Home » Chhatisgarh » Raipur » सीआरपीएफ जवान ने मार डाला ४ साथियों को

सीआरपीएफ जवान ने मार डाला ४ साथियों को

rakesh malviya | Dec 25, 2012, 16:37PM IST

रायपुर-दंतेवाड़ा । दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर स्थित कैंप में सीआरपीएफ जवान दीपकुमार तिवारी ने 24 दिसंबर की रात अपने ही 4 साथियों की गोली मारकर हत्या कर दी। गोलीबारी में एक अन्य जवान जख्मी हो गया, जिसे मेडिकल कॉलेज हास्पिटल जगदलपुर ले जाया गया। रात करीब १२.३० बजे दीपकुमार ने बैरक में सो रहे साथी जवानों पर सर्विस रायफल इंसास से गोलियां चलानी शुरू कर दी।

घटना के वक्त बैरक में कुल ६ जवान मौजूद थे। २ जवान बाहर संतरी ड्यूटी पर थे। गोली लगने से कांस्टेबल अनिरूद्ध पिता रामप्रसाद २४ वर्ष निवासी उत्तरप्रदेश, कांस्टेबल पुरूषोत्तम लाल साहू पिता गणेशराम २९ वर्ष निवासी धमतरी छत्तीसगढ़, कांस्टेबल रमेश कुमार पिता रामप्रसाद २९ वर्ष निवासी हरियाणा की मौके पर ही मौत हो गई। कंधे और पेट में गोलियां लगने से गंभीर रूप से जख्मी हेड कांस्टेबल चंदनसिंह पिता सज्जनसिंह ४५ वर्ष ने जिला हास्पिटल लाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया। दाहिनी जांघ व बांयी हथेली पर गोली लगने से जख्मी हेड कांस्टेबल सुनील सावंत को जिला हास्पिटल में प्राथमिक उपचार के बाद जगदलपुर रेफर कर दिया गया। सभी जवान सीआरपीएफ ११ वीं बटालियन की एफ कंपनी के हैं।


मची खलबली: आधी रात गोलियां चलने की आवाज से कैंप में खलबली मच गई। फायरिंग की आवाज सुनकर दूसरे बैरक व मोर्चों पर तैनात जवान अलर्ट हो गए। कुछ देर बाद सबको माजरा समझ में आया। बगल वाले बैरक में आराम कर रहे असिस्टेंट कमांडेंट बृजेश कुमार के मुताबिक नक्सली हमला समझकर पेट्रोलिंग पार्टी के जवानों ने कुछ राउंड गोलियां भी दाग दी थी। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी नरेंद खरे भी पार्टी लेकर जिला मुख्यालय से अरनपुर पहुंचे और घायलों को हास्पिटल भिजवाया।

तनाव में था जवान : सूत्रों के मुताबिक वारदात को अंजाम देने वाला जवान दीपकुमार मूलत: यूपी के लखनऊ का रहने वाला है। शादीशुदा व २ बच्चों का पिता दीप इन्फेक्शन की वजह से खुजली को लेकर काफी तनावग्रस्त रहता था। बीते ३ दिन से नींद नहीं आने की बात उसने साथियों से कही थी, लेकिन ऐसी हरकत करेगा, इसका गुमान किसी को नहीं था।

करीबी दोस्त की हत्या: दीपकुमार और मारे गए कांस्टेबल अनिरूद्ध की गाढ़ी दोस्ती थी। अधिकांश समय उसी के साथ बिताता था, लेकिन उसने इसी करीबी दोस्त पर गोली चलाने से भी गुरेज नहीं किया। जवान ने इंसास में लोड की गई पूरी मैगजीन अपनों पर ही खाली कर दी। मौके से ११ खाली खोखे बरामद किए गए।

हास्पिटल पहुंचे अफसर: घायल जवान व शवों को जिला हास्पिटल पहुंचाने की खबर मिलते ही कारली स्थित मुख्यालय से सीआरपीएफ डीआईजी नवदीप राणा, डीएसपी प्रतिभा तिवारी, एसडीओपी अंशुमान सिसोदिया भी पहुंच गए। एकमात्र जीवित बचे जवान सुनील सावंत को तत्काल जगदलपुर भिजवाया गया।
 

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
6 + 6

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment