Home » Chhatisgarh » Raipur » तस्वीरों में देखिए, विवेकानंद स्वामी ने यहां बिताए थे बचपन के दिन

तस्वीरों में देखिए, विवेकानंद स्वामी ने यहां बिताए थे बचपन के दिन

dilip jaiswal | Jan 11, 2013, 18:50PM IST

रायपुर। स्वामी विवेकानंद स्वामी के पिता के दोस्त रायपुर में रहते थे। वे 1877 में विवेकानंद स्वामी को लेकर यहां आए थे। वे यहां तीन महीने रहे। जिस कमरे में विवेकानंद स्वामी ने तीन महीने गुजारे, वह कमरा यहां आज भी है। इस कमरे में उनके द्वारा उपयोग में लाई गई कुर्सी भी रखी हुई है। स्वामी जी बचपन में यहां स्थित बुढ़ा तालाब में गोता भी लगाते थे।



आगे जानिए आखिर कैसे पहुंचे यहां स्वामी विवेकानंद



बुढा तालाब के पास भूतनाथ डे का घर था। डे के पिता जी स्वामी विवेकानंद के पिता जी के दोस्त थे। चंूकि स्वामी जी के पिता जी वकालत के पेशे से थे। ऐसे में उन्होंने यहां रहकर वकालत की थी। इस दौरान रेलगाड़ी में कलकत्ता से नागपुर होते हुए पिता जी के साथ विवेकानंद स्वामी यहां पहुंचे थे। इसमें उन्हें तीन दिन का समय लगा था।
स्वामी जी जब यहां रह रहे थे, तब उनकी उम्र 14 साल था। 1877 में यहां आने के बाद उनका परिवार 1979 में वापस कलकत्ता लौट गया था। हालांकि विवेकानंद यहां तीन महीने ही रहे थे।



यहां विवेकानंद जिस कमरे में रूके थे। उसे संरक्षित करने की लगातार मांग उठती रही है। इसके बाद भी इस पर कारगर कदम नहीं उठाया गया है। इसके अभाव में कमरा जर्जर हो रहा है।



विवेकानंद के कमरे को बीच से दो हिस्सों में बांट दिया गया है। ऐसे में एक हिस्सा ताला बंद रहता है तो दूसरे हिस्से में कलकत्ता से ही ताल्लुकात रखने वालीं शोमा माली अपने परिवार के साथ रहती हैं।



वे कहती हैं कि जब शादी के बाद यहां पहुंची तो उनके पति ने पूरी कहानी बताई। यह जानकार उन्हें बहुत खुशी हुई। वे बताती हैं कि उन्हें इस बात का गर्व है कि वे उस कमरे में रहती हैं जहां स्वामी जी रहते थे।



कमरा और पूरा घर डे परिवार के आधिपत्य में है। ऐसे में सरकार संरक्षित करने में सफल नहीं हुई है।



राज्य सरकार ने बुढ़ा तालाब का नाम भी स्वामी विवेकानंद सरोवर रखा है। यहां उनकी विशाल प्रतिमा भी स्थापित की गई है।



विवेकानंद जी का नाम नरेन्द्र नाथ दत्ता था। उनका जन्म 12 जनवरी 1863 में हुआ था।



 

  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

Email Print Comment