राज्य विशेष

  • देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस
Home >> Bihar >> Bihar Rajya Vishesh
  • लड़कियों को फ्री एजुकेशन दे रहे रिटायर्ड प्रोफेसर, मिलती है वर्ल्ड क्लास एजुकेशन
    जगदीशपुर(भोजपुर). 1857 में जब देश में आजादी की जंग शुरू हुई तो इसका बीड़ा बिहार में जगदीशपुर के 80 साल के बाबू वीर कुंवर सिंह ने उठाया था। अब डेढ़ सौ साल बाद एक बार फिर जगदीशपुर से ही देश की लड़कियों को शिक्षित करने के प्रयास में जुटे हैं 55 साल से विदेश में रह रहे, 82 वर्ष के रिटायर्ड प्रोफेसर डॉ. सरस्वती प्रसाद सिंह। रोज दो घंटे स्काइप पर अपडेट लेते हैं सिंह... - कनाडा में रह रहे डॉ. सिंह ने जगदीशपुर के दलीपपुर में एक ऐसे स्कूल, शक्ति प्रसाद सिंह गर्ल्स हाई स्कूल की स्थापना की है जहां बेटियों को सभ्य,...
    February 27, 04:23 AM
  • चर्चा में है बिहार का ये गांव, कभी यहां आने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थी पुलिस
    कोइली-खुटहा (भागलपुर). भागलपुर के कोइली और खुटहा गांव की चर्चा कभी गैंगवार व आपराधिक घटनाओं को लेकर ही होती थी। इन दोनों गांवों की दहशत पूरे इलाके में थी। स्टॉपेज नहीं होने के बावजूद ट्रेन तब तक रुकी रहती थी, जब तक यहां के लोग इत्मीनान से ट्रेन में सवार नहीं हो जाते थे। पुलिस भी गांव में घुसने का साहस नहीं जुटा पाती थी। अब बदल चुकी है यहां की तस्वीर... - नई पीढ़ी के बच्चे अच्छे स्कूलों में पढ़ रहे हैं। पुरानी बातों को गांव वाले याद भी नहीं करना चाहते। - तमाम असुविधाओं और जद्दोजहद के बीच सकारात्मक...
    January 9, 06:42 AM
  • लंदन से पटना आई टीम, घर बैठे आप ऐसे प्रकाशपर्व के कर सकेंगे लाइव दर्शन
    पटना.गुरुगोविंद सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाशपर्व के लाइव दर्शन घर बैठे देश-विदेश के करीब 50 लाख श्रद्धालु करेंगे। पटना सिटी गुरुद्वारा, बाल लीला, गांधी मैदान टेंट सिटी, कंगन घाट और बाइपास टेंट सिटी सहित सभी जगहों का लाइव प्रसारण किया जाएगा। कार्यक्रमों के साथ-साथ लंगर में आने वाले श्रद्धालुओं को भी दिखाया जाएगा। इसके लिए लंदन से मीडिया की टीम पहुंची है। इस टीम में 15 लोग हैं। लाइव प्रसारण देखने के लिए यहां क्लिक करें... - यूके से प्रकाशोत्सव में आए सुखवीर सिंह ने बताया कि जो प्रकाशोत्सव में...
    December 29, 07:20 AM
  • कभी इस गांव में लगती थी नक्सलियों की अदालत, अब बहू लगा रही पाठशाला
    सासाराम.रोहतास के अंतिम गांव डुमरखोह की बहू प्रभा चेरो ने नक्सलियों के पिकनिक स्पॉट और जन अदालत के स्थान पर शिक्षा की अलख जगाना शुरू कर दिया है। परंतु जिला मुख्यालय सासाराम से तीस किलोमीटर दक्षिण स्थित कैमूर के जंगलो के किनारे स्थित गांव में प्रयास रंग ला रहा है। 15 अगस्त 2015 को समाजिक संस्था पहल की पहल से शुरू हुए पांचवी कक्षा तक के स्कूल के 15 छात्र अब छठवीं कक्षा में दूसरे मध्य विद्यालयों में नामांकन करा चुके हैं। डुमरखोह गांव की यह पाठशाला उसी पेड़ के नीचे लगती है। जहां कभी नक्सली जन अदालत...
    December 25, 11:03 PM
पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

* किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.