधवार को डीपाटोली का एक ११ वर्षीय छात्र बुनियादी शाला में पढऩे के लिए गया हुआ था। स्कूल में पढ़ाई के दौरान सुबह साढ़े १० बजे छात्र लघुशंका करने के लिए कक्षा से निकल कर स्कूल परिसर के पास बने सुलभ शौचालय के पास गया।

सुलभ शौचालय में रहने वाला वहां का ठेेकेदार मोनू स्वीपर पिता दिलीप स्वीपर (२८) ने उस छात्र को जान से मारने की धमकी देते हुए जबरन अपने साथ शौचालय के अंदर ले गया। वहां वह छात्र के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने लगा। जिससे छात्र रोने लगा। इसी बीच सुलभ शौचालय के पीछे रहने वाले संजय तिर्की ने किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनी।

संजय ने अपने घर की छत में चढ़ कर देखा तो शौचालय में छात्र का कपड़ा पूरा खुला हुआ था और वह रो रहा था। मोनू की नजर जब संजय पर पड़ी, तो वह वहीं पर बैठ गया। जिसके बाद छात्र स्कूल से सीधे अपने घर चला गया। छात्र के घर जाने के बाद जब उसके पिता ने उसे डरा एवं सहमा हुआ देखा, तो उसने पूछताछ की।

सदमे की वजह से छात्र पिता को कुछ बता नहीं पा रहा था। उसके बाद संजय ने छात्र के घर में पंहुच कर घटना के बारे में पूरी जानकारी दी। जिसके बाद छात्र के परिजनों ने इसकी शिकायत सिटी कोतवाली में दर्ज करा दी।

डेढ़ माह पूर्व भी इसी स्कूल के छात्र के साथ ऐसी घटना हो चुकी है। घटना होने के बाद पीडि़त छात्र इतना सहम गया था कि वह डर से स्कूल आना ही बंद कर दिया था।
आरोपी मोनू स्वीपर का पुराना रिकार्ड भी कुछ इसी तरह का है। थाना प्रभारी श्री वैश्य ने बताया कि ३ फरवरी २००५ में मोनू स्वीपर द्वारा शहर के नवाटोली के एक १२ वर्षीय नबालिग लड़के के साथ अप्राकृतिक कृत्य किया था। जिस मामले में पुलिस ने धारा ३७७ का मामला दर्ज किया था। मोनू का हौसला जेल जाने के बाद भी कम नहीं हुआ था। जेल में निरुद्ध बंदी विकास कुमार के साथ मिलकर एक बंदी के साथ भी आप्राकृतिक कृत्य को अंजाम दिया था।
मोनू दो वर्षों तक जेल में रहने के बाद जब बाहर आया, तो उसने तेजू राम के साथ मिलकर १४ वर्ष की एक नाबालिग किशोरी के साथ तेली टोली में टॉवर के नीचे दुष्कर्म किया था। जिसके बाद पुलिस ने धारा ३७६ का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था। वर्ष २००८ से वर्ष २०१० तक जेल में रहने के बाद जब वह बाहर आया, तो बुधवार को एक बार फिर इस प्रकार की घटना को अंजाम देकर फरार हो गया है।


इस मामले में आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश की जा रही है। साथ ही स्कूल परिसर के अंदर बने सुलभ शौचालय को बंद करवा दिया गया है।
गोपल वैश्य, टीआई सिटी कोतवाली
 

Ganesh Chaturthi Photo Contest
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
2 + 9

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

Ganesh Chaturthi Photo Contest

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment