Home >> Blogs >> विविध

दिल नहीं, ज़रा दिमाग से सोचिए जनाब!

दिल नहीं, ज़रा दिमाग से सोचिए जनाब!

  लोग कितने भावुक और मूर्ख हैं। जिधर हवा चली, उधर हो लिए। मीडिया ने जो कहा वही मान लिए। कुंडा में गांव वालों ने डीएसपी की हत्या की, तो लोगों ने राजा भैया को दोषी ठहरा दिया। बिना यथास्थिति जाने हवाबाजी करने लगे। मीडिया ने भी अपना फैसला सुना दिया। हर तरफ एक ही...(730 days ago)

आम आदमी की यह अजब दास्तान

आम आदमी की यह अजब दास्तान

उस दिन भी रोज की तरह बगीचे में टहल रहा था। मन में अजब बेचैनी थी। तरह-तरह के ख्याल आ रहे थे। तभी मेरी नजर एक पकेआम पर पड़ी। आम को देखते ही जाने क्यों आम आदमी का ख्याल आ गया। भाषण, लेख, हिदायतों और नसीहतों के बीच बचपन से ही आम आदमी के बारे में सुनता आ रहा हूं। लगा कि भले बदलाव...(735 days ago)

आज मुझे अपने पुरुष होने पर शर्म आ रही है

दिल्‍ली में 23 साल की छात्रा से गैंगरेप ने समूचे समाज को हिलाकर रख दिया है। क्या इससे बर्बर भी कुछ हो सकता है? इस घटना के बाद पूरा शहर खौफ में है। यह आतंकी हमले से भी वीभत्स है, क्योंकि इससे न सिर्फ दिल्ली डरी-सहमी है बल्कि देश के लाखों नागरिक भी खौफ में हैं।  समाज में...(805 days ago)

सांपों की समझें अहमियत

सांप का नाम सुनते ही हमारे शरीर में झुरझुरी-सी दौड़ जाती है। मैंने अपनी जिंदगी में जान-बूझकर एक भी सांप नहीं मारा। हां, कभीकभार गलती से इन्हें कुचल जरूर दिया है। ऐसा ही एक हादसा शिवालिक पहाड़ी के इलाके में हुआ था, जहां पर कालका-अंबाला के रास्ते में एक विशाल किंग कोबरा...(840 days ago)

रोशनी के नगीने की उपासना

सूर्योदय का नजारा काफी हसीन होता है, जिसे देखकर हमें काफी सुकून मिलता है। सूरज को उगते हुए देखना वास्तव में बहुत शानदार अनुभव होता है। यह प्रभात की वह बेला होती है, जब आकाश में लालिमा छा जाती है और भोर का तारा अपनी पूरी आभा के साथ दमक रहा होता है। हम रोज उगते हुए सूरज का...(840 days ago)

विज्ञापन

Featured Bloggers

Popular Categories