Home » Chhatisgarh » Raipur » आधी रात बिना बताए घर से निकल पड़ी लड़की, फिर उसके साथ जो हुआ

आधी रात बिना बताए घर से निकल पड़ी लड़की, फिर उसके साथ जो हुआ

dilip jaiswal | Feb 19, 2013, 16:12PM IST
 
भास्कर न्यूज, रायपुर। शहर की चकाचौंध युवतियों को किस गलत रास्ते पर ले जा सकती है इसका एक और उदाहरण सामने आया है। जशपुरनगर की एक 17 साल की युवती के साथ जो कुछ भी हुआ वह दूसरी लड़कियों के लिए सबक देने वाला वाकया है। हुआ यूं कि लड़की की घर में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गयी और इस घटना के बाद वह घर से बिना बताए ही निकल पड़ी और फंस गई दलालों के चक्कर में। 
 
आगे क्या हुआ पढ़िए आगे की स्लाइड में 
 
 
 
घटना तुमला थाना क्षेत्र की है। एक गांव की किशोरी अपने परिजनों को बिना बताए रोजगार के लिए प्लेसमेंट के दलालों के माध्यम से दिल्ली पहुंच गई। दिवाली के दो दिन बाद रात में सभी सोए हुए थे, कि लड़की बिना बताए घर से निकल पड़ी। 
 
एक स्थानीय युवक के माध्यम से वह प्लेसमेंट एजेंसी के हत्थे चढ़ गई। एजेंसी ने उसे दिल्ली पहुंचा दिया। दिल्ली में कई दिन भटकने के बाद वह एक घर में नौकरानी का काम करने लगी। इस बीच घरवालों ने उसे हर कहीं खोजा, लेकिन उसका कोई पता नहीं चल पा रहा था। 
 
 
कुछ दिन तो सब ठीक चला, लेकिन फिर युवती को परिजनों की याद आई। युवती ने किसी तरह अपने घर फोन किया और परिवार वालों से उसे वापस ले जाने की गुहार लगाई। घरवालों ने इसकी सूचना पुलिस थाने में दी। 
 
 
जशपुर एसपी मनीष शर्मा ने परिजनों की गुमशुदगी रिपोर्ट के आधार पर एक टीम बना कर एसआई दिनेश राजवाड़े, प्रधान आरक्षक कमल भान,आरक्षक प्रमोद भगत, संजीव भगत,सपना इंद्रवार, लीना तिर्की के टीम को दिल्ली रवाना किया।
 
 
पांच दिनों तक दिल्ली की सड़कों की खाख छानने के बाद अंतत: पुलिस को यह खबर लग गई कि अलमा प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से उसे किसी के घर में घरेलू काम के लिए लगा दिया गया है। इस पर पुलिस ने वहां दबिश देकर उसे जशपुर ले आई। 
 
 
इस संबंध में किशोरी ने बताया कि गांव के राजेश लकड़ा ने उसे अच्छा काम दिलाने का लालच दिया था और कहा था कि वह अनिल से 500 रुपए ले ले और उसके साथ दिल्ली चले जाए जहां उसे काम में लगा देगा।
 
एसपी ने दी समझाइश
 
एसपी मनीष शर्मा ने उक्त किशोरी और उसके परिजनों को कार्यालय में किशोरी से पूछताछ कि तो उसने बताया कि वह 9 वीं कक्षा में पढ़ती थी और गांव के राजेश के कहने पर दिल्ली गई थी। 
 
इस पर एसपी ने उसे समझाईश दी कि वह अपना पढ़ाई जारी रखे और अपने माता-पिता की बात माने। उन्होंने कहा कि अब ऐसी गलती कभी मत करना जिससे तुम्हारे माता-पिता और परिजन परेशान हो।  इस पर किशोरी ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए भरोसा दिलाया कि वह अपने माता-पिता का साथ वह कभी नहीं छोड़ेगी और न ही वापस दिल्ली जाएगी। तुमला पुलिस ने किशोरी को बरामद करने के बाद बाल कल्याण परिषद को सौंपी, परिषद ने उसे उसके परिजनों को सौंप दिया है।
 
दो हजार रुपए में कर रही थी घरेलू नौकरानी का काम
 
किशोरी ने बताया कि वह प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से जिस घर में काम कर रही थी वहां दो हजार महीने में देने की बात कही गई थी। वह दो माह तक वहां काम कर रही थी। जब उसे अपने घर वालों की याद आई तब वह अपने पिता को उसे यहां से ले जाने के लिए फोन किया। उसके फोन आने के बाद उसके पिता ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। 
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
2 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment